इंसाफ की मांग या चुनाव की तैयारी? हाथरस पीड़िता के लिए डीएमके ने चेन्नै में निकाला कैंडल मार्च

Spread the love


चेन्नै
हाथरस (Hathras news) में कथित गैंगरेप और हत्या का मामला अब पूरी तरह राजनीतिक रंग ले चुका है। इसकी बानगी हाथरस और आसपास के क्षेत्रों में नेताओं की आमद से तो देखी ही जा सकती है। हाथरस से 2000 किलोमीटर दूर चेन्नै (Candle March in Chennai) तक में इसकी गूंज सुनाई दे रही है। सोमवार को डीएमके (DMK News) की महिला इकाई ने हाथरस पीड़िता के लिए न्याय की मांग करते हुए राजभवन की तरफ एक कैंडल मार्च निकाला। कनिमोई इस शाखा की प्रमुख हैं।

सोमवार को हाथरस की घटना के विरोध में चेन्नै की सड़कों पर डीएमके की महिला इकाई ने कैंडल मार्च निकाला। डीएमके सांसद कनिमोई इसका नेतृत्व कर रही थीं। हालांकि रास्ते में पुलिस ने कनिमोई समेत कई अन्य कार्यकर्ताओं को हिरासत में ले लिया। देखें वीडियो-

डीएमके चीफ स्टालिन बोले, दलितों की सुरक्षा पर यूपी में सवालिया निशान

डीएमके अध्यक्ष एम. के. स्टालिन ने आरोप लगाया कि अल्पसंख्यकों, महिलाओं और दलितों की सुरक्षा पर उत्तर प्रदेश में प्रश्नवाचक चिह्न लगा रहता है। उन्होंने कहा कि मीडिया को भी सुरक्षा की कमी महसूस हो रही है। केंद्र सरकार का काम है कि वह इस स्थिति से निपटे और सबकी सुरक्षा करे।

स्टालिन बोले, राहुल गांधी से माफी मांगे उत्तर प्रदेश सरकार

राहुल गांधी और प्रियंका गांधी को हाथरस जाने से रोके जाने पर स्टालिन ने कहा, ‘उत्तर प्रदेश सरकार को अपनी गलतियां सुधारनी चाहिए और महिला को न्याय मिल सके, यह सुनिश्चित करना चाहिए।’ स्टालिन ने कहा, ‘सरकार को सार्वजनिक तौर पर राहुल गांधी से माफी मांगनी चाहिए और केंद्र सरकार को इस संबंध में उत्तर प्रदेश सरकार को दिशानिर्देश जारी करने चाहिए।’

(भाषा से इनपुट्स के साथ)





Source link

Previous Article
Next Article

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *