चीन ने नहीं किया नेपाल की जमीन पर कब्जा? ओली सरकार के दावे की विपक्षी नेता ने सबूतों के साथ खोली पोल

Spread the love


काठमांडू
नेपाल के हुमला इलाके में चीनी घुसपैठ की बात को ओली सरकार बार-बार नकार रही है। वहीं, प्रमुख विपक्षी दल नेपाली कांग्रेस के नेता और पूर्व केंद्रीय मंत्री जीवन बहादुर शाही ने दावा किया है कि उन्हें चीन के अतिक्रमण के पुख्ता सबूत मिले हैं। उन्होंने सीमाई इलाके का दौरा करने के बाद एक विस्तृत रिपोर्ट भी तैयार की है। जिसे काठमांडू में पार्टी की केंद्रीय समिति के पास भेजा जाएगा। नेपाल में चीनी घुसपैठ को लेकर उठ रहे विरोध के स्वरों को विपक्षी दल ओली सरकार के खिलाफ इस्तेमाल करने की योजना बना रहे हैं।

ओली के खिलाफ आर-पार की लड़ाई की तैयारी
जीवन बहादुर शाही ने नेपाली वेबसाइट खबरहब से बातचीत करते हुए उन्होंने कहा कि हुमला मेरा गृहजिला है। मैं यहां जमीन पर अतिक्रमण के बारे में विस्तृत जानकारी रखता हूं। हमने सरकार को सूचित किया था कि चीन ने नेपाल की भूमि पर अतिक्रमण किया है और यहां तक कि पिलर 12 पर हमारी सीमा रेखा पार करने वाली संरचनाओं का निर्माण भी शुरू कर दिया है। हालांकि सरकार ने इससे इनकार किया है।

सरकार पता नहीं क्यों खारिज कर रही घुसपैठ की बात
उन्होंने कहा कि हमने अपनी सड़क का निर्माण कुछ किलोमीटर आगे किया था जहां चीन ने इन संरचनाओं (बिल्डिंग्स) का निर्माण किया है। कुछ सरकारी अधिकारियों ने भी इस क्षेत्र का दौरा कर चीन के घुसपैठ की रिपोर्ट तैयार की थी। मुझे अब भी यकीन नहीं हो रहा है कि सरकार क्यों चीन के घुसपैठ की बात को मानने को राजी नहीं है।

अंतरराष्ट्रीय कानून का उल्लंघन कर रहा चीन
नेपाली कांग्रेस के इस नेता ने कहा कि सीमा स्तंभों का मूल सिद्धांत यह है कि जब भी कोई नया स्तंभ स्थापित किया जाना है, तो उसे पहले दोनों पक्षों के अधिकारियों के समन्वय में व्यवस्थित किया जाना चाहिए। चीन ने इस सिद्धांत का उल्लंघन किया है। पिलर संख्या 12 को चीन ने हाल में ही बिना नेपाली अधिकारियों को जानकारी दिए स्थापित किया है।

चीन ने खाने की आपूर्ति रोकी
जब उनसे पूछा गया कि अपने दौरे पर आपने क्या देखा, तब उन्होंने कहा कि यहां के लोग बड़ी कठिनाई में अपने जीवन का निर्वाह कर रहे हैं। अतिक्रमण के बारे में खुलकर बोलने पर चीन ने हुमला के लोगों के लिए भोजन की आपूर्ति से लदे ट्रकों को रोक दिया है। अंतररराष्ट्रीय ट्रांजिट कानून के अनुसार, कोई भी सरकार खाने के ट्रांजिट रूट को बंद नहीं कर सकती है।

नेपाली जमीन पर ओली के दोस्त चीन का कब्जा, हुमला में बनाई 9 बिल्डिंग्स

मोबाइल सिग्नल को जाम कर रहा चीन
उन्होंने कहा कि जिस टेलीफोन टावर को मैंने इस क्षेत्र में स्थापित करने का प्रयास किया था, वह अब चीन द्वारा बाधित किया जा रहा है। स्थानीय लोगों को चीनी सिग्नल और चीनी टॉवर का उपयोग करने के लिए मजबूर किया जा रहा है। जूंग पिलर 12 का निर्माण हाल ही में चीन द्वारा निर्मित किया गया है। सरकारी अधिकारियों का कहना है कि उनसे इस तरह के मुद्दों के बारे में सलाह नहीं ली गई है।

चीन के दबाव में आई ओली सरकार, नेपाली जमीन पर ड्रैगन के कब्‍जे का किया खंडन

चीनी कब्जे के पर्याप्त सबूत
उन्होंने कहा कि हमारे लोग चीनी सुरक्षाबलों के कारण इस इलाके से दूर हो गए हैं। जबकि, पहले वे खेती और पशुपालन के लिए इस इलाके में जाते थे। ऐसे पर्याप्त सबूत हैं जिनसे पता चलता है कि नेपाल के इलाके में चीन ने अतिक्रमण किया है। मैं अतिक्रमण का सबूत लाया हूं। जरूरत पड़ने पर मैं आपको सबूत भी दे सकता हूं।

चीन के दबाव में ओली सरकार! नेपाली जमीन पर ड्रैगन के कब्‍जे का किया खंडन



Source link

Previous Article
Next Article

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *