अब YouTube से चिढ़ा पाक, कहा- संस्कृति को नुकसान पहुंचाने वाले वीडियो हटाओ

Spread the love


इस्लामाबाद
पबजी को बैन करने के बाद 13 दिनों में यूटर्न ले चुकी इमरान सरकार ने अब यूट्यूब के खिलाफ मुहिम शुरू कर दी है। पाकिस्तानी अधिकारियों ने यूट्यूब से कहा है कि वे उन वीडियोज को तुरंत ब्लॉक कर दें जिन्हें आपत्तिजनक माना गया है। पाकिस्तान के कई धार्मिक और अतिवादी संगठन सरकार से मांग करते हुए कहा था कि यूट्यूब पर कई ऐसे वीडियो मौजूद हैं जिससे देश की सुरक्षा और इस्लामी संस्कृति को खतरा पैदा हो सकता है। जिसके बाद इमरान सरकार ने पत्र लिखकर इन विडियोज को बैन करने की मांग की है।

पाकिस्तान टेलिकम्युनिकेशन अथॉरिटी ने जारी किया बयान
पाकिस्तान टेलिकम्युनिकेशन अथॉरिटी ने एक बयान जारी कर कहा कि उसने यूट्यूब को पाकिस्तान में अश्लील, अनैतिक, नग्न और घृणास्पद विडियो कंटेंट को तुरंत ब्लॉक करने के लिए कहा है। पीटीए ने यह भी कहा कि इस तरह की सामग्री को देखने से अत्यंत नकारात्मक प्रभाव पड़ता है। यूट्यूब समेत दूसरे चैनलों के लिए पाकिस्तान में पहले से नियम-कानून तय हैं। यूट्यूब को पाकिस्तान में जिम्मेदारी दिखानी चाहिए।

यूट्यूब ने पाक सरकार को नहीं दिया जवाब
वहीं, गूगल के स्वामित्व वाली यूट्यूब ने पाकिस्तान सरकार के इस अनुरोध पर अभी तक कोई जवाब नहीं दिया है। पाकिस्तान टेलिकम्युनिकेशन अथॉरिटी ने यह नहीं बताया है कि अगर यूट्यूब पाकिस्तान सरकार के आदेश को मानने से इनकार कर देता है तो उसके खिलाफ किस तरह की कार्रवाई की जा सकती है।

पहले भी यूट्यूब पर बैन लगा चुका है पाक
यह पहली बार नहीं है जब पाकिस्तानी अधिकारियों ने यूट्यूब को निशाना बनाया है। 2012 में अमेरिका में बनी एक फिल्म के बाद पाकिस्तान में यूट्यूब पर रोक लगा दी गई थी। दावा किया गया था कि उस विडियो में पैगंबर मोहम्मद साहब को नकारात्मक रूप से दिखाया गया था। इस फिल्म को लेकर दुनियाभर के इस्लामी देशों में विरोध प्रदर्शन भी हुए थे। लेकिन, 2016 में जब यूट्यूब ने देश आधारिक यूट्यूब के विशेष एडिशन को लॉन्च किया था तब पाकिस्तान ने बैन हटाया था।

पाक ने 13 दिनों में ही पबजी से हटाया था बैन
पाकिस्तान में इमरान खान सरकार ने ऑनलाइन मल्टीप्लेयर गेम पबजी पर 17 जुलाई को लगाए गए प्रतिबंध को मात्र 13 दिनों के अंदर हटा दिया था। पाकिस्तान दूरसंचार प्राधिकरण (पीटीए) ने दावा किया था कि प्रॉक्सिमा बीटा (पीबी) कंपनी से इस गेमिंग प्लेटफॉर्म के दुरुपयोग को रोकने के आश्वासन के बाद PUBG से प्रतिबंध हटाया गया। पाक सरकार ने इस गेम को इस्लाम विरोधी बताते हुए बैन कर दिया था।

PUBG गेम पर पाकिस्तान का यू-टर्न, 13 दिनों में ही हटाया बैन

पहले भी गेम को बैन कर चुकी है पाक सरकार
पाकिस्तान सरकार ने 2013 में कॉल ऑफ ड्यूटी और मेडल ऑफ ऑनर को बैन कर दिया था। इन गेम्स को बैन किए जाने को लेकर सरकार ने तर्क दिया था कि इस गेम्स में पाकिस्तान को आतंकियों का ठिकाना दिखाया गया था। वहीं पाकिस्तानी खुफिया एजेंसी आईएसआई और अलकायदा सहित कई आतंकी संगठनों में संबंध भी दिखाया गया था।

राफेल से टक्‍कर, चीन ने लद्दाख के पास तैनात किए जे-20 फाइटर जेट



Source link

Previous Article
Next Article

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *