डोकलाम के बाद भारत से टक्‍कर के लिए बड़ी रणनीति पर काम कर रहा चीन, दोगुना किए एयर बेस: रिपोर्ट

Spread the love


हाइलाइट्स:

  • चीन ने तीन साल में LAC से लगे अपने इलाके में हवाई ठिकानों की संख्‍या को दोगुना किया
  • भारतीय विमानों और मिसाइलों को मार गिराने के लिए एयर डिफेंस पोजिशन को भी दोगुना किया
  • चीन ने यह तैयारी लद्दाख में तनाव पैदा करने के ठीक पहले की जिससे उसकी मंशा सामने आ रही

पेइचिंग
भूटान से लगे डोकलाम में वर्ष 2017 में भारत के सख्‍त रुख के बाद पीछे हटने को मजबूर हुए चीन ने पिछले तीन साल में वास्‍तविक नियंत्रण रेखा से लगे अपने इलाके में हवाई ठिकानों की संख्‍या को दोगुना कर दिया है। इसके अलावा भारतीय विमानों और मिसाइलों को मार गिराने के लिए एयर डिफेंस पोजिशन और हेलीपोर्ट की संख्‍या को भी बढ़ाकर दोगुना कर दिया है। चीन ने यह तैयारी लद्दाख में तनाव पैदा करने के ठीक पहले की जिससे उसकी मंशा अब खुलकर सामने आ रही है।

एनडीटीवी की रिपोर्ट के मुताबिक डोकलाम में भारत से मिले झटके के बाद चीन ने अपने रणनीतिक लक्ष्‍यों में बदलाव किया। वैश्विक खुफिया निगरानी संस्‍था स्‍टार्टफोर की ओर से जारी इस रिपोर्ट में सैटलाइट तस्‍वीरों के हवाले से कहा गया है कि चीन के इन सैन्‍य ठिकानों का सीधा असर भारतीय सुरक्षा पर पड़ रहा है। संस्‍था के वरिष्‍ठ वैश्विक विश्‍लेषक सिम टैक ने कहा कि चीन के सैन्‍य ठिकानों की यह तैयारी लद्दाख गतिरोध से ठीक पहले की गई जो यह दर्शाती है कि पूर्वी लद्दाख में जारी यह तनाव चीन के अपने सीमाई इलाकों पर नियंत्रण हासिल करने के लिए बड़े पैमाने पर किए जा रहे प्रयास का हिस्‍सा है।

लद्दाख से अरुणाचल प्रदेश तक हवाई हमले की ताकत जुटा रहा चीन, सैटलाइट तस्‍वीर से खुलासा

‘लद्दाख तनाव ड्रैगन के लंबे समय इरादों की शुरुआत मात्र’
टैक ने कहा कि चीन का अपने सैन्‍य ठिकानों को अपग्रेड करने का काम अभी भी पूरा नहीं हुआ है। रिपोर्ट में कहा गया है, ‘सैन्‍य ठिकानों का विस्‍तार और निर्माण ज्‍यादातर मामलों में अभी जारी है। इसलिए भारत के साथ लगती सीमा पर अभी जो तनाव चल रहा है वह ड्रैगन के लंबे समय इरादों की बस शुरुआत मात्र है।’ भारत के लिए इसका परिणाम बिल्‍कुल साफ नजर आ रहा है। रिपोर्ट में कहा गया है, ‘चीन एक बार ज‍ब अपने सैन्‍य ठिकानों का निर्माण पूरा कर लेगा तो ये सैन्‍य अड्डे चीन को भारत के खिलाफ और ज्‍यादा व्‍यापक अभियान चलाने में मदद करेंगे।’

रिपोर्ट में कहा गया है कि चीन भारत से लगे वास्‍तविक नियंत्रण रेखा पर 13 बिल्‍कुल नए सैन्‍य पोजिशन बना रहा है। इसमें तीन एयर बेस, 5 स्‍थायी एयर डिफेंस पोजिशन और पांच हेलीपोर्ट शामिल हैं। इनमें से 4 नए हेलीपोर्ट का निर्माण मई में लद्दाख संकट की शुरुआत के बाद किया गया है।’ भारतीय सीमा पर चीन के सैन्‍य विस्‍तार में एयर बेस का निर्माण, इलेक्‍ट्रॉनिक वॉरफेयर सुविधा, हेलीपोर्ट और एयर डिफेंस स्‍थल शामिल हैं।


‘भारतीय मोर्चे पर चीन की सैन्‍य तैनाती एक बड़ी रणनीति का हिस्‍सा’
स्‍टार्टफोर की रिपोर्ट में कहा गया है कि भारतीय मोर्चे पर चीन की सैन्‍य तैनाती एक बड़ी रणनीति का हिस्‍सा है। यह कुछ उसी तरह से है जैसे चीन का लक्ष्‍य दक्षिण चीन सागर में है। दक्षिण चीन सागर में चीन ने कृत्रिम द्वीप बनाए और बाद में उसे एक पूर्ण नौसैनिक अड्डे में तब्‍दील कर दिया है। चीन के इस कदम का दक्षिण चीन सागर के कई देशों ने खारिज किया है। भारत दक्षिण चीन सागर में स्‍वतंत्र नौवहन के लिए अमेरिका के साथ खड़ा है, इससे भी चीन चिढ़ा हुआ है।

रिपोर्ट में कहा गया है कि चीन साउथ चाइना सी की रणनीति को दोहराते हुए लद्दाख में सैन्‍य क्षमता का प्रदर्शन करके भविष्‍य में भारत के किसी प्रतिरोध या सैन्‍य कार्रवाई को हतोत्‍साहित करना चाहता है। चीन अपने सैन्‍य दबदबे को बढ़ाने के लिए हवाई क्षमता को बढ़ाने पर पूरा जोर दिए हुए है। इसीलिए चीन चार एयर डिफेंस पोजिशन बना रहा है। इसमें अतिरिक्‍त रनवे और विमानों के लिए शेल्‍टर शामिल है।

xi india

भारत से लगते LAC पर नए हवाई ठ‍िकाने बना रहा है चीन



Source link

Previous Article
Next Article

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *