चमत्‍कार: 11 घंटे की सर्जरी, फिर अलग हो गईं जन्म से जुड़ी बच्चियां

Spread the love


हाइलाइट्स:

  • पीटर्सबर्ग में एक साल की दो जुड़वा बहनों का शरीर आपस में जुड़ा हुआ था
  • साराबेट-अमेलिया के पास अपने हाथ-पैर थे लेकिन दोनों के पास एक ही लीवर था
  • इससे दोनों ही बच्चियों और उनके परिजनों को काफी दिक्कत होती थी

वॉशिंगटन
कुदरत भी अपने करिश्मे से अक्सर लोगों को हैरान कर देता है। कुछ ऐसा पीटर्सबर्ग में हुआ जहां एक साल की दो जुड़वा बहनों का शरीर आपस में जुड़ा हुआ था। मिशिगन यूनिवर्सिटी के साराबेट और अमेलिया इरविन के पास अपने-अपने हाथ-पैर और दिल थे लेकिन दोनों के पास एक ही लीवर था। इससे दोनों बच्चियों और उनके परिजनों को काफी दिक्कत होती थी। उन्होंने दोनों को अलग-अलग जिंदगी देने का फैसला किया। लेकिन, दिक्कत थी कि यह काम किया कैसे जाए। इसमें मदद की मिशिगन यूनिवर्सिटी के डॉक्टरों ने।

डॉक्‍टरों ने ऑपरेशन करके दोनों बहनों को अलग-अलग कर दिया। दोनों के शरीर को अलग करने के लिए उनके जन्म के करीब 14 महीने बाद अगस्त में सर्जरी हुई थी। यह सर्जरी तकरीबन 11 घंटे तक चली। अब दोनों जुड़वा बहनें बिल्कुल स्वस्थ हैं और अपने घर में हैं। इस सर्जरी करने वाली टीम की अगुवाई करने वाले डॉक्टर जॉर्ज मिचालिसका ने कहा, ‘जब दोनों बच्चियों को एकदूसरे से अलग करने के लिए अंतिम चीरा लगाया गया था तो वह ऑपरेशन थियेटर में मौजूद सभी लोगों के लिए काफी भावुक करने वाला पल था।’

डॉक्‍टर जॉर्ज ने कहा, ‘मैं खुद जुड़वा बच्चों का पिता हूं। मुझे पता है कि जुड़वा बच्चों का एकदूसरे से गहरा लगाव होता है। साराबेट और अमेलिया में हमेशा एक अलग ही किस्म का तालमेल रहेगा और मुझे लगता है कि उन दोनों का भविष्य काफी सुनहरा है।’ दोनों के माता-पिता एलिसन और फिल इरविन को डिलीवरी से चार महीने पहले 2019 में एक प्रेग्नेंसी अल्ट्रासाउंड के जरिए आपस में जुड़े हुए जुड़वा बच्चों के बारे में पता चला।

इरविन को डर था कि शायद बच्चियां सर्जरी लायक उम्र होने तक ना रहें, लेकिन उन्होंने इंतजार किया। साराबेट और अमेलिया की मां एलिसन का कहना है, ‘मैं जन्म के बाद उन्हें बड़ी मुश्किल से अपने सीने से लगा पा रही थी। जब मैंने सर्जरी के बाद उन दोनों को अलग-अलग गोद में लिया तो मेरी खुशी का ठिकाना नहीं रहा।’ पहले फरवरी में सर्जरी का प्लान था लेकिन बच्चियों को निमोनिया हो गया। फिर कोरोना महामारी के चलते सर्जरी टालनी पड़ी। आखिर में अगस्त में जाकर दोनों का ऑपरेशन हुआ।



Source link

Previous Article
Next Article

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *