पाकिस्तानी आतंकियों का नया हथियार बने चीनी ड्रोन, भारतीय खुफिया एजेंसियां अलर्ट

Spread the love


इस्लामाबाद
पाकिस्तान में सरकार समर्थित आतंकवादियों और वहां की खुफिया एजेंसी आईएसआई चीन में बने ड्रोन का बड़े पैमाने पर उपयोग कर रही है। इनके जरिए न केवल सीमा पार भारत में हथियारों और ड्रग्स की तस्करी की जा रही है। बल्कि, पाकिस्तानी आतंकी इसे हथियार की तरह प्रयोग करने की तैयारी भी कर रहे हैं। भारतीय खुफिया एजेंसियों ने भी कुछ दिनों पहले ड्रोन को लेकर चिंता जताई थी। जिसके बाद से डीआरडीओ एंटी ड्रोन सिस्टम को विकसित करने पर तेजी से काम कर रहा है।

आधुनिक तकनीकी वाले ड्रोन खरीद रहे आतंकी
हिंदुस्तान टाइम्स की रिपोर्ट के अनुसार, दिल्ली में काउंटर टेररिज्म से जुड़े अधिकारियों ने कहा कि आतंकवादी समूह और आईएसआई छोटे पैमाने पर हथियारों की तस्करी करने के लिए ड्रोन का इस्तेमाल कर रहे थे। लेकिन, हाल के दिनों में उन्होंने ड्रोन के आधुनिक वर्जन को खरीदा है। ये ड्रोन एक बार में बडी मात्रा में हथियारों को लेकर जाने में सक्षम हैं।

पंजाब बार्डर से हो रही हथियारों की तस्करी
एक अधिकारी ने बताया कि जम्मू कश्मीर में एलओसी पर ऊंचे पहाड़ों और भारी बर्फबारी के कारण आतंकवादियों के लिए घुसपैठ करना आसान नहीं है। ऐसी स्थिति में कई ऐसी रिपोर्ट्स आईं हैं जिसमें कहा गया है कि आतंकी संगठन ड्रोन की मदद से पंजाब बॉर्डर के जरिए हथियारों की तस्करी कर रहे हैं। जिससे कश्मीर घाटी में उनकी आतंकी वारदातें जारी रहें।

किसान आंदोलन का फायदा उठाने की ताक में खालिस्तानी
नवीनतम रिपोर्टों से यह भी पता चलता है कि पाकिस्तान स्थित खालिस्तानी समूहों को भी पंजाब में किसानों के आंदोलन का फायदा उठाने की ताक में हैं। इसके जरिए वे पंजाब में फिर से आतंकवाद को बढ़ावा देने की कोशिश में जुटे हुए हैं। ऐसी रिपोर्ट्स को कई बार राज्य पुलिस द्वारा केंद्र और आंतरिक सुरक्षा एजेंसियों को सूचित किया गया है। अकेले पंजाब में 12 अगस्त से अब तक चीन में बने चार ड्रोन से भारी मात्रा में हथियार बरामद किए हैं।

ड्रोन के जरिए हमला कर सकते हैं आतंकी संगठन
पाकिस्तान की खुफिया एजेंसी आईएसआई आतंकियों को छोटे बम हमलों को अंजाम देने के लिए सस्ते ड्रोन का विकल्प तलाश रही है। हाल में ही दुनियाभर के कई हिस्सों में यह देखा गया है कि ड्रोन के जरिए हमला कर विरोधी पक्ष को भारी नुकसान पहुंचाया गया है। इसका प्रयोग हाल में ही हुए आर्मीनिया अजरबैजान युद्ध के दौरान भी देखने को मिला था।

बॉर्डर पर ड्रोन को लेकर बीएसएफ अलर्ट
सीमा सुरक्षा बल के महानिदेशक राकेश अस्थाना ने मंगलवार को बल के स्थापना दिवस समारोह में चुनौती को लेकर संकेत दिया था। 20 जून को जम्मू के कठुआ सेक्टर में हथियारों और गोला-बारूद के साथ एक ड्रोन को बीएसएफ ने मार गिराया था। बीएसएफ ने कहा कि पश्चिमी सीमा पर ड्रोन घुसपैठ का मुकाबला करने के लिए तकनीकी समाधान खोजने के लिए भी काम किया जा रहा है।



Source link

Previous Article
Next Article

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *