किम जोंग उन ने कोरोना नियमों को तोड़ने पर दी तालिबानी सजा, आरोपी को गोलियों से उड़वाया

Spread the love


उत्तर कोरिया के तानाशाह किम जोंग उन की सनक लगातार बढ़ती जा रही है। उन्होंने देश में कोरोना के संक्रमण को रोकने के लिए कड़े प्रतिबंध लगाए हुए हैं। हाल में ही इन प्रतिबंधों को तोड़ने के आरोप में उन्होंने एक व्यक्ति को सार्वजनिक रूप से फायरिंग स्कॉड के जरिए गोली मरवा दिया। इतना ही नहीं, उन्होंने अपने नागरिकों को डराने के लिए चीन बॉर्डर पर एंटी एयरक्राफ्ट गनों को भी तैनात कर रखा है। जिन्हें सीमा से 0.6 मील के भीतर मिलने वाले किसी भी व्यक्ति को तत्काल गोली मारने के आदेश भी मिला हुआ है।

कोरोना नियमों को तोड़ने पर फायरिंग स्कॉड ने उड़ाया

रेडियो फ्री एशिया के हवाले से डेली मेल ने लिखा है कि कोरोना नियमों को लेकर लोगों को डराने के लिए 28 नवंबर को उनके आदेश पर उत्तर कोरिया की सेना ने एक व्यक्ति को सार्वजनिक रूप से गोली मार दी। आरोपी मृतक कोरोना प्रतिबंधों को तोड़ते हुए चीन से सामान की तस्करी करते हुए पकड़ा गया था। बता दें कि उत्तर कोरिया ने अपनी सीमा को मार्च महीने से ही आधिकारिक रूप से बंद करके रखा हुआ है।

लोगों को धमकाने के लिए सबके सामने करवाई हत्या

सूत्रों के अनुसार, उत्तर कोरियाई प्रशासन ने सीमा क्षेत्र के निवासियों को धमकाने के लिए आरोपी को सार्वजनिक रूप से गोली मारी। जिससे लोगों के मन मे दहशत कायम रहे। किम जोंग उन को शक है कि चीन की सीमा पर बसे लोग सीमा पार के लोगों के ज्यादा संपर्क में हैं। सीमा पर कई लोग ऐसे भी हैं जो चीन से तस्करी के काम में लिप्त हैं। ऐसे में उत्तर कोरिया को डर है कि इन लोगों के जरिए देश में कोरोना वायरस का प्रसार हो सकता है।

चीनी पार्टनर के साथ तस्करी करता था मृतक

मृतक आदमी की उम्र 50 साल के आसपास बताई जा रही है। वह अपने चीनी पार्टनर के साथ कई महीनों से सीमा पार तस्करी के काम में लिप्त था। हाल के दिनों में उत्तर कोरिया के बार्डर गार्ड्स पर भी तस्करी में शामिल होने के आरोप लगे हैं। जिसके बाद से किम जोंग ने अपनी सेना की विशेष टुकड़ियों को बार्डर इलाके में तैनात किया हुआ है। जो क्रास बॉर्डर तस्करी के साथ सीमा पर तैनात बार्डर गार्ड्स पर भी नजर रखेंगे।

उत्तर कोरिया में एक भी कोरोना संक्रमण नहीं होने का दावा

उत्तर कोरिया ने आधिकारिक तौर पर दावा किया है कि उसके देश में आज तक एक भी कोरोना वायरस का मामला नहीं आया है। लेकिन, उसके इस दावे पर दुनिया के अधिकतर देशों को शक है। विशेषज्ञों का भी कहना है कि उत्तर कोरिया में कड़े सेंसरशिप के कारण सही सूचना का बाहर निकलना असंभव है। ऐसे में सरकार के दावे की पुष्टि नहीं की जा सकती है।

उत्तर कोरिया से चीन भाग रहे लोग

कोरोना वायरस का संक्रमण शुरू होने के बाद से ही किम जोंग उन ने अपने देश की सीमा को अनिश्चितकाल के लिए बंद कर रखा है। बॉर्डर पर सख्ती इतनी है कि चीन से होने वाले व्यापार को भी पूरी तरह से बंद कर दिया गया है। इस कारण उत्तर कोरिया में रोजमर्रा के सामानों की किल्लत हो गई है। किम जोंग की सनक से परेशान उत्तर कोरिया के लोग इसी कारण देश छोड़कर चीन जाने में ही भलाई समझ रहे हैं।

लोगों को रोकने के लिए एंटी एयरक्राफ्ट गन की हुई तैनाती

हर महीनें बड़ी संख्या में उत्तर कोरिया के नागरिक चोरी-छिपे देश छोड़कर चीन जा रहे हैं। इसी कारण किम जोंग उन की परेशानी बढ़ गई है। लोगों के इस तरह बाहर जाने से नाराज उत्तर कोरिया के तानाशाह ने अब बॉर्डर पर एंटी एयरक्राफ्ट गनों को तैनात किया है। ये गन लंबी दूरी तक लोगों के ऊपर सटीक निशाना लगा सकते हैं। इनका वार इतना घातक होता है कि कोई भी बैलिस्टिक शील्ड या बॉडी आर्मर इनकी गोलियों को रोक नहीं सकता है।



Source link

Previous Article
Next Article

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *