कगंना के निशाने पर फिर आई महाराष्ट्र सरकार, मंदिरों को बंद रखने पर की ‘बाबर सेना’ से तुलना

Spread the love


अपने बेबाक बयानों के लिए मशहूर बॉलिवुड ऐक्ट्रेस कंगना रनौत एक बार फिर महाराष्ट्र सरकार पर निशाना साधने को लेकर सुर्खियों में हैं। कगंना रनौत ने महाराष्ट्र सरकार की तुलना बाबर सेना से कर दी है। दरअसल, के राज्यपाल भगत सिंह कोश्‍यारी ने भी बंद पड़े धर्मस्‍थलों को खुलवाने को लेकर सीएम उद्धव ठाकरे को चिट्ठी लिखी है। चिट्ठी पर उद्धव ठाकरे ने जो जवाब दिया, उसको लेकर कगंना रनौत ने उन्हें आड़े हाथ लिया है।

बीजेपी कार्यकर्ताओं के सिद्ध विनायक मंदिर के सामने प्रदर्शन के बाद राज्‍यपाल भगत सिंह कोश्‍यारी ने भी बंद पड़े धर्मस्‍थलों को खुलवाने को लेकर सीएम उद्धव ठाकरे को चिट्ठी लिखी है। इसके साथ ही साथ ही राज्‍यपाल ने तंज कसते हुए पूछा है कि क्‍या उद्धव को ईश्‍वर की ओर से कोई चेतावनी मिली है कि धर्मस्‍थलों को दोबारा खोले जाने को टालते रहा जाए या फिर वह सेक्‍युलर हो गए हैं। इस पर सीएम उद्धव ठाकरे ने जवाब देते कहा है कि जिस तरह से एकदम से लॉकडाउन लगाना उचित नहीं था, उसी तरह से उसे पूरी तरह से समाप्‍त करना भी ठीक नहीं है।

वहीं, राज्यपाल की चिट्ठी और सीएम के उस पर जवाब के बाद कंगना रनौत ऐक्टिव हो गईं। उन्होंने ट्वीट करते हुए लिखा, ‘यह जानकर अच्छा लगा कि माननीय गवर्नर महोदय द्वारा गुंडा सरकार से पूछताछ की जा रही है, गुंडों ने बार और रेस्तरां खोले हैं लेकिन रणनीतिक रूप से मंदिरों को बंद रखा है। सोनिया सेना, बाबर सेना से भी बदतर व्यवहार कर रही है।’

हाल में जूलरी बनाने वाले ब्रैंड तनिष्क ने एक नया विज्ञापन रिलीज किया था। इस विज्ञापन पर काफी विवाद हो रहा है। कंगना रनौत ने भी इस विज्ञापन पर अपनी कड़ी प्रतिक्रिया दी है। उन्होंने कहा कि यह विज्ञापन केवल लव जिहाद को ही नहीं बल्कि लिंगभेद को भी बढ़ावा देता है। बता दें कि सोशल मीडिया पर लगातार इस विज्ञापन की आलोचना होने के बाद तनिष्क कंपनी ने इस विज्ञापन को वापस ले लिया है।



Source link

Previous Article
Next Article

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *