बालासोर तट पर DRDO ने किया शॉर्ट रेंज बैलिस्टिक मिसाइल पृथ्वी का सफल परीक्षण

Spread the love


हाइलाइट्स:

  • शॉर्ट रेंज बैलिस्टिक मिसाइल पृथ्वी का सफल परीक्षण
  • अंधेरे में दागी गई DRDO की तैयार अत्याधुनिक मिसाइल
  • ITR के प्रक्षेपण परिसर-3 से एक मोबाइल लॉंचर से दागा गया

बालासोर
रक्षा के क्षेत्र में खुद को और मजबूत बनाते हुए भारत ने बड़ी सफलता हासिल की है। स्ट्रेटेजिक फोर्स कमांड (SFC) ने भारतीय रक्षा अनुसंधान और विकास संगठन (DRDO) द्वारा तैयार शॉर्ट रेंज बैलिस्टिक मिसाइल (Prithvi short-range ballistic missile) पृथ्वी का सफल परीक्षण किया है।

ओडिशा के बालासोर तट पर बुधवार को अंतरिम टेस्ट रेंज से इस मिसाइल का सफलतापूर्वक परीक्षण किया गया। इस मिसाइल ने अपने मिशन के हर उद्देश्य को पूरा किया, जिसे SFC ने निर्धारित किया था। सतह से सतह पर मार करने वाली यह मिसाइल परमाणु हथियार ले जाने में सक्षम है।

प्राप्त जानकारी के अनुसार चांदीपुर स्थित एकीकृत परीक्षण केंद्र (ITR) से इस अत्याधुनिक मिसाइल को अंधेरे में दागा गया। यह परीक्षण सफल रहा, जिसने सभी मानकों को प्राप्त कर लिया। DRDO के एक अधिकारी ने बताया कि 350 किलोमीटर की दूरी तक मार करने वाली इस मिसाइल को आईटीआर के प्रक्षेपण परिसर-3 से एक मोबाइल लॉंचर से दागा गया।

बता दें कि पृथ्वी, सतह से सतह पर मार करने वाली शॉर्ट रेंज बैलिस्टिक मिसाइल है। करीब आधे टन का वारहेड उठा सकने में सक्षम यह मिसाइल 150 से 600 Km तक वार कर सकती है। पृथ्वी सीरिज की तीन मिसाइलें हैं- पृथ्वी-I, II, III। इनकी मारक क्षमता क्रमशः 150 Km, 350 Km और 600 Km तक है।



Source link

Previous Article
Next Article

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *