कोरोना के कारण नई-नवेली दुल्हन से दूरी, पत्नी पहुंची कोर्ट, पति को देना पड़ा मर्दानगी का सर्टिफिकेट

Spread the love


हाइलाइट्स:

  • कोरोना काल में पति ने पत्नी के साथ किया सोशल डिस्टेंसिंग का पालन
  • शादी के बाद दामपत्य दायित्वों को नहीं निभाया
  • पत्नी ने पति के मर्दानगी पर उठाया सवाल, तलाक के लिए पहुंची कोर्ट
  • कोर्ट ने दोनों की काउंसलिंग, तो पति ने बताया कोरोना का डर

भोपाल
कोरोना के कारण परिवार में तबाही आ गया है। कोरोना काल में एक युवक की शादी हुई थी। शादी के बाद ससुराल के लोग पॉजिटिव पाए गए थे। संक्रमण के डर शादी के बाद युवक अपनी पत्नी के साथ भी सोशल डिस्टेंसिंग का पालन करता रहा था। कोरोना फोबिया से युवक इस तरह ग्रसित था कि अपनी पत्नी के करीब ही नहीं गया है। कुछ दिनों बाद गुस्से में नई-नवेली दुल्हन ससुराल छोड़ कर मायके चली गई क्योंकि इतने दिनों में पति ने कभी भी दांपत्य दायित्वों को नहीं निभाया था।

मायके जाने के 5 महीने बाद भोपाल स्थित फैमिली कोर्ट में उसने तलाक की अर्जी लगा दी। 2 दिसंबर को दाखिल तलाक की अर्जी में पत्नी ने कहा था कि पति फोन पर अच्छी-अच्छी बात करते हैं लेकिन कभी पास नहीं आते हैं। इसे लेकर पति-पत्नी में अक्सर विवाद होता था। दोनों की शादी 29 जून 2020 को हुई थी। साथ ही उसने ससुराल के लोगों पर प्रताड़ना का आरोप लगाया था। उसके बाद कुटुंब न्यायालय में दोनों की काउंसलिंग शुरू की गई थी।

Gwalior : ग्वालियर पुलिस का कैफे पर छापा, हुक्का पीते मिले युवक-युवतियां

मायके में बताई बात
युवती मायके पहुंच कर सारी चीजों के बारे में अपने परिजनों को जानकारी दी है। परिजनों से इस मुद्दे पर बात करने के लिए युवक कभी तैयार नहीं हुआ। ऐसे में विवाद और गहरा गया। युवती के परिजनों का कहना था कि अभी बेटी की पूरी जिंदगी पड़ी है और अभी से यह हालत है तो आगे चल कर क्या होगा। उसके बाद लोगों ने कोर्ट में तलाक की अर्जी लगा दी थी।

MP : फैक्ट्री खाक, गाड़ी में खून और मालिक लापता, शाजापुर में हड़कंप

मर्दानगी का दिया सर्टिफिकेट
पत्नी के आरोप पर कुटुंब न्यायालय ने दोनों परिवारों की काउंसलिंग की है। वहीं, पति को काउंसलिंग के दौरान मेडिकल कराने की सलाह दी गई थी। पति ने मेडिकल करा कर सर्टिफिकेट कोर्ट में सौंपा है, जिसमें वह पूरी तरह से फिट था। उसके बाद कोर्ट ने पाया कि महिला का आरोप गलत है। फिर दोनों परिवारों को कोर्ट ने समझाया और महिला को उसके पति के साथ ससुराल भेज दिया है। साथ ही दोनों को कोरोना टेस्ट कराने की सलाह भी दिया है।

MP : मुंबई-आगरा हाईवे पर भीषण हादसा, ट्राले और ट्रक में भयंकर टक्कर, लगी आग

डर से नहीं गए पत्नी के पास
मीडिया रिपोर्ट्स के अनुसार पति ने काउंसलिंग के दौरान खुलासा किया है कि शादी के बाद ही पत्नी के परिवार वाले कोरोना पॉजिटिव हो गए थे। उसे डर था कि पत्नी और मुझमें हार्ड इम्युनिटी की वजह से कोरोना के लक्षण नहीं दिखाई दिए हैं। पति को लगता था कि पत्नी के आसपास के लोग जब कोरोना पॉजिटिव थे, तो पत्नी भी संक्रमित होगी। इस डर से वह दांपत्य दायित्वों को निर्वहन करने में झिझकता था।



Source link

Previous Article
Next Article

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *