कोरोना वैक्सीन पर अमेरिका से गुड न्यूज, जल्द ही आपातकालीन इस्तेमाल लिए अप्लाई करेगी मॉडर्ना

Spread the love


हाइलाइट्स:

  • कोरोना वैक्सीन के आपातकालीन इस्तेमाल के लिए अनुमति मांगने जा रही मॉडर्ना
  • मॉडर्ना ने अपनी कोरोना वैक्सीन के 94 फीसदी से ज्यादा प्रभावी होने का किया है दावा
  • अमेरिका और यूरोप में 21 दिसंबर से वैक्सीनेशन शुरू करने की है योजना

वॉशिंगटन
कोरोना वायरस वैक्सीन को लेकर अमेरिका की दवा निर्माता कंपनी मॉडर्ना ने खुशखबरी दी है। कंपनी ने कहा है कि वह जल्द ही अमेरिका और यूरोप में अपनी वैक्सीन के आपातकालीन इस्तेमाल के लिए अनुमति मांगने जा रही है। कुछ दिन पहले ही दावा किया गया था कि यह वैक्सीन कोरोना के मरीजों पर 94 फीसदी तक प्रभावी है। कंपनी ने कहा है कि वह जल्द ही अमेरिका के खाद्य और औषधि प्रशासन से मंजूरी लेने का प्रयास करेगी।

21 दिसंबर से शुरू हो सकती है वैक्सीनेशन
मॉडर्ना के सीईओ स्टीफन बैंसेल ने कहा कि अगर प्रक्रिया सुचारू रूप से चलती है और मंजूरी दी जाती है तो वैक्सीन को 21 दिसंबर तक मॉर्केट में उतार दिया जाएगा। मॉडर्ना ने अपने अप्लीकेशन में सोमवार को घोषित किए गए अपने डेटा को दर्शाया है। जिसमें वैक्सीन के प्रभावी होने का दावा किया गया है। कंपनी ने दावा किया है कि ट्रायल के दौरान सभी आवश्यक वैज्ञानिक मानदंडों को पूरा किया गया है।

महंगी होगी मॉडर्ना की कोरोना वैक्सीन
फाइजर की तरह मॉडर्ना की वैक्‍सीन को भी बेहद कम तापमान पर स्‍टोर करके रखना पड़ता है। यह mRNA तकनीक पर आधारित वैक्‍सीन है और 94.5% तक असरदार पाई गई है। मॉडर्ना ने अपनी वैक्‍सीन की कीमत 32 से 37 डॉलर प्रति डोज रखने की बात कही है। बड़े ऑर्डर्स पर यह कीमत और नीचे जा सकती है। फिर भी मध्‍य और कम आय वाले देशों के लिए यह वैक्‍सीन अफोर्ड कर पाना बेहद मुश्किल होगा।

मॉडर्ना के शेयर में देखी गई तेजी
वैक्सीन के प्रभावी होने के मॉडर्ना के दावे के बाद उसके शेयर में जबरदस्त तेजी देखी जा रही है। इस खबर से मॉडर्ना के शेयरों में करीब 7 फीसदी की उछाल आई थी। कंपनी के शेयर को लेकर खरीदारों में भी उत्साह देखा जा रहा है।


WHO की चेतावनी वैक्सीन से खत्म नहीं होगा कोरोना
विश्व स्वास्थ्य संगठन के चीफ टेड्रोस एडहानॉम ने अपनी चेतावनी में कहा है कि भले ही कोरोना की कोई वैक्सीन बना ली जाए, लेकिन वो अकेले सारी महामारी को खत्म नहीं कर पाएगी। टेड्रोस ने कहा कि हमें वैक्सीन उन सारे तरीकों के साथ इस्तेमाल में लाई जाएगी, जिनका इस्तेमाल अभी हो रहा है। लेकिन ऐसा नहीं है कि वैक्सीन में आने के बाद वो सभी ट्रीटमेंट सिस्टम रिप्लेस कर दिया जाए, जो कि अभी इस्तेमाल हो रहा है।

Corona Vaccine Price: जानिए किस वैक्सीन की कितनी कीमत, कौन सी सबसे सस्ती?



Source link

Previous Article
Next Article

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *