दूसरों की न्यूज फ्री में दिखाकर पैसे कमाने वाले गूगल-फेसबुक के दिन गए, ऑस्ट्रेलिया बना रहा कानून

Spread the love


केनबरा
दूसरों की न्यूज फ्री में दिखाकर पैसे कमाने वाले गूगल और फेसबुक के अच्छे दिन अब जल्द ही खत्म होने वाले हैं। इन दोनों प्लेटफार्म्स को अब ऑस्ट्रेलिया में दूसरों की न्यूज को दिखाने के लिए जल्द ही भुगतान करना पड़ सकता है। ऑनलाइन विज्ञापन बाजार में गूगल की हिस्सेदारी 53 प्रतिशत और फेसबुक की 23 प्रतिशत है। इस कानून का पालन नहीं करने पर दोनों ही कंपनियों पर भारी-भरकम जुर्मान लगाने का भी प्रावधान किया जा रहा है।

दुनिया में पहली बार ऑस्ट्रेलिया बनाएगा ऐसा कानून
ऑस्ट्रेलियाई वित्त मंत्री जोश फ्रिडेनबर्ग ने कहा कि इस बिल को मीडिया बार्गेनिंग कोड का नाम दिया गया है। बुधवार को पेश हुए इस बिल को लेकर एक संसदीय समिति का भी गठन किया गया है। व्यापक चर्चा के बाद अगले साल यानी 2021 में इस बिल पर संसद में वोटिंग भी होगी। ऑस्ट्रेलियाई सरकार ने दावा किया है कि यह बहुत बड़ा सुधार होगा। यह विश्व में पहली बार होगा और दुनिया देख रही है कि यहां ऑस्ट्रेलिया में क्या हो रहा है।

न्यूज कंटेंट को दिखाने पर देना होगा पैसा
शुरुआत में सरकार की योजना गूगल और फेसबुक के पत्रकारिता करने या समाचार वितरण करने के मामले में सरकारी मीडिया मसलन ऑस्ट्रेलियन ब्रॉडकास्टिंग कॉरपोरेशन और स्पेशल ब्रॉडकास्टिंग सर्विस को इसके दायरे से बाहर रखने की थी। वहीं, ऑस्ट्रेलिया के इस नए कानून के हिसाब से इन कंपनियों को भी आम वाणिज्यिक मीडिया कारोबार की तरह पत्रकारिता करने के लिए भुगतान करना होगा।

ऑस्ट्रेलिया को धमका रहे गूगल और फेसबुक
फेसबुक ने चेतावनी दी थी कि वह समाचार के लिए भुगतान करने के बजाय ऑस्ट्रेलियाई समाचार को बंद कर सकता है। गूगल ने कहा कि प्रस्तावित कानून गूगल सर्च और यूट्यूब के लिए नाटकीय तौर पर बुरा होगा। यह मुफ्त सेवाओं को जोखिम में डाल सकता है और उपयोक्ताओं के डेटा को बड़े मीडिया कारोबारों को सौंपने के लिए मजबूर कर सकता है।

कोरोना की मार से मीडिया इंडस्ट्री को लगा झटका
कोरोना वायरस की वजह से केवल ऑस्ट्रेलिया ही नहीं, बल्कि दुनिया के कई देशों में दर्जनों न्यूजरूम बंद हो गए। अब ऑस्ट्रेलिया तत्काल कानूनी रास्ता अपनाने जा रहा है। ऑस्ट्रेलियाई सरकार के अनुसार, आज बराबरी की जरूरत है जहां बहुराष्ट्रीय डिजिटल प्लेटफॉर्म अपने एकाधिकारवादी रवैये से बाहर निकलें।

भारत में भी खूब कमाई कर रहे हैं गूगल और फेसबुक
फेसबुक और गूगल ने 2018-19 में अपने ऑनलाइन ऐड रेवेन्यू का करीब 70 प्रतिशत (11,500 करोड़ रुपये) भारत से कमाए थे। 2022 में यह मार्केट बढ़कर 28,000 करोड़ रुपये का हो जाएगा।



Source link

Previous Article
Next Article

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *