अत्याधिक प्रभावी कोरोना वायरस एंटीबॉडी की खोज, वैक्सीन बनाने में आएगी तेजी

Spread the love


बर्लिन
कोरोना वायरस के खिलाफ जंग में जुटे वैज्ञानिकों को एक बड़ी कामयाबी हाथ लगी है। वैज्ञानिकों ने कोरोना वायरस के खिलाफ एक अत्याधिक प्रभावी एंटीबॉडी की खोज की है। इस एंटीबॉडी के जरिए वैज्ञानिक आने वाले दिनों में एक पैसिव वैक्सीन बना सकते हैं। पैसिव वैक्सीन में वैज्ञानिक पहले से एक्टिव एंटीबॉडीज को इंसानी शरीर में दाखिल कराते हैं, जबकि एक्टिव वैक्सीन मानव शरीर में खुद के जरिए एंटीबॉडीज का निर्माण करती है।

वैज्ञानिकों ने कृत्रिम रूप से विकसित की यह एंटीबॉडी
जर्मन सेंटर फॉर न्यूरोडीजेनेरेटिव डिसीज (DZNE) और चैरिटे – यूनिवर्सिट्समेडिज़िन बर्लिन के वैज्ञानिकों ने कोरोना वायरस से ठीक हुए लोगों के खून से लगभग 600 अलग-अलग एंटीबॉडी को निकाला है। लैब में टेस्ट के जरिए इन वैज्ञानिकों ने 600 एंटीबॉडीज में से कोरोना के खिलाफ एक्टिव कुछ एंटीबॉडीज की पहचान की। जिसके बाद से वैज्ञानिकों ने सेल कल्चर्स का प्रयोग कर इन एंटीबॉडीज का कृत्रिम रूप से निर्माण किया।

कोरोना के खिलाफ है असरदार
वैज्ञानिकों ने दावा किया है कि लैब में कृत्रिम रूप से बनाए गए ये न्यूट्रलाइजिंग एंटीबॉडी वायरस को बांध देते हैं। क्रिस्टलोग्राफिक विश्लेषण के जरिए वैज्ञानिकों ने बताया कि ये एंटीबॉडी मानव शरीर की कोशिकाओं में वायरस के प्रवेश करने और उनके विकसित होने की प्रक्रिया को रोक देता है। इसके अलावा एंटीबॉडी के जरिए वायरस को इम्यून सेल खत्म कर देता है।

हवा में कोरोना का पता लगा लेगी यह डिवाइस, रूसी वैज्ञानिकों ने किया दावा

चूहों पर हुए शोध में प्रभावी दिखी एंटीबॉडी
चूहों पर किए गए रिसर्च में यह एंडीबॉडी कोरोना वायरस के खिलाफ अतिसंवेदनशील साबित हुई है। इससे इनके उच्च प्रभावकारिता की भी पुष्टि होती है। इस अनुसंधान परियोजना के समन्यवयक जैकब क्रेये ने बताया कि चूहों को जब संक्रमण के बाद यह एंटीबॉडी दी गई तो उनमें कोरोना का हल्का प्रभाव दिखा, वहीं संक्रमण से पहले जिन चूहों को एंटीबॉडी दी गई वह बिलकुल स्वस्थ्य दिखे।


जर्नल सेल में प्रकाशित हुआ यह शोध
विज्ञान की प्रसिद्ध पत्रिका जर्नल सेल में प्रकाशित शोध से यह भी पता चला है कि कोरोना वायरस के खिलाफ यह एंटीबॉडी अतिसंवेदनशील होते हैं। बता दें कि चूहों के सेल्स मानव शरीर से मिलते जुलते हैं। इसलिए वैज्ञानिकों ने इस एंटीबॉडी को मानवों के ऊपर भी उतना ही प्रभावशाली माना है।

कोरोना की एक और वैक्‍सीन ने दी बड़ी गुड न्‍यूज, कब तक मिलेगी?



Source link

Previous Article
Next Article

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *