देवरिया में महिला कांग्रेस वर्कर से मारपीट के बाद 2 नेता पार्टी से निष्कासित, 4 पर मुकदमा

Spread the love


हाइलाइट्स:

  • देवरिया में कांग्रेस का महिला नेता से हुई मारपीट के बाद पुलिस ने दर्ज किया केस
  • महिला नेता ने पार्टी के जिलाध्यक्ष समेत चार नामजद और अन्य के खिलाफ दी थी तहरीर
  • मारपीट के आरोपी कई नेताओं को प्रदेश कांग्रेस कमिटी ने किया निष्कासित, होगी जांच
  • महिला नेता ने पुलिस के पास दर्ज कराया है मारपीट और छेड़खानी का केस

देवरिया
देवरिया जिले की देवरिया विधानसभा सीट पर टिकट बंटवारे के नाम पर कांग्रेस कार्यकर्ताओं के बीच हुई मारपीट के मामले ने तूल पकड़ लिया है। देवरिया में कांग्रेस की एक महिला कार्यकर्ता तारा यादव के साथ मारपीट के इस मामले में 4 लोगों पर केस दर्ज किया गया है। इस पूरे मामले पर प्रदेश कांग्रेस कमेटी के अध्‍यक्ष अजय कुमार लल्‍लू ने कड़ी कार्रवाई करते हुए अनुशासनहीनता करने वाले दो नेताओं को तत्‍काल प्रभाव से पार्टी से निष्‍कासित कर दिया है। कांग्रेस की इस महिला नेता ने पार्टी के जिलाध्यक्ष समेत चार नामजद और अन्य के खिलाफ मारपीट व छेड़खानी करने का आरोप लगाते हुए कोतवाली में तहरीर दी है। इसके आधार पर सभी के खिलाफ केस दर्ज किया गया है।

कांग्रेस की ओर से जारी एक बयान में अजय कुमार लल्‍लू ने इस घटना को कांग्रेस पार्टी को बदनाम करने की साजिश बताया है। अजय कुमार लल्लू के निर्देश पर इस घटना की जांच के लिए तीन सदस्‍यीय जांच समिति का गठन किया गया है। देवरिया के प्रभारी और कांग्रेस के प्रदेश सचिव कौशल कुमार त्रिपाठी ने बताया कि तीन सदस्‍यीय जांच दल में अखिल भारतीय कांग्रेस कमेटी की सदस्‍य तलत अजीज, प्रदेश महिला अध्‍यक्ष पूर्वी जोन शहला अहरारी, प्रदेश उपाध्‍यक्ष पूर्वी महिला कांग्रेस चंद्रकला पुष्‍कर को शामिल किया गया है। यह समिति तीन दिनों के भीतर अपनी जांच रिपोर्ट प्रदेश अध्‍यक्ष को सौंपेगी।

देवरिया: कांग्रेस के कार्यक्रम में महिला वर्कर से हाथापाई, हंगामा

सोशल मीडिया पर वायरल हुआ वीडियो
कौशल त्रिपाठी ने बताया कि अनुशासनहीनता करने वाले दीनदयाल यादव और अजय कुमार सैंथवार को तत्‍काल प्रभाव से पार्टी से निष्‍कासित किया गया है। उपचुनाव के लिये पार्टी द्वारा मुकुंद भास्कर मणि को प्रत्याशी बनाए जाने से तारा यादव नाखुश थीं। कांग्रेस सचिव सचिन नाइक की मौजदूगी में बैठक में हुई हाथापाई और विवाद का वीडियो सोशल मीडिया पर वायरल हो रहा है। टिकट ना मिलने से आक्रोशित तारा यादव बैठक में सचिन नाइक से हाथापाई करने लगीं। कुछ प्रत्‍यक्षदर्शियों ने बताया कि इस दौरान नाइक पर तारा यादव ने गुलदस्ता भी फेंका।

महिला कार्यकर्ता ने कहा- जिसे टिकट मिला वो रेप का आरोपी
यादव का आरोप है कि मुकुंद बलात्कार के एक मामले में आरोपी रहें हैं, इसलिए उनको टिकट नहीं दिया जाना चाहिए। जबकि मुकुंद भास्कर मणि का कहना है कि आरोप लगा था लेकिन मामला बहुत पहले ही समाप्त हो चुका है। बताया जाता है कि खुद टिकट की दावेदार रहीं तारा यादव गुलदस्ता लेकर कार्यालय के अंदर पहुंचीं। आरोप है कि तारा यादव ने गुलदस्ता देने के बहाने पार्टी के राष्ट्रीय सचिव सचिन नाइक के साथ हाथापाई की। सचिन नाइक से हो रही हाथापाई को देखकर पार्टी कार्यकर्ता भड़क गए।

जिलाध्यक्ष समेत 4 के खिलाफ केस
नाराज कार्यकर्ताओं ने कथित तौर पर तारा यादव को पीटा और उनको धक्‍का देकर बैठक से बाहर निकाल दिया। बाद में कांग्रेस की इस महिला नेता ने पार्टी के जिलाध्यक्ष समेत चार नामजद और अन्य के खिलाफ मारपीट व छेड़खानी करने का आरोप लगाते हुए कोतवाली में तहरीर दी है। इस तहरीर के आधार पर चार लोगों के खिलाफ केस दर्ज किया गया है और मामले की जांच की जा रही है।



Source link

Previous Article
Next Article

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *