दरवाजे का हैंडल छूने और बटन दबाने से नहीं फैलता कोरोना वायरस, नए शोध में कई बड़े दावे

Spread the love


हाइलाइट्स:

  • अमेरिकी यूनिवर्सिटी के शोध में दावा किया गया है कि कोरोना सतह जैसे दरवाजे के जरिए नहीं फैलता
  • इस शोध में शामिल प्रफेसर मोनिका गांधी ने कहा कि सतह के जरिए कोरोना के फैलने का मुद्दा खत्‍म
  • उन्‍होंने कहा कि सतह पर पड़े किसी भी वायरस में इतना दम नहीं होता है कि वह इंसान को बीमार बना दे

कैलिफोर्निया
कोरोना वायरस से जूझ रही दुनिया के लिए अच्‍छी खबर है। अमेरिका के यूनिवर्सिटी ऑफ कैलिफोर्निया में हुए एक शोध में दावा किया गया है कि कोरोना वायरस महामारी सतह जैसे दरवाजे के जरिए नहीं फैलता है। इस शोध में शामिल प्रफेसर मोनिका गांधी ने कहा कि सतह के जरिए कोरोना वायरस के फैलने का मुद्दा वास्‍तव में खत्‍म हो गया है। उन्‍होंने कहा कि सतह पर पड़े किसी भी वायरस में इतना दम नहीं होता है कि वह इंसान को बीमार बना दे।

इस शोध से प‍ता चला है कि कोरोना के प्रसार को रोकने के लिए हाथ धोने और अपने चेहरे को नहीं छूने जैसे कदमों से ज्‍यादा कारगर सोशल डिस्‍टेंसिंग और मास्‍क पहनना है। मोनिका ने कहा कि इसका मतलब यह भी है कि पूरी दुनिया में सतह पर लगातार बैक्टिरिया रोधी स्‍प्रे का छिड़काव अनावश्‍यक हो सकता है। बता दें कि कोरोना महामारी के दौरान पूरे विश्‍व में इस तरह के स्‍प्रे का छिड़काव सतह पर किया जा रहा है।
‘वायरस के प्रसार का मुख्‍य कारण सतह और आंखों को छूना नहीं’
प्रफेसर गांधी ने यूएस साइंस वेबसाइट नउटिलुस से बातचीत में कहा, ‘यह सतह के जरिए नहीं फैलता है। इस महामारी की शुरुआत में संक्रामक पदार्थों को लेकर लोगों में कई भय थे। अब हम जानते हैं कि कोरोना वायरस के प्रसार का मुख्‍य कारण सतह और अपनी आंखों को छूना नहीं है।’ उन्‍होंने कहा, ‘कोरोना वायरस ऐसे किसी व्‍यक्ति के पास होने से फैलता है जो कोरोना वायरस से पीड़‍ित है और उसकी नाक बह रही है या उसे उल्‍टी आ रही है।’
उधर, प्रतिष्ठित साइंस पत्रिका लांसेट की रिपोर्ट में कहा गया है कि कोरोना वायरस अगर सतह पर फैला है तो उससे संक्रमण का ‘बहुत कम खतरा’ है। बता दें कि दुनियाभर में तमाम प्रयासों के बाद भी कोरोना महामारी विकराल रूप लेती जा रही है। अब तक एक लाख से ज्‍यादा लोगों की इस महमाारी से मौत हो गई है। चीन से फैली इस महामारी के अमेरिका, भारत, ब्राजील और रूस सबसे बड़े गढ़ बन गए हैं।



Source link

Previous Article
Next Article

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *