चीन को बताई थी गोपनीय रणनीति, हर सूचना पर मिलते थे $1000, जानें पत्रकार राजीव शर्मा का पूरा ‘कांड’

Spread the love


हाइलाइट्स:

  • भारत की सीमा रणनीति की जानकारी चीनी खुफिया तंत्र को दे रहा था राजीव
  • कई देशों में शर्मा चीनी अधिकारियों से मिलता था, 14 सितंबर को हुआ अरेस्ट
  • राजीव शर्मा को हर एक सूचना के बदले में 1000 डॉलर मिलते थे

नई दिल्ली
बीते 14 सितंबर को दिल्ली से ऑफिशल सीक्रेट ऐक्ट (Official Secrets Act) के तहत गिरफ्तार किए गए फ्रीलांस पत्रकार राजीव शर्मा को लेकर पुलिस ने कई खुलासे किए हैं। पुलिस ने बताया है कि राजीव भारत की सीमा रणनीति की जानकारी चीनी खुफिया तंत्र को दे रहा था।

दिल्ली पुलिस की स्पेशल सेल के डीसीपी संजीव कुमार यादव ने बताया कि पत्रकार राजीव शर्मा 2016 से 2018 तक संवेदनशील जानकारी चीनी खुफिया अधिकारियों तक पहुंचा रहा था। कई देशों में शर्मा चीनी अधिकारियों से मिलता था। पुलिस के मुताबिक, राजीव शर्मा बॉर्डर पर सेना की तैनाती और भारत की सीमा रणनीति की जानकारी भी चीनी खुफिया तंत्र को दे रहा था।

इजरायल के स्पायवेयर और अजीत डोभाल के साथ बातचीत…राजीव शर्मा की Inside Story

हर जानकारी के बदले मिलते थे $1000
दिल्ली पुलिस ने बताया कि चीनियों को गोपनीय सूचना देने के आरोप में गिरफ्तार राजीव शर्मा को बीते एक साल में 40-45 लाख रुपये मिले। शर्मा को प्रत्येक सूचना के बदले 1000 डॉलर मिलते थे। उन्होंने बताया कि राजीव शर्मा के पास करीब 40 साल का पत्रकारिता का अनुभव है और वो भारत के कई मीडिया संस्थानों के साथ चीन के सरकारी अखबार ‘ग्लोबल टाइम्स’ में भी रक्षा मामलों पर लिखता था। राजीव 2016 में चीनी एजेंट के संपर्क में आया था। बता दें कि स्वतंत्र पत्रकार राजीव शर्मा को केंद्रीय खुफिया एजेंसी की सूचना के आधार पर 14 सितंबर को गिरफ्तार किया गया था। उसके पास से रक्षा मंत्रालय के गोपनीय दस्तावेज मिले थे।

राजीव के चीनी और नेपाली साथी भी अरेस्ट
इससे पहले दिल्ली पुलिस ने शनिवार को बताया कि एक चीनी महिला और उसके नेपाली साथी को गिरफ्तार किया गया है। पुलिस ने दावा किया कि वे ‘चीनी खुफिया एजेंसी’ को संवेदनशील सूचना देने के एवज में फ्रीलांसर पत्रकार राजीव शर्मा को बड़ी राशि का भुगतान कर रहे थे। पुलिस ने बताया, ‘आरोपियों के पास से बड़ी संख्या में मोबाइल फोन, लैपटॉप और अन्य आपत्तिजनक/संवेदनशील सामग्री बरामद की गई है।’
(भाषा से इनपुट के साथ)



Source link

Previous Article
Next Article

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *