पानीपतः पति ने डेढ़ साल से पत्नी को टॉइलट में बंद करके रखा था, बाहर निकाला गया तो हालत देखकर हर कोई रो पड़ा

Spread the love


हाइलाइट्स:

  • रामरति को उसके पति नरेश ने डेढ़ साल पहले टॉइलट में किया था बंद
  • नहीं देता था ठीक से खाना, करता था पिटाई, सूचना पर पहुंची टीम ने कराया रेस्क्यू
  • बाहर आते ही महिला ने मांगा खाना, शरीर हो चुका है कंकाल, अस्पताल में कराई गई भर्ती
  • पति का दावा मानसिक रूप से है बीमार, कहीं न जाए इसलिए किया था बंद

पानीपत
हरियाणा के पानीपत में एक हैरान कर देने वाला मामला सामने आया है। यहां एक पति ने अपनी पत्नी को डेढ़ साल से बाथरूम में बंद करके रखा था। पति उसे पीटता था, खाने को नहीं देता था। जब महिला को बाथरूम से बाहर निकाला गया तो उसका शरीर किसी कंकाल की तरह हो गया है। बाहर आते ही सबसे पहले महिला ने खाना मांगा तो उसकी हालत देखकर वहां मौजूद हर एक शख्स की आंखों से आंसू आ गए।

मामला जिले के सनौली इलाके का है। यहां पर रिशपुर गांव में एक महिला रामरति (35) को उसके पति नरेश ने करीब डेढ़ साल पहले घर के टॉइटल में बंद कर दिया था। तब से लगातार उसने महिला को टॉइलट में ही बंधक बनाकर रखा।

घर के बाहर ताश खेल रहा था पति
महिला को रेस्क्यू कराने के लिए जब पुलिस और महिला सुरक्षा की टीम नरेश के घर पहुंची तो वह घर के बाहर कुछ लोगों के साथ बैठकर ताश खेल रहा था। टीम ने उससे रामरती के बारे में पूछा तो उसने साफ जवाब नहीं दिया। सख्ती करने पर वह टीम को घर की पहली मंजिल पर ले गया। यहां पर उसने टॉइलट की तरफ इशारा किया। टीम ने दरवाजा खोला तो उसके अंदर एक महिला बैठी थी।

महिला को नहलाया गया

हालत देखकर रोंगटे हो गए खड़े
महिला के शरीर पर मैले-कुचैले कपड़े थे। शरीर में बुरी तरह से गंदगी लिपटी हुई थी। शरीर कंकाल की तरह था। बालों में गुच्छे ऐसे पड़ गए थे। उसके शरीर से बदबू आ रही थी। महिला को देखकर साफ लग रहा था कि वह काफी समय से टॉइलट के बाहर नहीं आई थी। न तो उसने नहाया था न ही कपड़े बदले थे।

नहलाया गया तो मांगी चूड़ी, बिंदी
महिला ठीक से उठ भी नहीं पा रही थी। टीम ने उसे उठाकर बाहर निकाला तो उसने खाने के लिए रोटी मांगी। उसे बाहर निकालकर नहलाया गया। साफ कपड़े पहनाए गए तो उसने चूड़ियां, बिंदी और लिप्स्टिक भी लागने को मांगी। जिसके बाद उसे अच्छे से तैयार किया गया।

टॉइलट में बैठी महिला

टॉइलट में बैठी महिला


नरेश ने कहा इसलिए टॉइलट में किया था बंद

नरेश ने दावा किया कि दस साल पहले रामरति के पिता और भाई की मौत हो गई थी। उसके बाद से वह मानसिक बीमार हो गई थी। वह किसी को नुकसान न पहुंचाए और कहीं चली न जाए इसलिए उसने, रामरति को टॉइलट में बंद करके रखा था। हालांकि पति से जब रामरति के इलाज के कागज मांगे गए तो वह नहीं दिखा सका। पुलिस ने बताया कि आरोपी पति नरेश के खिलाफ विभिन्न धाराओं में केस दर्ज कर लिया गया है। रामरति को अस्पताल में इलाज के लिए भर्ती कराया गया है।



Source link

Previous Article
Next Article

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *