ईरान: सुपुर्द-ए-खाक मोहसिन फखरीजादेह, रिमोट-कंट्रोल्ड मशीनगन से की गई परमाणु वैज्ञानिक की हत्या?

Spread the love


ईरान के न्यूक्लियर प्रोग्राम के चीफ साइंटिस्ट मोहसिन फखरीजादेह की तेहरान के पास हत्या कर दी गई। इसके बाद ईरान आक्रोशित हो उठा है और अपने टॉप लीडर की मौत के गम में डूब गया है। उन्हें समर्थकों के भारी जमावड़े के बीच अंतिम विदाई दी गई और नेताओं ने उनकी हत्या का बदला लेने की प्रतिज्ञा की। वहीं, रिपोर्ट्स में दावा किया जा रहा है कि फखरीजादेह के ऊपर रिमोट से कंट्रोल की जा रही मशीनगन से गोलियां बरसाई गई थीं और फिर हमला करने वाली गाड़ी में धमाका हो गया। ईरान ने हमले का आरोप सीधे इजरायल पर मढ़ा है जबकि इजरायल ने अब तक घटना पर चुप्पी साध रखी है।

सुपुर्द-ए-खास मोहसिन

ईरानी टीवी चैनल ‘स्टेट टीवी’ पर सोमवार को इसका प्रसारण किया गया जिसमें फखरीजादेह का ताबूत दिख रहा था। राजधानी तेहरान में रक्षा मंत्रालय के बाहरी इलाके में उनका ताबूत को मंच पर रखा गया। वहां कुरान की आयतें पढ़ी गईं। सुपुर्द-ए-खाक से पहले आयोजित कार्यक्रम में रक्षामंत्री जनरल अमीर हातमी और कई सैन्य अधिकारी नजर आए, जो कोरोना वायरस महामारी की वजह से एक-दूसरे से दूरी बना कर मास्क पहनकर बैठे थे।

‘दुश्मन ने की है गलती’

ईरान के रक्षामंत्री आमिर हतामी ने इस दौरान एक बार फिर चेतावनी दी कि फखरीजादेह की हत्या का बदला जरूर लिया जाएगा। रक्षामंत्री जनरल आमिर ने कहा, ‘दुश्मन को पता है कि वह अपराध करने के बाद बिना ईरानी लोगों से प्रतिक्रिया लिए बच नहीं सकेगा। शहीद का खून को हमेशा याद रखा जाएगा और दुश्मन ने हत्या करके गलती की है।’ उन्होंने यह भी कहा कि साइंटिस्ट की हत्या से ईरान के परमाणु प्रोग्राम को रोका नहीं जा सकेगा बल्कि वह और तेज होगा और प्रतिक्रिया जरूर दी जाएगी। उन्होंने कहा कि फखरीजादेह की हत्या से ईरानी और ज्यादा एकजुट और दृढ़ हो जाएंगे। यही नहीं, आमिर ने उन देशों को भी आड़े हाथों लिया जिन्होंने फखरीजादेह की हत्या की निंदा नहीं की थी।

कैसे हुआ था हमला?

वहीं, CNN ने फार न्यूज एजेंसी के हवाले से दावा किया है कि फखरीजादेह की हत्या एक रिमोट-कंट्रोल्ड मशीन गन से की गई। इसमें दावा किया गया है कि दूसरी कार से चलाई जा रही बंदूक से फखरीजादेह पर हमला किया गया। रिपोर्ट के मुताबिक फखरीजादेह अपनी पत्नि के साथ बुलेटप्रूफ कार में तीन सुरक्षा वाहनों के साथ जा रहे थे, जब उन्हें गोली चलने की आवाज सुनाई दी।

..फिर बरसीं गोलियां

गोली की आवाज सुनकर वह जैसे ही गाड़ी से बाहर निकले करीब 150 मीटर दूर खड़ी गाड़ी से रिमोट-कंट्रोल्ड मशीनगन ने ओपन फायर कर दिया। फखरीजादेह को तीन गोलियां लगीं। फायरिंग के बाद उस गाड़ी में भी ब्लास्ट हो गया। हालांकि, ईरानी स्टेट टीवी ने दावा किया है कि पहले धमाका हुआ था और फिर गोलियां चलीं जिन्होंने फखरीजादेह को निशाना बनाया।



Source link

Previous Article
Next Article

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *