ईरानी सेना का दावा, सैटलाइट से कंट्रोल किया जा रहा था परमाणु साइंटिस्ट की हत्या का हथियार

Spread the love


तेहरान
कुछ दिन पहले ईरान के परमाणु वैज्ञानिक मोहसिन फखरीजादेह की हत्या कर दी गई थी। अब इस्लामिक रेवलूशन गार्ड्स कॉर्प्स (IRGC) के प्रवक्ता ब्रिगेडियर जनरल रमजान शरीफ ने सनसनीखेज दावा किया है। शरीफ का कहना है कि मोहसिन की हत्या सैटलाइट से कंट्रोल किए गए हथियार से की गई थी। फखरीजादेह देश के परमाणु कार्यक्रम के पीछे सबसे बड़ी ताकत माने जाते थे।

कोई नहीं था मौजूद
इससे पहले यह दावा ईरान की अरबी स्टेट न्यूज एजेंसी अल-आलम ने भी किया था। रिपोर्ट्स के मुताबिक फखरीजादेह की हत्या रिमोट-कंट्रोल हथियार से की गई थी। यह उनसे 150 मीटर दूर खड़ी गाड़ी में लगा था। इस बात की पुष्टि बाद में की गई थी कि घटनास्थल पर कोई और शख्स मौजूद नहीं था। शरीफ ने कहा है कि हत्या को अडवांस्ड इलेक्ट्रॉनिक इक्विपमेंट से अंजाम दिया गया जिसे सैटलाइट से कंट्रोल किया जा रहा था।


दी बदले की धमकी
तेहरान ने फखरीजादेह की हत्या का आरोप इजरायल पर लगाया था। यह दावा किया गया है कि इजरायल की जासूसी एजेंसी मोसाद ने घटना को अंजाम दिया था। इसके बाद इजरायल से बदले की खुली चेतावनी भी दी गई। कुछ ईरानी अधिकारियों ने इसमें अमेरिका और सऊदी अरब के मिले होने का दावा भी किया है।


कट्टर है दुश्मनी
1979 में ईरानी क्रांति के बाद से इजरायल को खत्म करने की मांग उठती रही है। दरअसल, ईरान को इजरायल के अस्तित्व पर ही आपत्ति है। उसके कट्टर धार्मिक नेताओं का कहना है कि इजरायल ने गलत तरीके से मुस्लिम जमीन पर कब्जा किया है। इसी कारण से इजरायल भी ईरान को अपने लिए संकट मानता है। उसने हमेशा ईरान के परमाणु हथियारों से लैस होने का विरोध किया है। उसके नेताओं के लिए ईरान का मध्यपूर्व में विस्तार चिंता का कारण रहा है।
(Source: Sputnik)



Source link

Previous Article
Next Article

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *