पाकिस्तानी पीएम इमरान खान के पार्टी PTI की वेबसाइट हुई ऑफलाइन, हैक होने की खबर

Spread the love


इस्लामाबाद
पाकिस्तान के प्रधानमंत्री इमरान खान की पार्टी पाकिस्तान तहरीक ए इंसाफ की वेबसाइट सोमवार को अचानक ऑफलाइन हो गई। जिसके बाद से सोशल मीडिया में यह खबर तेजी से फैल रही है कि इमरान की पार्टी की वेबसाइट को कुछ अज्ञात हैकर्स ने हैक कर लिया है। इसी के कारण पार्टी ने अपनी वेबसाइट को सुधार होने तक के लिए ऑफलाइन कर दिया है। पाकिस्तान तहरीक ए इंसाफ की वेबसाइट को खोलने पर एरर का मैसेज दिखाई दे रहा है।

पहले भी कई बार हैक हो चुकी है पीटीआई की वेबसाइट
इमरान खान की पार्टी की वेबसाइट पहले भी कई बार हैक हो चुकी है। 16 जनवरी 2018 को वायस ऑफ पाकिस्तान नाम के हैकर्स के ग्रुप ने इसे हैक किया था। हैकर्स ने वेबसाइट के मेन पेज पर इमरान खान को निशाने पर लेते हुए कई मैसेज भी लिखे थे। अगस्त 2017 में भी पीटीआई की वेबसाइट को हैक किया गया था।

पाकिस्तान में राजनीतिक सरगर्मी तेज
इस समय पाकिस्तान में राजनीतिक हालात बेहद गरम हैं। इमरान खान के खिलाफ पाकिस्तान की विपक्षी पार्टियों ने गठबंधन किया है। जिसमें उनके प्रमुख प्रतिद्वंदी पाकिस्तानी पीपुल्स पार्टी के आसिफ अली जरदारी और पीएमएल के प्रमुख नवाज शरीफ शामिल हैं। विपक्षी गठबंधन ने पाकिस्तान के प्रधानमंत्री इमरान खान का तत्काल इस्तीफा देने की मांग की है।

वेबसाइट खोलने पर दिख रहा यह मैसेज

क्‍यों पाकिस्‍तानी सेना पर हमलावर हैं नवाज शरीफ
पाकिस्तान मुस्लिम लीग- नवाज के प्रमुख शरीफ (70) पिछले साल नवंबर से लंदन में रह रहे हैं। लाहौर उच्च न्यायालय ने उन्हें इलाज के वास्ते चार हफ्तों के लिए विदेश जाने की इजाजत दी थी। पाकिस्‍तानी मीडिया के मुताबिक नवाज शरीफ इस जोरदार हमले के जरिए पाकिस्‍तानी सेना से डील करना चाहते हैं। दरअसल, एक तरफ लंदन से नहीं आने पर नवाज शरीफ को भगोड़ा घोषित किया गया है, वहीं उनकी बेटी मरियम नवाज शरीफ चाहकर भी अपने पिता के पास नहीं जा पा रही हैं।

बिलावल भुट्टों ने सभी विपक्षियों को किया एकजुट
बेनजीर भुट्टो और आसिफ अली जरदारी के बेटे बिलावल भुट्टो काफी पहले से इमरान के खिलाफ विपक्ष को एकजुट करने का प्रयास कर रहे थे। इमरान खान सरकार ने सभी विपक्षी नेताओं पर किसी न किसी आरोप में मुकदमा दर्ज किया हुआ है। जिसके बाद विपक्षी पार्टियां इमरान खान सरकार को हटाने के लिए एकजुट हो रही हैं। माना जा रहा है कि अगले चुनाव में ये पार्टियां गठबंधन भी कर सकती हैं।



Source link

Previous Article
Next Article

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *