कनाडा में 12 साल के बच्‍चे हाथ लगा 7 करोड़ साल पुराना अनमोल ‘खजाना’

Spread the love


हाइलाइट्स:

  • कनाडा में एक 12 साल के बच्‍चे के हाथ करीब 7 करोड़ साल पुराना बेहद अनमोल ‘खजाना’ हाथ लगा है
  • कनाडा का रहने वाला 12 साल का नाथन ह्रस्किन पिता के साथ गर्मियों की छुट्टी में पैदल यात्रा पर निकला था
  • इसी दौरान उसने हॉर्सशू केनयॉन में 6 करोड़ 90 लाख साल पुराने डायनासोर का अवशेष ढूढ़ निकाला

ओटावा
कनाडा में एक 12 साल के बच्‍चे के हाथ करीब 7 करोड़ साल पुराना बेहद अनमोल ‘खजाना’ हाथ लगा है। दरअसल, कनाडा का रहने वाला 12 साल का नाथन ह्रस्किन अपने पिता के साथ गर्मियों की छुट्टी में पैदल यात्रा पर निकला था। इसी दौरान उसने 6 करोड़ 90 लाख साल पुराने डायनासोर का अवशेष ढूढ़ निकाला। नाथन बड़ा होकर जीवाश्‍म विज्ञानी बनना चाह रहा था लेकिन उसकी यह इच्‍छा 12 साल की उम्र में ही पूरी हो गई।

सीएनएन की रिपोर्ट के मुताबिक नाथन और उनके पिता डियान संरक्षण स्‍थल हॉर्सशू केनयॉन गए थे जो कनाडा के अल्‍बार्टा में है। इसी दौरान नाथन ह्रस्किन ने आंशिक रूप से बाहर निकले डायनासोर के जीवाश्‍म को देखा। नाथन ने कहा, ‘यह बहुत ही रोचक खोज है। यह एक असली डायनासोर खोजने के जैसे है। इसे खोज निकालना मेरा सपना था।’ विशेषज्ञों का कहना है कि नाथन की यह खोज बेहद अहम है।


यात्रा में नाथन और उनके पिता को हड्डियां मिली
नाथन अभी अपने स्‍कूल में पढ़ाई कर रहे हैं। उन्‍होंने ज‍िस डायनासोर की पहचान की है, वह हैड्रोसॉरस प्रजाति का है जो 6 करोड़ 90 लाख साल पहले पृथ्‍वी पर पाया जाता था। इससे पहले की यात्रा में नाथन और उनके पिता को हड्डियां मिली थीं। डियॉन ने बताया कि यात्रा के दौरान हमने खाना खाया और उसके बाद नाथन आसपास का नजारा देखने के लिए एक पहाड़ी पर चढ़ गया। वहीं पर उसे यह जीवाश्‍म दिखा।

नाथन ने बताया कि जीवाश्‍म बहुत स्‍वाभाविक नजर आ रहा था और यह कुछ उसी तरह से था जैसे टीवी शो में दिखाते हैं। उन्‍होंने इस जीवाश्‍म की तस्‍वीर को रॉयल ट्रेयल म्‍यूजियम को भेजा जिसने इसकी जीवाश्‍म के रूप में पहचान की। म्‍यूजियम ने अपनी एक टीम वहां पर भेजी। हैड्रोसॉरस प्रजाति के डायनासोर अक्‍सर इस इलाके में मिलते रहते हैं।



Source link

Previous Article
Next Article

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *