असम-मिजोरम सीमा पर हिंसक झड़प में कई लोग जख्मी, केंद्रीय गृह सचिव ने सोमवार को बुलाई बैठक

Spread the love


हाइलाइट्स:

  • असम और मिजोरम के लोगों के बीच हुई हिंसक झड़प, दोनों राज्यों की सीमा पर तनाव की स्थिति
  • आइजोल पुलिस ने बताया कि घंटों तक चली हिंसक झड़प में मिजोरम के चार लोगों समेत कई लोग घायल
  • हिंसक झड़प के मद्देनजर केंद्रीय गृह सचिव अजय भल्ला मिजोरम और असम के मुख्य सचिवों के साथ करेंगे बैठक

आइजोल/सिलचर
असम और मिजोरम के लोगों के बीच हिंसक झड़प हुई है। इसमें कई लोगों के घायल होने के बाद दोनों राज्यों की सीमा पर तनाव की स्थिति बन गई है। आइजोल के पुलिस अधिकारी ने बताया कि घंटों तक चली हिंसक झड़प में मिजोरम के चार लोगों समेत कई लोग घायल हो गए। अब इलाके में स्थिति नियंत्रण में है। जो कि मिजोरम के कोलासिब और असम के कछार जिले में है। उधर, मिजोरम के गृह मंत्री ने कहा कि राज्यीय सीमा पर हुई हिंसक झड़प के मद्देनजर केंद्रीय गृह सचिव अजय भल्ला सोमवार को मिजोरम और असम के मुख्य सचिवों के साथ बैठक की अध्यक्षता करेंगे।

पुलिस अधिकारी ने कहा कि मिजोरम सरकार ने हिंसा प्रभावित क्षेत्रों में भारतीय रिजर्व वाहिनी को तैनात किया है, जो कि मिजोरम के वैरेंगते गांव के पास और असम के लैलापुर अंतर्गत आते हैं। मिजोरम के कोलासिब जिले का वैरेंगते गांव राज्य का उत्तरी हिस्सा है, जिससे गुजरता राष्ट्रीय राजमार्ग-306 असम को इस राज्य से जोड़ता है। वहीं, असम के कछार जिले का लैलापुर इसका सबसे करीबी गांव है।

ऐसे हुई हिंसक झड़प
कोलासिब जिले के डीसीपी एच लल्थलंगलियाना ने कहा कि शनिवार शाम को लाठी-डंडे लिए असम के कुछ लोगों ने सीमावर्ती गांव के बाहरी क्षेत्र में स्थित ऑटो रिक्शा स्टैंड के पास कथित तौर पर एक समूह पर पथराव किया। इसके बाद वैरेंगते गांव के रहने वाले लोग भारी संख्या में जमा हो गए। उन्होंने कहा कि इलाके में लागू निषेधाज्ञा के बावजूद वैरेंगते गांव की गुस्साई भीड़ ने राष्ट्रीय राजमार्ग पर करीब 20 अस्थायी झोपड़ियों और दुकानों को आग लगा दी, जो कि लैलापुर गांव के लोगों की थीं।

मिजोरम के चार लोग जख्मी
डीसीपी ने कहा कि घंटों तक चली इस हिंसक झड़प में मिजोरम के चार लोगों समेत कई लोग घायल हो गए। उन्होंने कहा कि झड़प में घायल एक व्यक्ति को कोलासिब जिला अस्पताल में भर्ती कराया गया है, जिसके में गगर्दन में गहरा घाव होने के कारण उसकी हालत नाजुक बनी हुई है। वहीं, तीन लोगों का इलाज वैरेंगते गांव के जनस्वास्थ्य केंद्र में किया गया।

असम के वन मंत्री बोले- हर साल होती हैं इस तरह की घटनाएं
पुलिस ने कहा कि एक घायल को असम के सिलचर मेडिकल कॉलेज और अस्पताल में भर्ती कराया गया है। इस बीच असम के वन मंत्री और स्थानीय विधायक परिमल शुक्ला बैद्य ने बताया कि क्षेत्र में इस तरह की घटनाएं लगभग हर साल होती हैं क्योंकि दोनों ही तरफ के लोग अवैध तरीके से पेड़ काटते हैं। उन्होंने कहा कि मैं इस मामले को देखूंगा।

असम और मिजोरम के सीएम ने की आपस में बात
उधर, असम के मुख्यमंत्री सर्बानंद सोनोवाल ने मिजोरम के मुख्यमंत्री जोरमथंगा से अंतर-राज्यीय सीमा पर हुई हिंसक झड़प को लेकर बात की। इस दौरान दोनों ने मौजूदा स्थिति से प्रधानमंत्री कार्यालय और गृह मंत्रालय को भी अवगत कराया गया।



Source link

Previous Article
Next Article

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *