‘आइटम’ वाले बयान कमलनाथ पर राहुल बरसे, ‘मुझे ऐसी भाषा कतई पसंद नहीं’, कमलनाथ ने कहा- ‘यह राहुल की अपनी सोच’

Spread the love


हाइलाइट्स:

  • मध्य प्रदेश के पूर्व सीएम कमलनाथ के बीजेपी नेता इमरती देवी को लेकर अपमानजनक शब्द बोलने का मामला गर्माया
  • राहुल गांधी ने भी कमलनाथ की आलोचना की, राहुल ने कहा कि जिस तरह की भाषा का इस्तेमाल किया गया, उन्हें पसंद नहीं
  • राहुल ने कहा कि सामान्य तौर पर, मुझे लगता देश में महिलाओं के प्रति हर स्तर पर हमारे व्यवहार को सुधार की जरूरत है

वायनाड/भोपाल
लगता है मध्य प्रदेश के पूर्व मुख्यमंत्री कमलनाथ ने अपने ‘आइटम’ बयान को प्रतिष्ठा का विषय बना लिया है। शायद यही कारण है कि उन्होंने पार्टी के शीर्ष नेता राहुल गांधी की नाराजगी को भी तवज्जो नहीं देकर ‘उनका अपना विचार’ बता दिया और पूरे मामले से फिर से पल्ला झाड़ने की कोशिश की। वायनाड से सांसद राहुल गांधी ने कमलनाथ के बयान की आलोचना करते हुए कहा कि जिस तरह की भाषा का इस्तेमाल कमलनाथ ने किया, वह उन्हें बिल्कुल पसंद नहीं है। राहुल ने इस वाकये को दुर्भाग्यपूर्ण बताया। वहीं कमलनाथ ने राहुल के बयान पर प्रतिक्रिया देते हुए कहा कि यह उनकी राय है और वह माफी नहीं मांगेंगे।

वायनाड में प्रेस कॉन्फ्रेंस के दौरान राहुल गांधी से जब कमलनाथ के आपत्तिजनक बयान पर प्रतिक्रिया मांगी गई तो उन्होंने कहा, ‘कमलनाथ मेरी पार्टी के हैं, लेकिन व्यक्तिगत रूप से, मुझे उस प्रकार की भाषा पसंद नहीं है जिसका उन्होंने इस्तेमाल किया। मैं इसकी सराहना नहीं करता, चाहे वह कोई भी हो। यह दुर्भाग्यपूर्ण है।’

‘महिलाओं के प्रति व्यवहार सुधारने की जरूरत’
राहुल गांधी ने आगे कहा, ‘सामान्य तौर पर, मुझे लगता देश में महिलाओं के प्रति हर स्तर पर हमारे व्यवहार को सुधार की जरूरत है। चाहे वह लॉ ऐंड ऑर्डर हो, बेसिक रेस्पेक्ट हो, सरकार, बिजनस या किसी दूसरी फील्ड उनके स्पेस को लेकर हो। हमारी महिलाएं हमारा गौरव हैं और उनकी रक्षा होनी चाहिए।’

कमलनाथ बोले- यह राहुल की अपनी राय
राहुल के बयान पर कमलनाथ की भी प्रतिक्रिया आ गई है। कमलनाथ ने कहा, ‘वह राहुल की राय है। उन्हें समझाया गया होगा कि किस संदर्भ में मैंने कहा था। मैंने तो साफ कर दिया कि मैंने किस संदर्भ में कहा था। इसमें और कहने की आवश्यकता नहीं है।’

कमलनाथ ने माफी मांगने से किया इनकार
वहीं माफी मांगने की बात पर कमलनाथ ने कहा, ‘मैं क्यों माफी मांगूगा? मैंने कह दिया कि मेरा लक्ष्य नहीं था कि किसी को अपमानित करने का। अगर कोई अपमानित महसूस कर रहा है तो मुझे खेद है।’ राहुल गांधी की नाराजगी पर कमलनाथ ने मीडिया से कहा, ‘आपको क्यों चिंता है।’

बीजेपी प्रत्याशी को कहा था ‘आइटम’
बता दें कि पूर्व मुख्यमंत्री कमलनाथ ने शिवराज सरकार में कैबिनेट मंत्री और डबरा उपचुनाव से बीजेपी प्रत्याशी इमरती देवी का नाम न लेते हुए उन्हें ‘आइटम’ कह डाला था। कमलनाथ के भाषण का यह विडियो सोशल मीडिया पर खूब वायरल हुआ। कमलनाथ की काफी आलोचना हुई। कमलनाथ ने अपने बयान पर सफाई भी दी। उन्होंने कहा कि उन्हें महिला नेता का नाम नहीं याद आ रहा था।

MP: ‘आइटम’ वाले बयान को लेकर कमलनाथ पर बरसे शिवराज

कमलनाथ की सफाई पर शिवराज का पलटवार
कमलनाथ की सफाई पर मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने पलटवार किया। शिवराज ने कहा, ‘अब भी आपको(कमलनाथ) इमरती देवी का नाम याद नहीं आया, 24 घंटे पूरे देश ने इमरती देवी को देखा। वो आपके मंत्रिमंडल की सदस्य रही हैं, सीधे-सीधे माफी क्यों नहीं मांगते? और ‘आइटम’ को जायज ठहरा रहे हैं। मैंने कल सोनिया गांधी जी को पत्र लिखा था उसका उत्तर मुझे नहीं मिला है।’

शिवराज ने आगे कहा, ‘ये अहंकार है, वो (कमलनाथ) अपने से श्रेष्ठ किसी को नहीं मानते हैं और इसी के कारण तो ये सरकार तबाह हुई क्योंकि इन्होंने प्रदेश को तबाह कर दिया था।’ कमलनाथ के बयान पर महिला आयोग ने भी कड़ी फटकार लगाई।

महिला आयोग ने पूछा- कमलनाथ कौन से आइटम थे
राष्ट्रीय महिला आयोग की अध्यक्ष रेखा शर्मा ने कमलनाथ के आइटम वाले बयान पर कहा, ‘यह बहुत ही गलत आचरण है और बाद में, उन्होंने कहा कि वह एक सूची से यह पढ़ रहे थे। मैं उनसे पूछना चाहती हूं, उसी सूची में उनका नाम कहां पर था? वह कौन से आइटम थे?’

महिला आयोग की अध्यक्ष ने कांग्रेस पार्टी से वरिष्ठ कांग्रेस नेता के खिलाफ सख्त कार्रवाई करने की मांग की है। उन्होंने कहा, ‘यह उनके (कमलनाथ) लिए शर्मनाक है। यह व्यक्ति के चरित्र को दर्शाता है। माफी मांगने की बजाय, वह एक बेकार स्पष्टीकरण दे रहे हैं। उनकी पार्टी को उनके खिलाफ सख्त कार्रवाई करनी चाहिए।’



Source link

Previous Article
Next Article

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *