‘फेसबुक-बीजेपी गठजोड़’ पर एक और रिपोर्ट, कांग्रेस ने मार्क जकरबर्ग से फिर पूछा- बताइए, क्‍या कर रहे?

Spread the love


हाइलाइट्स:

  • पहले द वॉल स्‍ट्रीट जर्नल और अब TIME मैगजीन में छपी रिपोर्ट
  • दोनों में दावा- फेसबुक, वॉट्सऐप के टॉप अधिकारी बीजेपी के पक्ष में
  • कांग्रेस ने की जेपीसी जांच की मांग, जकरबर्ग को भी भेजा लेटर
  • फेसबुक से पूछा- बताइए खुलासों के बाद आप कैसे कर रहे जांच

नई दिल्‍ली
फेसबुक और बीजेपी में ‘सांठ-गांठ’ का आरोप लगाने वाली एक रिपोर्ट को कांग्रेस ने बेहद गंभीरता से लिया है। पहले द वॉल स्‍ट्रीट जर्नल (WSJ) और अब TIME मैगजीन में छपे लेखों में कंपनी पर बीजेपी को फेवर करने का आरोप है। शनिवार को कांग्रेस ने इस मामले में संयुक्‍त संसदीय समिति से जांच की मांग की। ऑल इंडिया कांग्रेस कमिटी (AICC) महासचिव केसी वेणुगोपाल ने फेसबुक संस्‍थापक मार्क जकरबर्ग को फिर चिट्ठी लिखी है। कांग्रेस जानना चाहती है कि फेसबुक इन खुलासों पर क्‍या ऐक्‍शन ले रही है। पिछले 14 दिन में कांग्रेस की फेसबुक का यह दूसरी चिट्ठी है।

फेसबुक के खिलाफ कोर्ट जाएगी कांग्रेस?
कांग्रेस ने अपने पत्र में कहा है कि वॉट्सऐप (फेसबुक के स्‍वामित्‍व वाली ऐप) ने खुद को हेट स्‍पीच का माध्‍यम बनने दिया। पार्टी ने जकरबर्ग से कहा है कि वॉट्सऐप से भारत का सामाजिक ताना-बाना नष्‍ट हो गया है। वेणुगोपाल ने चिट्ठी में लिखा है, “हम आपसे जानना चाहते हैं कि इन मामलों की जांच के लिए आपकी कंपनी क्‍या कदम उठा रही है… हम विधायी और न्‍यायिक विकल्‍पों को भी आजमाएंगे ताकि कोई विदेशी कंपनी हमारे देश में निजी लाभ के लिए सामाजिक वैमनस्‍य न फैलाती रह सके।”

सिब्बल अब भी दुखी, बोले- CWC में हम पर हमले हो रहे थे, तब किसी ने बचाव नहीं किया

वॉट्सऐप को लाइसेंस से पहले आश्‍वासन दे केंद्र
शनिवार को कांग्रेस अध्‍यक्ष सोनिया गांधी ने नरेंद्र मोदी सरकार पर ‘लोकतंत्र के बजाय तानाशाही को बढ़ावा’ देने का आरोप लगाया है। उन्‍होंने कहा कि मोदी सरकार ने समाज में नफरत फैलाई। कांग्रेस ने कहा कि दो अमेरिकी प्रकाशनों ने खुलासा किया है कि फेसबुक ने जनता को बरगलाने में बीजेपी की मदद की। पार्टी ने आरोप लगाया कि ‘सरकारी अप्रूवल के लिए वॉट्सऐप ने खुद को बीजेपी के हाथों कंट्रोल होना स्‍वीकार कर लिया।’ कांग्रेस प्रवक्‍ता पवन खेड़ा ने कहा कि “वॉट्सऐप पे को लाइसेंस देने से पहले ये 40 करोड़ उपभोक्ताओं को ये आश्वासन दें कि उनका डेटा सुरक्षित है या नहीं। फेसबुक इंडिया की गतिविधियों को लेकर आला अधिकारियों के साथ जो जांच बैठाई गयी है, उसे सार्वजनिक किया जाए।”

उत्तराखंड बीजेपी अध्यक्ष बंशीधर भगत बोले- मोदी लहर के सहारे नैया पार नहीं होगी

खेड़ा ने आरोप लगाया कि “वो दो तीन सालों से प्रयास कर रहे हैं कि वॉट्सऐप पे’ नाम का एक काम शुरु करें जो पेमेंट का एक साधन बन जाए। इसका लाइसेंस देने का काम सरकार हो होता है और उस पर वॉट्सऐपसरकार को खुश करने के लिए सब कुछ करेगा ताकि वो लाइसेंस उनको मिल जाए।” कांग्रेस के पूर्व अध्‍यक्ष राहुल गांधी ने भी TIME की रिपोर्ट ट्वीट कर बीजेपी सरकार पर निशाना साधा।



Source link

Previous Article
Next Article

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *