कोरोना के ऐक्टिव मामलों की संख्‍या 8 लाख से कम हुई, डेढ़ महीने में पहली बार

Spread the love


हाइलाइट्स:

  • पिछले 24 घंटों में सामने आए 62 हजार से ज्‍यादा नए मामले, 837 मरीजों की मौत
  • टोटल केसेज की संख्‍या 74 लाख के पार, मौतों का आंकड़ा भी 1.12 लाख से ज्‍यादा
  • केसेज डबल होने में अब लग रहे 70 से ज्‍यादा दिन, रिकवरी रेट 87 पर्सेंट के पार
  • देश में कोरोना से मृत्‍यु-दर 1.52 पर्सेंट, महाराष्‍ट्र में 15.76 लाख से ज्‍यादा मामले

नई दिल्‍ली
देश में कोविड-19 के सक्रिय मामलों की संख्‍या 8 लाख से कम हो गई है। ताजा आंकड़ों के अनुसार, भारत में 7,95,087 सक्रिय मामले हैं। डेढ़ महीने में यह पहली बार है जब ऐक्टिव केस 8 लाख से कम हैं। केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्रालय के आंकड़ों के मुताबिक, पिछले 24 घंटों में 62,211 नए मामले और 837 मौतें दर्ज हुई हैं। इसके साथ ही देश में कोरोना के कुल मामलों की संख्या बढ़कर 74,32,680 हो गई है। शुक्रवार के 63,371 मामलों और 895 मौतों की संख्या की तुलना में शनिवार को ग्राफ नीचे आया। इसके अलावा भारत में मामलों की संख्या दोगुनी होने का समय भी तेजी से बढ़कर 70.4 दिन हो गया है। यह रोजाना सामने आने वाले नए मामलों की संख्या में गिरावट को दर्शाता है।

रिकवरी रेट 88 पर्सेंट के करीब
शनिवार को स्वास्थ्य मंत्रालय ने कहा कि अब तक कुल 65,24,595 लोगों को छुट्टी दी जा चुकी है। वहीं कुल 1,12,998 लोग महामारी से जंग हार गए हैं। देश में अब रिकवरी दर 87.78 प्रतिशत है और मृत्यु दर 1.52 प्रतिशत है। देश में सबसे अधिक प्रभावित राज्य महाराष्ट्र में कुल 15,76,062 मामले हैं और 41,502 मौतें दर्ज हो चुकी हैं। इसके बाद आंध्र प्रदेश, तमिलनाडु, कर्नाटक, उत्तर प्रदेश और दिल्ली का स्थान है।

इंडियन काउंसिल ऑफ मेडिकल रिसर्च (ICMR) के आंकड़ों के मुताबिक, देश में शुक्रवार को 9,99,090 नमूनों की जांच की गई। जिसके साथ ही अब तक कुल 9,32,54,017 नूमनों की जांच हो चुकी है।


मृत्‍यु-दर मार्च के बाद सबसे कम
स्‍वास्‍थ्य मंत्रालय ने शुक्रवार को कहा था कि भारत में प्रति दस लाख आबादी में कोविड-19 से मौत के 81 मामले सामने आ रहे हैं। मंत्रालय ने कहा कि भारत दुनिया में सबसे कम मृत्यु दर वाले देशों में शामिल है। MoHFW के अनुसार, 4 अक्टूबर से रोजाना संक्रमण से मौत के मामले 1,000 से कम दर्ज किए गए हैं, वहीं शुक्रवार को मृत्यु दर 1.52 प्रतिशत रही जो 22 मार्च के बाद से सबसे कम है। देश के 13 राज्यों और केंद्रशासित प्रदेशों में प्रति दस लाख आबादी पर मौत के मामले राष्ट्रीय औसत से ज्यादा हैं। इनमें पुदुचेरी (403), महाराष्ट्र (335), गोवा (331), दिल्ली (317), कर्नाटक (152), तमिलनाडु (135) और पंजाब (131) शामिल हैं।



Source link

Previous Article
Next Article

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *