गाजा पट्टी पर जमकर गरजे इजरायली लड़ाकू विमान, हमास के कई ठिकानों पर बरसाए बम

Spread the love


तेल अवीव
इजरायली सेना ने हमास के रॉकेट हमलों के खिलाफ गाजा पट्टी में जबरदस्त जवाबी कार्रवाई की है। इजरायली लड़ाकू विमानों ने गाजा पट्टी में हमास के कई ठिकानों को भीषण बमबारी कर बर्बाद कर दिया है। पिछले दो महीनों से गाजा पट्टी से इजरायल की ओर विस्फोटक गुब्बारे और रॉकेट दागे जा रहे हैं। जिसकी चपेट में आने से अबतक कई इजरायली नागरिक घायल भी हो चुके हैं। इसी के जवाब में इजरायली फोर्स लगातार हमास के ठिकानों को निशाना बना रही है।

खुले में गिरा हमास का रॉकेट, कोई हताहत नहीं
इज़राइली मीडिया ने बताया कि हमास का रॉकेट एक खुले हुए क्षेत्र में गिरा। इसी कारण किसी जानमाल का नुकसान नहीं हुआ। पिछले एक सप्ताह से बॉर्डर पर शांति बनी हुई थी, लेकिन इस रॉकेट हमले के कारण फिर से स्थिति तनावपूर्ण हो गई है। इजरायल ने इस हमले के लिए गाजा में सक्रिय हमास आतंकी संगठन को जिम्मेदार बताया है।

इजरायली सेना ने जारी किया बयान
इजरायली सेना ने बयान जारी कर कहा कि अंतरराष्ट्रीय स्तर पर प्रयासों के बावजूद सीमा पार फिलिस्तीन से विस्फोटक भरे गुब्बारे भेजे जा रहे हैं। इसके अलावा हमास के सीक्रेट ठिकानों से रॉकेट भी दागे जा रहे हैं। इसी के जवाब में इजरायली एयरफोर्स ने हमास के कई ठिकानों को निशाना बनाया है। इजरायली हवाई हमले से किसी के हताहत होने की खबर नहीं थी।

इजरायली सेना ने एक फिलिस्तीनी युवक को मारी गोली
इजरायली सेना ने कहा है कि उसके जवानों ने इजरायली कब्जे वाले वेस्ट बैंक में तीन फिलिस्तीनी युवकों पर गोलिया दागी हैं। ये लोग एनाव की बस्ती के पास सैनिकों पर विस्फोटक गुब्बारे फेंक रहे थे। उन्होंने कहा कि इस गोलीबारी में एक शख्स मारा गया, बल्कि उसके दो साथी भागने में सफल रहे। सेना ने यह नहीं बताया है कि उसके पक्ष से भी किसी को चोट आई है कि नहीं।

ऐसे होते हैं विस्फोटक गुब्बारे
इजरायली फायर ब्रिगेड के अनुसार, ये फायर बम गुब्बारों, फुलाए गए कॉन्डोम या प्लास्टिक के बैग में लोकल एक्सप्लोसिव डिवाइस को लगाकर तैयार किए जा रहे हैं। इनके कारण दक्षिणी इजरायल में कम से कम 400 जगहों पर आग लगने की घटनाएं सामने आई हैं। वहीं मिस्र का एक प्रतिनिधिमंडल दोनों पक्षों के बीच सुलह कराने की कोशिश कर रहा है।

दोनों पक्षों में संधि कराने के लिए मिस्र और कतर सक्रिय
जिसके बाद दोनों पक्षों ने सहमति जताई थी कि अगर इजरायल सीमा पर हमास विस्फोटक गुब्बारे भेजना बंद कर देगा तो इजरायल गाजा की 13 साल से जारी घेराबंदी को कम कर देगा। इस अंतरराष्ट्रीय पहल में अब कतर के राजदूत मोहम्मद अल एमाडी भी शामिल हो गए हैं। उन्होंने भी तेल अवीव में इजरायली अधिकारियों के साथ बातचीत की है।



Source link

Previous Article
Next Article

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *