कपिल सिब्‍बल के ट्वीट पर आ गया राहुल गांधी का फोन, डिलीट करने के बाद दी सफाई

Spread the love


नई दिल्‍ली
कांग्रेस में नेतृत्‍व को लेकर मचा घमासान बढ़ता ही जा रहा है। सोमवार को जब कांग्रेस कार्यसमिति की बैठक से खबरें छनकर आनी शुरू हुईं तो पार्टी के भीतर दरार का दायरा बढ़ता चला गया। 23 वरिष्‍ठ कांग्रेसियों ने जिस चिट्ठी में कांग्रेस अध्‍यक्ष सोनिया गांधी से नेतृत्‍व में बदलाव की गुजारिश की थी, राहुल गांधी ने उन्‍हें ‘बीजेपी से मिला हुआ’ बता दिया। इसके बाद उनमें से एक, कपिल सिब्‍बल फट पड़े। उन्‍होंने तीखे लहजे में ट्वीट किया कि पिछले 30 साल में एक बार भी बीजेपी के पक्ष में बयान नहीं दिया, इसके बाद भी ‘हम बीजेपी से मिलीभगत कर रहे हैं।’ बाद में सिब्‍बल ने यह ट्वीट डिलीट कर दिया। उन्‍होंने कहा क‍ि राहुल ने खुद उन्‍हें बताया कि उन्‍होंने ऐसा नहीं कहा है। इस बीच, सूत्रों के हवाले ऐसी भी खबरें हैं कि बैठक में इतना ज्यादा गर्मागरमी हुई कि पार्टी के कुछ वरिष्ठ नेता बैठक छोड़कर भी चले गए।

CWC में राहुल गांधी ने क्‍या कहा?
चिट्ठी लिखने वालों के प्रति पूर्व कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी के तेवर खासे तीखे थे। उन्‍होंने टाइमिंग पर सवाल उठाते हुए पूछा, ‘सोनिया गांधी के अस्पताल में भर्ती होने के समय ही पार्टी नेतृत्व को लेकर पत्र क्यों भेजा गया था?’ उन्‍होंने कहा कि ‘पार्टी नेतृत्व के बारे में सोनिया गांधी को पत्र उस समय लिखा गया था जब राजस्थान में कांग्रेस सरकार संकट का सामना कर रही थी। पत्र में जो लिखा गया था उस पर चर्चा करने का सही स्थान सीडब्ल्यूसी की बैठक है, मीडिया नहीं।’ उन्‍होंने आरोप लगाया कि यह पत्र बीजेपी के साथ मिलीभगत में लिखा गया।


सिब्‍बल ने बेहद गुस्‍से में किया ट्वीट
कपिल सिब्‍बल ने राहुल के इस आरोप को पढ़ने के बाद बेहद तीखी प्रतिक्रिया दी। उन्‍होंने अपने ट्विटर बायो से कांग्रेस हटा लिया। एक ट्वीट में सिब्‍बल ने कहा, “राजस्‍थान हाई कोर्ट में कांग्रेस पार्टी को सफलतापूर्वक डिफेंड किया। मणिपुर में बीजेपी सरकार गिराने में पार्टी का बचाव किया। पिछले 30 साल में किसी मुद्दे पर बीजेपी के पक्ष में कोई बयान नहीं दिया। लेकिन फिर भी हम ‘बीजेपी के साथ मिलीभगत कर रहे हैं।'” हालांकि बाद में सिब्‍बल ने यह ट्वीट डिलीट कर दिया। उन्‍होंने कहा कि राहुल गांधी ने उन्‍हें खुद बताया है कि ऐसा उन्‍होंने कभी नहीं कहा।

Sibal-old

कपिल सिब्‍बल का डिलीटेड ट्वीट।

Sibal-bio.

बायो से कांग्रेस हटाया

कांग्रेस में मचे घमासान की ताजा अपडेट्स के लिए क्लिक करें

कार्यसमिति की बैठक में मचा घमासान
वीडियो कॉन्‍फ्रेंसिंग के जरिए हो रही कांग्रेस कार्यसमिति (CWC) की बैठक बेहद तनावपूर्ण हो गई। केवल 23 वरिष्‍ठ कांग्रेसियों की नेतृत्‍व में परिवर्तन को लेकर सोनिया गांधी को लिखी चिट्ठी का मामला गूंजा। सोनिया ने चिट्ठी को वजह बताते हुए इस्‍तीफे की पेशकश की। सोनिया गांधी ने अन्य नेताओं से नया पार्टी अध्यक्ष चुनने की प्रक्रिया शुरू करने के लिए कहा। फिर मनमोहन सिंह और एके एंटनी ने हस्‍तक्षेप किया। राहुल गांधी की बारी आते-आते माहौल गर्मा चुका था। राहुल ने इन 23 नेताओं के बीजेपी संग मिलकर चिट्ठी लिखने का आरोप लगाया जिससे बात और बिगड़ गई। मीटिंग से इतर भी कांग्रेस के दो धड़े बन गए हैं। एक वो जो सोनिया गांधी के नेतृत्‍व में ही बने रहना चाहता है, दूसरा जो नेतृत्‍व परिवर्तन चाह रहा है।

बैठक छोड़कर निकले 3-4 नेता
बैठक में माहौल इतना ज्यादा गर्मा चुका था कि राहुल के बयान के बाद कई वरिष्ठ नेताओं ने इसका विरोध किया और नाराजगी भी जताई। सूत्रों के अनुसार 3-4 वरिष्ठ नेता तो बैठक छोड़कर भी चले गए। हालांकि यह साफ नहीं हो पाया है कि कौन नेता पार्टी छोड़कर गया है।

Kapil-Sibal-Rahul-Gandhi

राहुल गांधी की बात पर भड़के थे सिब्‍बल।



Source link

Previous Article
Next Article

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *