प्रधानमंत्री आवास में नरेंद्र मोदी का मोर प्रेम! देखिए सारी तस्‍वीरें

Spread the love


प्रधानमंत्री आवास में रहते हुए नरेंद्र मोदी को वहां के मोरों से खास लगाव हो गया है। इंस्‍टाग्राम पर पोस्‍ट एक वीडियो में मोदी ने एक झलक दिखाई है कि कैसे वह रोज मोर को दाना खिलाते हैं, साथ टहलते हैं। प्रधानमंत्री आवास की इन तस्‍वीरों में नीले मोर दिख रहे हैं जो भारत का राष्‍ट्रीय पक्षी है। मोदी मॉर्निंग वॉक पर निकलते हैं तो मोर भी रास्‍ते में टहलते रहते हैं। शाम को टहलते हुए भी मोर से सामना हो जाता है। बाहर मन मन नहीं भरता मोर भीतर चले आते हैं। अंदर भी मोदी उनकी भूख का पूरा ख्‍याल रखते हैं।

रोज सुबह का यही कार्यक्रम!

पीएम मोदी का जो वीडियो आया है, उससे यही लगता है कि लॉकडाउन में पीएम मोदी का यही रूटीन था। वह हाथ में प्‍लेट लेकर मोर का इंतजार करते नजर आ रहे हैं।

मोर को अपने हाथों से खिलाया

बीच-बीच में पीएम हाथों में दाने लेकर भी मोर को खिलाते दिखे। प्रधानमंत्री मोदी जलवायु और वन संरक्षण पर मुखर रहे हैं। उन्‍होंने ‘Convenient Action: Gujarat’s Response to Challenges of Climate Change’ और ‘Convenient Action- Continuity for Change’ नाम से दो किताबें लिखी हैं जिसमें उन्‍होंने अपना विजन सामने रखा है।

भीतर भी वही हाल

प्रधानमंत्री आवास के लॉन की बात तो जुटा है मगर भीतर भी मोरों की बेरोकटोक एंट्री है। पर्यावरण संरक्षण के लिए मोदी ने इंटरनैशनल सोलर अलायंस खड़ा करने में महती भूमिका निभाई है।

मजे से खाते हैं मोर

पालथी मारकर बैठे पीएम मोदी के हाथों से उठाकर खाने में मोर को भी लुत्‍फ आ रहा है।

पक्षियों से है मोदी को लगाव

पीएम ने अपने तमाम संवादों में प्रकृति और पक्षियों के साथ लगाव को सामने रखा है। आम चुनाव से ठीक पहले वह डिस्कवरी चैनल के लोकप्रिय कार्यक्रम मैन वर्सेज वाइल्ड में बेयर ग्रिल्स के साथ दिखे थे। उनकी एक किताब ‘आंख आ धन्‍य छे’ में प्रकृति पर कई कविताएं हैं।

साथ में टहलते हैं मोर

जब वह लोक कल्याण मार्ग स्थित अपने आवास पर एक्सरसाइज करते हैं तो मोर उनके पास घूमते हुए देखे जा सकते हैं।

पीएम मोदी का ओल्‍डएज लुक

इस वीडियो में यह भी दिखा है कि उन्होंने अपने आवास को ग्रामीण परिवेश के सथ ढाला है जिसमें ऐसा चबूतरा बनाया गया है जहां पक्षी अपना घोसला बना सकती है।

देखिए पूरा वीडियो

View this post on Instagram

भोर भयो, बिन शोर, मन मोर, भयो विभोर, रग-रग है रंगा, नीला भूरा श्याम सुहाना, मनमोहक, मोर निराला। रंग है, पर राग नहीं, विराग का विश्वास यही, न चाह, न वाह, न आह, गूँजे घर-घर आज भी गान, जिये तो मुरली के साथ जाये तो मुरलीधर के ताज। जीवात्मा ही शिवात्मा, अंतर्मन की अनंत धारा मन मंदिर में उजियारा सारा, बिन वाद-विवाद, संवाद बिन सुर-स्वर, संदेश मोर चहकता मौन महकता।

A post shared by Narendra Modi (@narendramodi) on





Source link

Previous Article
Next Article

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *