नागोर्नो-काराबाख जंग का क्रूर चेहरा, अजरबैजान ने ISIS आतंकियों की तरह काटे सैनिकों के सिर, आर्मीनिया लगा रहा आरोप

Spread the love


हाइलाइट्स:

  • अजरबैजान पर आर्मीनिया ने लगाया क्रूरता का आरोप
  • सोशल मीडिया पर चल रहीं तस्वीरों का दिया हवाला
  • सैनिकों को मारकर सिर काटने का लगाया है आरोप
  • अजरबैजान का दावा, आर्मीनिया गिरा रहा मिसाइलें

बाकू/यरवन
नागोर्नो-काराबाख के विवादित क्षेत्र में पिछले कई हफ्तों से जारी जंग अब क्रूरता की ओर मुड़ गई है। न सिर्फ इसमें 600 से ज्यादा जानें जा चुकी हैं, बल्कि इसका वीभत्स चेहरा सामने आने लगा है। आर्मीनिया ने आरोप लगाया है कि उसके सैनिकों को बेरहमी के साथ सिर कलम कर मारा जा रहा है। यही नहीं, ऐसी तस्वीरें भी सामने आई हैं जिनमें आर्मीनियाई सैनिकों के सिर धड़ से अलग दिखाई दे रहे हैं। इसके साथ ही अजरबैजान पर युद्धबंदियों के मानवाधिकार उल्लंघन और जंग में आतंकियों का इस्तेमाल करने के आरोप तेज हो गए हैं।

सोशल मीडिया पर चल रहीं तस्वीरें
आर्मीनिया के रक्षामंत्रालय की प्रवक्ता शूशन स्तेपनयन ने तस्वीर ट्वीट कर आरोप लगाया है कि सोशल मीडिया पर दो वीडियो सर्कुलेट हो रहे हैं जिनमें दिख रहा है कि कैसे आर्मीनियाई सैनिकों को मार दिया गया है। उन्होंने दावा किया है कि उनके पास इसके सबूत भी हैं। वहीं, आर्तसाख ने कहा है कि यह जानते हुए कि सैनिक निहत्थे हैं या घायल हैं, उनकी हत्या किया जाना युद्ध-अपराध है। नागरिकों को मारा जाना भी अपराध है। (आर्मीनिया ने जो झकझोर देने वाली तस्वीरें शेयर की हैं वह हम आपको नहीं दिखा रहे हैं।)

आर्मीनिया ने लगाया आरोप

अजरबैजानी वर्दी में आतंकी?
इससे पहले आर्मीनिया ने वीडियो जारी कर दावा किया था कि उस पर हमले के लिए अजरबैजान ने सीरिया से आतंकवादी बुलाए हैं। आर्मीनिया सरकार के आर्मीनियाई यूनाइफाइड इन्फोसेंटर ने वीडियो जारी किया था। इसमें बताया गया था कि अजरबैजान के बॉर्डर गार्ड्स की यूनिफॉर्म में आतंकवादी भेजे जा रहे हैं। अब मारने के बाद सिर काटने की जो तस्वीरें सोशल मीडिया पर सर्कुलेट किए जाने का दावा किया जा रहा है, उसमें आतंकी संगठन इस्लामिक स्टेट का तरीका नजर आ रहा है जिससे आर्मीनिया के दावों को बल मिल रहा है।


सीरिया से आई किलिंग मशीन?
इससे पहले रिपोर्ट्स में दावा किया गया था कि पाकिस्तान और तुर्की ने ‘किलिंग मशीन’ कहे जाने वाले इन आतंकवादियों को युद्ध के लिए काफी पैसे दिए हैं। ये आतंकवादी 22 सितंबर और उसके बाद तुर्की के रास्‍ते अजरबैजान की राजधानी बाकू पहुंचे थे। भारी हथियारों से लैस इन आतंकवादियों की तादाद करीब 1 हजार बताई जा रही है। ये सभी अल हमजा ब्रिगेड के बताए जा रहे हैं। ज्‍यादातर आतंकवादी सीरिया से आए हैं। हालांकि कुछ लोगों को लीबिया से भी भेजा गया है।

वीडियो: अजरबैजान के लिए लड़ रहे सीरिया के आतंकवादी, आर्मीनिया ने जारी किए सबूत

अजरबैजान ने लगाया आर्मीनिया पर आरोप
वहीं, अजरबैजान ने दावा किया है कि आर्मीनिया अब नागोर्नो-काराबाख से अलग दूसरे क्षेत्रों में गोलीबारी कर जंग का विस्तार रहा है। अजरबैजान के रक्षा मंत्रालय ने दावा किया है कि आर्मीनिया ने मिसाइल से नाखचिवन क्षेत्र में ओर्डूबा में हमला किया है। वहीं, आर्मीनिया ने इस आरोप का खंडन किया है। दोनों देशों के बीच जंग में वहां रह रहे आम नागरिकों की हालत बेहद खराब है। सीमा के पास रह रहे लोग तहखानों में छिपकर जान बचाने के लिए मजबूर हैं। वहीं कई लोगों के घर शेलिंग और मिसाइल के हमलों में उजड़ गए हैं।

वीडियो: आर्मीनिया ने की बमों की बारिश, भाग खड़े हुए अजरबैजान के सैनिक

आर्मीनिया में गोलीबारी से हुई तबाही

आर्मीनिया में गोलीबारी से हुई तबाही



Source link

Previous Article
Next Article

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *