बढ़ी MSP पर पीएम मोदी बोले- सशक्त होंगे किसान, जल्द होगी दोगुनी आय

Spread the love


नई दिल्ली
कृषि विधेयक के विरोध के बीच ही सरकार ने सोमवार को रबी की फसलों (Rabi Crops) के लिए न्यूनतम समर्थन मूल्य (Minimum Support Price)की नई दरें जारी कर दीं। कांग्रेस इन विधेयकों को किसान विरोधी बता रही है औऱ सड़क पर उतरने को तैयार है। वहीं प्रधानमंत्री मोदी ने कहा कि बढ़ी हुई एमएसपी किसानों को सशक्त करेगी और आय को दोगुनी करने में मदद करेगी।

पीएम मोदी ने ट्वीट करके कहा, ‘अधिक एमएसपी जहां किसानों को सशक्त करेगी, वहीं उनकी आय दोगुनी करने में भी मदद करेगी। कृषि सुधारों को संसद की मंजूरी के साथ बढ़ी हुई एमएसपी से अन्नदाताओं की गरिमा और समृद्धि सुनिश्चित होगी। जय किसान!’ गृह मंत्री अमित शाह ने भी इस कदम को केंद्र सरकार का सार्थक प्रयास बताया।

केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह ने गेहूं व चना सहित रबी की छह फसलों के न्यूनतम समर्थन मूल्य (एमएसपी) में वृद्धि किए जाने के फैसले को ‘ऐतिहासिक’ करार देते हुए सोमवार को इसे किसानों की आय दोगुनी करने की दिशा में केंद्र सरकार का सार्थक प्रयास बताया। उन्होंने सिलसिलेवार ट्वीट कर संसद से पारित कृषि उपज व्यापार और वाणिज्य (संवर्द्धन और सुविधा) विधेयक-2020 और कृषक (सशक्तिकरण एवं संरक्षण) कीमत आश्वासन समझौता और कृषि सेवा पर करार विधेयक-2020 का विरोध करने के लिए विपक्षी दलों को आड़े हाथों लिया और कहा कि इन कृषि सुधार विधेयकों का विरोध करने वाले लोग असल में किसानों की खुशहाली के विरोधी हैं।

शाह ने कहा कि मोदी सरकार का हर दिन, हर क्षण किसानों और गरीबों के कल्याण के प्रति समर्पित रहा है तथा आज छह रबी फसलों की एमएसपी बढ़ाकर उसने अपने उसी संकल्प को पुनः दोहराया है। उन्होंने कहा, ‘मोदी जी ने रबी फसलों की एमएसपी में ऐतिहासिक वृद्धि कर किसानों की आय को दोगुना करने की दिशा में सार्थक प्रयास किया है।’ कांग्रेस पर निशाना साधते हुए शाह ने कहा कि जो लोग किसानों को भड़का कर अपनी खोई राजनीतिक जमीन ढूंढ़ने का प्रयास कर रहे हैं, उन्होंने 2009-14 तक सत्ता में रहते हुए किसानों से मात्र 1.25 लाख मीट्रिक टन दाल खरीदी जबकि मोदी सरकार ने 2014-19 में 76.85 लाख मीट्रिक टन दाल खरीदी। उन्होंने कहा कि इतना बड़ा फर्क उनके ढोंग और मोदी जी के समर्पण को साफ दर्शाता है।

बीजेपी अध्यक्ष जे पी नड्डा ने आर्थिक मामलों की मंत्रिमंडल समिति (सीसीईए) द्वारा गेहूं व चना सहित रबी की छह फसलों के न्यूनतम समर्थन मूल्य (एमएसपी) में वृद्धि किए जाने के फैसले का स्वागत करते हुए विपक्षी दलों पर निशाना साधा कि इससे संसद में पारित कृषि सुधार विधेयकों को बारे में किसानों को भ्रमित करने वालों का चेहरा बेनकाब हो गया है। नड्डा ने एमएसपी संबंधित केंद्र सरकार के फैसले के तत्काल बाद सिलसिलेवार ट्वीट करते हुए कहा, ‘केंद्र सरकार ने न केवल एमएसपी में वृद्धि की है बल्कि किसानों के पारिश्रमिक मूल्य को सुनिश्चित करने के लिए एमएसपी पर खरीद भी बढ़ाई है। बिना तथ्यों के आधार पर किसानों को भ्रमित करने वाले लोगों का झूठा चेहरा आज बेनकाब हो गया है, उन्हें अब हमारे अन्नदाता भाइयों बहनों से माफी मांग लेनी चाहिए।’



Source link

Previous Article
Next Article

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *