बच्चों की तस्वीर शेयर कर संजय दत्त की पत्नी मान्यता ने की ईश्वर से दुआ, लिखा- तुम्हारे सुकून की रक्षा करें भगवान

Spread the love


संजय दत्त की पत्नी मान्यता दत्त जो कि अपने बच्चों शाहरान और इकरा के साथ कोरोना की वजह से दुबई में फंसी थीं, वह ऐक्टर के लंग कैंसर की खबर सुनकर वापस इंडिया लौट आई हैं। फिलहाल संजय दत्त का इलाज इंडिया में ही चल रहा है। मान्यता ने सोशल मीडिया पर एक इमोशनल पोस्ट किया है।

संजय दत्त को मिला अमेरिका जाने के लिए 5 साल का वीजा

लेटेस्ट रिपोर्ट के मुताबिक, वह इलाज के लिए यूएस जाने की तैयारी कर रहे हैं। एक न्यूज पोर्टल की रिपोर्ट के मुताबिक, संजय को कैंसर का पता चलते ही उन्होंने यूएस के वीजा के लिए अप्लाई कर दिया था। हालांकि शुरुआत में उन्हें क्लीयरेंस मिलने में मुश्किल आ रही थी क्योंकि वह 1993 ब्लास्ट के दोषियों में से एक हैं। उनके एक करीबी दोस्त ने उनको मेडिकल ग्राउंड्स पर 5 साल का वीजा दिलवा दिया है। अब उम्मीद है कि वह अपनी पत्नी मान्यता और बहन प्रिया के साथ न्यूयॉर्क जाकर कैंसर का इलाज करवाएंगे।

मान्यता ने लिखी दिल को छूने वाली बातें

मान्यता ने इंस्टाग्राम पर अपने दोनों बच्चों की तस्वीर पोस्ट कर कुछ इमोशनल बातें लिखी हैं, जो सीधे दिल को छूती हैं।

‘ईश्वर तुम्हारे सुकून की रक्षा करें’

मान्यता ने तो इस पोस्ट में तस्वीर शेयर की है उसमें दोनों बच्चों के चेहरे पर खिली हुई मुस्कुराहट नजर आ रही हैं।

मान्यता ने लिखा है, ‘चीजें बदल रही हैं… ईश्वर… तुम्हारे सुकून की रक्षा करें…तुम्हारी प्रार्थनाओं का जवाब दें। #love #grace #positivity #dutts #ganpatibappamorya #beautifullife #thankyougod.’

त्रिशाला ने हाथ जोड़ने वाली इमोजी पोस्ट की

मान्यता के इस पोस्ट पर जहां संजय दत्त की बेटी त्रिशाला ने हाथ जोड़ने वाली इमोजी पोस्ट की वहीं परेश रावल ने लिखा- ईश्वर का तोहफा।

घर पर रखी बप्पा की मूर्ति

बता दें कि संजय और मान्यता ने इस बार भी अपने घर पर गणपति रखा और इस सेलिब्रेशन की तस्वीरें अपने इंस्टाग्राम पर पोस्ट की थीं। मान्‍यता दत्त ने अपनी इंस्‍टा स्‍टोरी पर कुछ तस्‍वीरें और वीडियोज शेयर किए हैं। वीडियो में संजय दत्त पत्‍नी और बच्‍चों के साथ गणेश जी की आरती करते हुए नजर आए।

बप्पा की आरती



Source link

Previous Article
Next Article

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *