अयोध्या में मस्जिद निर्माण से पहले ट्रस्ट ने जारी किया लोगो, मिल रही हुमायूं मकबरे की झलक

Spread the love


हाइलाइट्स:

  • अयोध्या के धन्नीपुर में 5 एकड़ पर बनेगी मस्जिद, मस्जिद के साथ अस्पताल, धर्मशाला और अन्य जनसुविधाएं भी बनेंगी
  • ट्रस्ट की ओर से जारी किया गया लोगो, अब जल्द शुरू होगा मस्जिद का काम
  • ट्रस्ट के अधिकारियों ने मस्जिद निर्माण से पहले जमीन का किया निरीक्षण

अयोध्या
उत्तर प्रदेश के अयोध्या में बनने वाली मस्जिद का लोगो जारी कर दिया गया है। यह लोगो केंद्रीय सुन्नी वक्फ बोर्ड की ओर से गठित किए गए ट्रस्ट इंडो-इस्लामिक कल्चरल फाउंडेशन (आईआईसीएफ) ने जारी किया है। इस लोगो में दिल्ली के हुमायूं मकबरे की झलक दिख रही है। इस लोगो को जारी करते हुए ट्रस्ट ने कहा है कि मस्जिद के निर्माण कार्य, व्यवस्था या फिर किसी अन्य आधिकारिक काम के लिए यह लोगो प्रयोग होगा। यह आईआईसीएफ का आधिकारिक लोगो है।

ट्रस्ट की ओर से जारी किया गया यह लोगो बहुभुजी आकार का है। मस्जिद ट्रस्ट के सचिव अतहर हुसैन ने बताया कि लोगो इस्लामी प्रतीक रब-अल-हिज्ब है। अरबी में रब का मतलब होता है चौथाई है और हिज्ब का मतलब होता है एक समूह।

धन्नीपुर गांव में बन रही है मस्जिद
आपको बता दें कि सुप्रीम कोर्ट के आदेश के बाद मस्जिद निर्माण के लिए पांच एकड़ जमीन धन्नीपुर गांव में दी गई है। ट्रस्ट के लोगों ने जमीन का निरीक्षण कर लिया है। अब लोगो जारी किया गया है। ट्रस्ट के अधिकारियों ने कहा कि अब जल्द ही मस्जिद निर्माण शुरू कर दिया जाएगा।

यह होगा मस्जिद का नाम

सुन्नी सेंट्रल वक्फ बोर्ड की ओर से गठित इस्लामिक कल्चरल फाउंडेशन के सचिव अतहर हुसैन का कहना है, ‘मस्जिद के लिए 5 एकड़ जमीन अयोध्या के रौनाही कस्बे के धन्नीपुर में दी गई है। ऐसे में अब धन्नीपुर में ही मस्जिद का निर्माण होगा तो मस्जिद का नाम भी धन्नीपुर गांव के नाम पर ही होगा।’ उन्होंने बताया है कि पहले मस्जिद के नामों में अमन मस्जिद और सूफी मस्जिद पर भी विचार किया गया था लेकिन अब इस मस्जिद का नाम धन्नीपुर ही होगा।

3 महीने में शुरू होगा निर्माण

मस्जिद के निर्माण को लेकर यह जानकारी भी सामने आई है कि जल्द ही निर्माण कार्य शुरू करने के लिए 2 बैंक खाते भी खोले जाएंगे। इसके जरिए मस्जिद निर्माण के लिए चंदे की राशि जुटाई जाएगी। इनमें से एक खाता मस्जिद निर्माण के लिए होगा जबकि दूसरे खाते में आए पैसे से मस्जिद के आसपास बनने वाले अस्पताल, सामुदायिक रसोईघर और शैक्षणिक केंद्र बनाया जाएगा। बोर्ड का कहना है कि मेड़बंदी का काम शुरू कर दिया गया है और आने वाले 3 महीनों में मस्जिद निर्माण कार्य शुरू हो जाएगा।



Source link

Previous Article
Next Article

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *