बढ़ सकती हैं खट्टर सरकार की मुश्किलें! JJP ने कहा- MSP पर आई आंच तो डिप्टी सीएम दुष्यंत चौटाला दे देंगे इस्तीफा

Spread the love


नई दिल्ली
हरियाणा में बीजेपी सरकार की सहयोगी जननायक जनता पार्टी (JJP) ने किसान आंदोलन (Farmers Protest) पर बड़ा बयान दिया है। पार्टी ने कहा है कि हरियाणा सरकार में दुष्यंत चौटाला (Dushyant Chuatala) के उपमुख्यमंत्री रहते हुए फसलों के न्यूनतम समर्थन मूल्य (एमएसपी) पर किसी तरह की आंच नहीं आने दी जाएगी। अगर, किसानों को एमएसपी पर नुकसान हुआ तो फिर दुष्यंत चौटाला पद से इस्तीफा दे देंगे। जेजेपी ने केंद्र सरकार से आंदोलनरत किसानों की एमएसपी आदि से जुड़ीं मांगों का जल्द हल निकालने को कहा है।

‘जेजेपी हमेशा किसानों के साथ खड़ी रहने वाली पार्टी’
जननायक जनता पार्टी (जेजेपी) के राष्ट्रीय प्रवक्ता प्रतीक सोम ने आईएएनएस से कहा, ‘हम किसानों से कहना चाहते हैं कि उपमुख्यमंत्री दुष्यंत चौटाला के चंडीगढ़ में रहते हुए एमएसपी पर किसी तरह की आंच नहीं आएगी। बावजूद इसके अगर किसानों को एमएसपी को लेकर किसी तरह का नुकसान होता दिखा तो पहला इस्तीफा दुष्यंत चौटाला का होगा। जेजेपी हमेशा किसानों के साथ खड़ी रहने वाली पार्टी है।’

इसे भी पढ़ें:- किसान कर रहे हैं एमएसपी पर फसलों की गारंटी की मांग, जानिए सरकार के लिए क्यों है मुश्किल

जेजेपी ने केंद्र सरकार से किसानों को लेकर की ये मांग
हार्वर्ड लॉ स्कूल से भी पढ़ाई कर चुके और पेशे से सुप्रीम कोर्ट के वकील जेजेपी के राष्ट्रीय प्रवक्ता प्रतीक सोम ने कहा, ‘चौधरी देवीलाल की विचारधारा वाली जेजेपी एक प्रो-फॉर्मर पार्टी है। जेजेपी ने केंद्र सरकार से किसानों की सभी मांगों पर सहानुभूतिपूर्वक विचार करने की मांग की है। एमएसपी पर सरकार से ठोस आश्वासन मिलना जरूरी है। उम्मीद है कि केंद्र सरकार किसानों से बातचीत कर मुद्दों को सुलझाएगी। जिससे गतिरोध दूर हो सकेगा।’

किसान आंदोलन: कैप्टन के आरोपों पर जमकर बरसे केजरीवाल

अजय चौटाला भी कर चुके हैं केंद्र से एमएसपी पर कानून बनाने की मांग
इससे पूर्व जननायक जनता पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष और पूर्व सांसद अजय सिंह चौटाला, केंद्र सरकार से एमएसपी पर कानून बनाने की मांग कर चुके हैं। उन्होंने मंगलवार को एक बयान में कहा था कि किसानों की मांगों पर केंद्र को विचार करते हुए आम सहमति से हल निकालना चाहिए। सरकार को आंदोलनरत किसानों की परेशानी को जल्द से जल्द दूर करना चाहिए। एमएसपी को एक्ट में शामिल करने पर भी केंद्र को विचार करना चाहिए।

‘दिल्ली हमारी पांडवन की… वा की औलाद हैं हम… मर जाएंगे, तब चले जाएंगे’

जेजेपी के बदले तेवर से कैसे मुश्किल में घिर सकती है खट्टर सरकार
दरअसल, हरियाणा में मनोहर लाल खट्टर सरकार को सहयोग देने वाली जेजेपी का आधार वोटर जाट और किसान माने जाते हैं। किसान आंदोलन के कारण एनडीए सहयोगी जेजेपी पर काफी दबाव है। पार्टी अपने कोर वोटर्स को नाराज नहीं करना चाहती। सूत्रों के मुताबिक, यही वजह है कि हरियाणा में किसानों के विरोध-प्रदर्शन को पार्टी के नेता समर्थन दे चुके हैं। हरियाणा के उपमुख्यमंत्री दुष्यंत चौटाला आश्वासन दे चुके हैं कि उनके रहते किसानों के हितों पर आंच नहीं आने दी जाएगी। हरियाणा में पिछले साल हुए विधानसभा चुनाव में बहुमत से बीजेपी के चूक जाने पर जेजेपी के दस विधायकों के समर्थन से मनोहर लाल खट्टर की सरकार चल रही है।



Source link

Previous Article
Next Article

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *