जब PM मोदी ने कहा, ‘रऊआ सबके प्रणाम बा…’, दिया नारा- ‘जय किसान, जय विज्ञान, जय अनुसंधान

Spread the love


पटना
बिहार विधानसभा चुनाव से ठीक पहले प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने राज्य को बड़ी सौगातें दी। पीएम मोदी ने राष्ट्रीय गोकुल मिशन के तहत 84.27 करोड़ की लागत से पूर्णिया सीमेन स्टेशन, 8.06 करोड़ की लागत से बिहार पशु विज्ञान विश्वविद्यालय, पटना में इम्ब्रयो ट्रांसफर टेक्नोलॉजी (ईटीटी) एवं आईवीएफ लैब का उद्घाटन किया। पीएम ने बिहार को 294 करोड़ की योजनाओं की सौगात दी।

पीएम मोदी ने भाषण की शुरुआत भोजपुरी में की। पीएम ने कहा, ‘रऊआ सबके प्रणाम बा, देशवा खातिर बिहार खातिर, गांव के जिंदगी के आसान बनावे खातिर और व्यवस्था मजबूत करे खातिर मछली उत्पादन, डेयरी और कृषि क्षेत्र में पढ़ाई और रिसर्च से जुड़ले सैकड़न करोड़ रुपये के योजना के शिलान्यास और लोकार्पण भइल ह। एकरा खातिर सौसे बिहार के भाई बहन लोगन के बधाई दे तनी।’

पीएम मोदी दे रहे बिहार को चुनावी तोहफा, हर अपडेट LIVEइसके बाद पीएम अपनी बात हिंदी में कहने लगे। उन्होंने राज्यपाल फागु चौहान, सीएम नीतीश कुमार, केंद्रीय मंत्री गिरिराज सिंह, उपमुख्यमंत्री सुशील कुमार मोदी समेत तमाम लोगों के नाम लिए। पीएम मोदी ने अपने भाषण के दौराना नारा दिया- ‘जय किसान, जय विज्ञान, जय अनुसंधान।’

पीएम मोदी ने कहा कि बिहार में बाढ़ से खेती को कैसे बचाया जाए इसके लिए महात्मा गांधी रिसर्च सेंटर बनाया गया है। ऐसी अनेक संस्थाएं कृषि को विज्ञान और तकनीक से जोड़ने के लिए शुरू की गई हैं। अब गांव के पास ऐसे क्लस्टर बनेंगे जहां फूड प्रोसेसिंग से जुड़े उद्योग लगेंगे। उन्होंने कहा कि ई गोपाला में काम पूरा होती ही सिर्फ पशु का आधार नंबर डालने से उस जानवर की हर जानकारी मिल जाएगी। इससे लोगों को पशु खरीदने में सहूलियत हो जाएगी। बहुत कम लोगों को पता है कि असली पूसा दिल्ली में नहीं बल्कि बिहार के समस्तीपुर में है।

PM मोदी ने की CM नीतीश की तारीफ
पीएम मोदी ने मुख्यमंत्री नीतीश कुमार की तारीफ करते हुए कहा कि ‘नीतीश जी के नेतृत्व में गांव-गांव पानी पहुंचाने के लिए प्रशंसनीय काम हुआ है। आज आंकड़ा बढ़कर 70% से अधिक हो गया है। इस दौरान डेढ़ करोड़ लोगों को जोड़ा गया है। कोरोना काल में भी 60 लाख से ज्यादा लोगों को नल का जल दिलवाना सुनिश्चित किया गया है। ये हमारे गांवों की ताकत है कि कोरोना के बावजूद अनाज,फल और दूध समेत बाकी जरुरी चीजों की सप्लाई रुकी नहीं। केंद्र सरकार ने भी इस विपरीत परिस्थिति के बावजूद बिहार के 75 लाख किसानों को किसान सम्मान योजना का फायदा पहुंचाया। गांव में इस वैश्विक महामारी को कम रखने में सफल हुए हैं। ये इसलिए भी तारीफ के लायक है कि कोरोना के अलावा बाढ़ की विभीषिका और भारी बारिश के बाद ने भी बिहार ने हालात को संभाले रखा। कोरोना संकट में अनेक साथी पशुपालन की तरफ बढ़ रहे हैं। केंद्र और बिहार सरकार की योजनाओं से उन्हें फायदा मिल रहा है। जो लोग ये कर रहे हैं वो लिख लें कि इसका भविष्य उज्जवल है। हमारे गांव आत्मनिर्भर बने और अगली सदी में ब्लू रिवॉल्यूशन का असर दिखे। PM मत्स्य संप्रदा योजना इसी लक्ष्य को ध्यान में रखकर बनाई गई है। अगले 5 साल में इसमें 20 हजार करोड़ से ज्यादा रुपये खर्च किए जाएंगे। आज 1700 करोड़ रुपयों का काम शुरू हो गया है।’

PM मोदी ने की पटना के राजू से बात
पीएम मोदी ने पटना से मछली पालक राजू कुमार से बात की। राजू फिश ऑन व्हील्स की दुकान चलाते हैं । राजू से पीएम मोदी ने कहा कि खेती और मछली पालन के काम में क्या फर्क आया है। राजू ने बताया कि खेती से उन्हें ज्यादा मुनाफा नहीं होता था लेकिन मछली पालन से उनका मुनाफा 4-5 गुणा बढ़ गया है। राजू ने बताया कि फिश ऑन व्हील्स के जरिए वो मछलियों को पटना में कई जगहों पर पहुंचाना शुरू कर चुके हैं। पीएम मोदी ने कहा कि फिश ऑन व्हील्स से उन्हें पहचान मिलेगी और लोग तय समय पर उनका इंतजार तक करने लगेंगे। ऐसे में उनकी कमाई भी बढ़ेगी। पीएम मोदी ने कहा कि मत्स्य संप्रदा योजना का लक्ष्य ही यही है कि ज्यादा से ज्यादा युवाओं को इसमें जोड़ा जाए। इससे व्यापक मात्रा में रोजगार तैयार होंगे और देश का एक्सपोर्ट बढ़ेगा।

पीएम मोदी ने मधेपुरा के ज्योति मंडल से बात की
पीएम मोदी ने मधेपुरा के ज्योति मंडल से बात की। पीएम के पूछने पर ज्योति ने बताया कि खेती से आमदनी कम होती थी तो पिछले 4-5 साल से वो मछली पालन कर रहे हैं जिससे उनकी आमदनी दस गुणा बढ़ गई है। ज्योति ने JNU से MA किया है। पीएम मोदी ने ज्योति से पूछा कि जेएनयू से पढ़ाई करने के बाद उन्होंने मछली पालन के बारे में क्यों सोचा। ज्योति ने बताया कि मधेपुरा गरीब जिला है और किसानों के लिए यहां बहुत दिक्कत है। पीएम मोदी ने कहा कि चारों तरफ से जब लोग निराशा फैला रहे हैं तब ज्योति ज्ञान की ज्योति जला रहे हैं। पीएम मोदी ज्योति मंडल को जल के भीतर के जीवन का महत्व समझा रहे हैं, उन्हें सरकार की योजनाओं की जानकारी दे रहे हैं।

पीएम मोदी ने बेगूसराय से ब्रजेश से की बात
पीएम मोदी ने बरौनी (बेगूसराय) के ब्रजेश कुमार से बात की। इस दौरान ब्रजेश ने अपने पशुपालन के काम के बारे में पीएम मोदी को जानकारी दी। पीएम मोदी ने ब्रजेश से उनकी शिक्षा के बारे में पूछा। ब्रजेश ने अपनी टेक्नोलॉजी की पढ़ाई का जिक्र किया। पीएम मोदी ने कहा कि यही चीजें देश को प्रेरणा देने वाली हैं कि लोग नौकरी को छोड़ खेती और पशुपालन की तरफ जा रहे हैं। ब्रजेश ने कहा कि मैं ऋषि पुत्र किसान हूं जिसके उगाए अन्न से भगवान को भोग लगता है। पीएम मोदी ने कहा कि ब्रजेश जैसे लोग क्लीयर विजन वाले नौजवान उन्हें प्रभावित करते हैं और वो ब्रजेश से भी प्रभावित हुए हैं। ब्रजेश ने कहा कि वो बिहार में पहली मिल्क मशीन 2012 में खरीद कर लाए। ब्रजेश के मुताबिक वो स्कूली बच्चों को भी कृषि और पशुपालन का महत्व समझाते हैं। पीएम मोदी ने ब्रजेश को कहा कि कोरोना काल खत्म होने के बाद वो अपने क्षेत्र बेगूसराय जिले के किसानों से संपर्क करें। इन सब किसानों को पीएम मोदी ने गुजरात भेजकर वहां डेयरी का काम समझाएंगे। पीएम मोदी ने कहा कि गिरिराज जी इसकी व्यवस्था करें। आपको बता दें कि गिरिराज सिंह बेगूसराय से ही सांसद हैं। पीएम मोदी ने कहा कि लोगों को गोवर्धन योजना का फायदा लेने के बारे में सोचें और इस पर काम करें। पीएम मोदी ने कहा कि ब्रजेश से गिरिराज सिंह संपर्क करके उन्हें योजना पाने में मदद करेंगे। पीएम मोदी ने कहा कि किसानों के लिए जंजीर बने कई पुराने कानून को केंद्र सरकार ने खत्म कर दिया है।

पीएम मोदी ने पूर्णिया की मोनिका से बात की
पूर्णिया सिमेन सेंटर से मोनिका भारती हंसदा ने पीएम मोदी से बात की। पीएम मोदी ने मोनिका से उनके परिवार के बारे में पूछा। पीएम ने पूछा कि मोनिका पशुपालन के अलावा भी कोई और काम करती हैं। मोनिका ने कहा कि नहीं। मोनिका से पीएम ने पूछा कि अभी आपके पास कितनी गाय है, जवाब- 2 गाय जो प्रतिदिन दस लीटर दूध देती है। मोनिका ने बताया कि शराबबंदी को लेकर लोगों को उन्होंने इसका महत्व समझाया। पीएम मोदी ने कहा कि मोनिका जी मैं आपके पति, सास और ससुर को प्रणाम करता हूं, क्योंकि उन्होंने बहू को पढ़ाया और जागरुकता दिखाई। मोनिका ने पीएम मोदी को कहा कि वो अपने जैसी महिलाओं को पढ़ने के लिए प्रेरित कर रही हूं। पीएम मोदी ने कहा कि मोनिका और इनके जैसी तमाम महिलाएं स्वाबलंबन के लिए आगे आ रही हैं, सरकार की भी कोशिश है कि ऐसी बहनों की मदद की जाए। इसके लिए सरकार ने स्वयं सहायता योजना भी चलाई है।



Source link

Previous Article
Next Article

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *