तुर्की में मिले गीजा के पिरामिड से भी प्राचीन जीवन के निशान, 5 हजार साल पहले बसते थे लोग

Spread the love


इस्तांबुल
तुर्की में पुरातत्वविदों को 5 हजार साल पुराना एक ऐसा हिस्सा मिला है जिसका प्राचीन सभ्यता के दौरान ‘लिविंग एरिया’ के तौर पर इस्तेमाल किया जाता होगा। खुदाई के दौरान यहां स्टोर करने का सेक्शन पाया गया जहां प्राचीन सेरेमिक के बने मटके और जग रखे गए थे। इस खोज के साथ ही इस बात के संकेत मिलने लगे है कि यहां जीवन लौह नहीं, कांस्य युग के दौरान ही बस चुका था।

इसलिए है अहम खोज
हुर्रियत डेली न्यूज के मुताबिक तुर्की के वॉन प्रांत में इस साइट पर प्राचीन जीवन के संकेत मिले हैं। पोर्टल के मुताबिक 15 लोगों की टीम में मानव विज्ञानी, पुरातत्वविद और कला इतिहासकार शामिल थे। उन्हें आयरमीर माउंड में रिसर्च के दौरान शुरुआती कांस्य युग का ‘लिविंग स्पेस’ मिला है। इस टीम के लीडर इरोल उस्लू का कहना है कि यूरार्शियन (Urartian) समय के अवशेष मिलना एक अहम खोज है।

उनका कहना है कि यहां कांस्य युग का सामान मिलने से यह पता लगता है कि Urartians से पहले भी जीवन था। बताया जा रहा है कि इस क्षेत्र में स्टोरेज सेक्शन था। आयरमीर माउंड इसलिए भी खास माना जाता है क्योंकि यहीं से सभ्यता के उदय का दावा किया जाता है।


आर्मीनिया के पूर्वज
उरार्तू (Urartu) आर्मीनिया के हाइलैंड (आज अनातोलिया क्षेत्र) का राज्य हुआ करता था। लौह युग के दौरान इसका उदय हुआ और वॉन झील (Van Lake) के पास सभ्यता बसने लगी। इस क्षेत्र के लोगों को आर्मानियाई लोगों का पूर्व कहा जाता है। माना जाता था कि इस क्षेत्र में सभ्यता की शुरुआत उरार्तू राज्य में ही हुई लेकिन अब ताजा खोज से संकेत मिले हैं कि उससे भी पहले यहां जीवन था।



Source link

Previous Article
Next Article

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *