फारूक अब्दुल्ला से ED की पूछताछ पर बोले राहुल गांधी, एजेंसियों को राजनीतिक हथियार की तरह इस्तेमाल कर रही सरकार

Spread the love


नई दिल्ली
कांग्रेस के पूर्व अध्यक्ष राहुल गांधी ने केंद्र सरकार पर हमला बोला है। राहुल गांधी ने सरकार पर आरोप लगाया है कि वो तमाम एजेंसियों को राजनीतिक हथियार की तरह इस्तेमाल कर रही है। उन्होंने कहा कि अगर कोई राजनीतिक रूप से वो नहीं करता जो वो चाहते हैं तो उन्हें लगता है कि वो CBI और ED का इस्तेमाल उन पर दबाव बनाने के लिए कर सकते हैं।

राहुल गांधी ने सरकार पर लगाया आरोप
पिछले कुछ महीनों से राहुल गांधी लगातार सरकार पर हमलावर रहे हैं, कभी वो बेरोजगारी के मुद्दे को लेकर तो कभी कृषि बिल को लेकर सरकार की आलोचना कर रहे हैं। हाल ही में फारूक अब्दुल्ला से हुई ED की पूछताछ पर राहुल गांधी ने कहा कि मौजूदा सरकार एजेंसियों को राजनीतिक हथियार की तरह इस्तेमाल कर रही है। उन्होंने कहा कि कई लोग इसका सामना कर रहे हैं, मैं भी इसका सामना कर रहा हूं। मेरे खिलाफ कई मामले हैं।

112 करोड़ के घोटाले में फारूक अब्दुल्ला से ED ने की पूछताछ, कार्रवाई के बाद बोले- चाहे फांसी पर चढ़ा दो…

सोमवार की हुई थी पूछताछ
दरअसल, सोमवार को पूर्व सीएम तथा मौजूदा सांसद फारूक अब्दुल्ला से ईडी ने पूछताछ की थी। फारूक अब्दुल्ला से प्रवर्तन निदेशालय की टीम ने सोमवार को करीब 7 घंटे तक पूछताछ की है। यह पूछताछ जम्मू कश्मीर क्रिकेट एसोसिएशन में करोड़ों रुपयों के हुए घोटाले में की गई है। जिस समय यह घोटाला हुआ था, उस वक्त फारूक अब्दुल्ला ही इसके चीफ थे। वहीं पूछताछ के बाद फारूक अब्दुल्ला ने यह जरूर कहा कि चाहे सरकार उन्हें फांसी पर चढ़ा दे, लेकिन वह 370 की बहाली का संघर्ष करते रहेंगे।

ये है पूरा मामला
जानकारी के अनुसार BCCI ने 2002 से 2011 के बीच राज्य में क्रिकेट सुविधाओं के विकास के लिए जम्मू-कश्मीर को कुल 112 करोड़ रुपये दिए थे। केंद्र की ओर से मिली इस राशि को लेकर जमकर भ्रष्टाचार हुआ। इस मामले की जांच बाद में सीबीआई को सौंपी गई थी। CBI ने जम्मू कश्मीर क्रिकेट संघ के कोष में गबन के मामले में फारूक अब्दुल्ला समेत उस समय के महासचिव मोहम्मद सलीम खान, कोषाध्यक्ष अहसान अहमद मिर्जा और जेएंडके बैंक के एक कर्मचारी बशीर अहमद मिसगर पर आरोपपत्र दाखिल किया था।



Source link

Previous Article
Next Article

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *