बाहुबली विधायक विजय मिश्रा पर 5.7 लाख का जुर्माना, सरकारी जमीन पर कब्जे में बेदखली आदेश

Spread the love


भदोही
यूपी के बाहुबली विधायक विजय मिश्रा की मुश्किलें बढ़ती जा रही हैं। भदोही के ज्ञानपुर से विधायक विजय मिश्रा पर अदालत ने जमीन कब्जे के मामले में जुर्माना ठोका है। तहसीलदार देवेंद्र यादव की अदालत ने सरकारी जमीन से उन्हें बेदखल कर दिया है। साथ ही विधायक के ऊपर 5 लाख 70 हजार रुपये का जुर्माना भी लगाया गया है।

जानकारी के मुताबिक ज्ञानपुर तहसीलदार की अदालत ने अपने फैसले पर कहा कि तहसील ज्ञानपुर के नवधन गांव में आरजी संख्या 140-2 ग भूमि का टुकड़ा ऊसर जमीन के तहत दर्ज है। इस जमीन पर विजय मिश्रा का कब्जा है। उनको उक्त जमीन से बेदखल किया जाता है। इसके साथ ही क्षतिपूर्ति के रूप में विजय मिश्रा पर 5 लाख 70 हजार का जुर्माना भी लगाया जाता है। इसके साथ ही राजस्व निरीक्षक को आदेश जारी किया गया है कि आवश्यक पुलिस बल के साथ बेदखली की कार्रवाई की जाए। विधायक से क्षतिपूर्ति वसूलने के निर्देश दिए गए हैं।

कोर्ट का आदेश

भदोही विधायक ने की थी शिकायत
भदोही विधायक रवींद्रनाथ त्रिपाठी ने डीएम से शिकायत कर आरोप लगाया था कि विधायक विजय मिश्रा और उनके परिवार के लोगों ने नवधन में एक सरकारी भूमि पर कब्जा कर अवैध निर्माण करा लिया है। पुलिस और प्रशासन की टीम किसी भी समय सरकारी भूमि पर किए गए अवैध निर्माण को ढहा सकती है। हालांकि इस आदेश को विधायक के वकील ने उच्च अदालत में चुनौती दी है। उन्होंने आरोप लगाया है कि विधायक का पक्ष सुने बगैर ही तहसीलदार ने आदेश पारित कर दिया है।

चित्रकूट जेल में बंद हैं विधायक
ज्ञानपुर विधायक विजय मिश्रा के खिलाफ उनके ही रिश्तेदार कृष्णमोहन तिवारी ने गोपीगंज कोतवाली में केस दर्ज कराया था। विधायक पर जबरन उनके घर में रहने और वसीयत बनाकर उनकी संपत्ति अपने बेटे के नाम कराने के लिए दबाव बनाने का आरोप है। इस सिलसिले में सात अगस्त को मुकदमा दर्ज कराया गया था। इसी मामले में विधायक की मध्य प्रदेश के आगर से गिरफ्तारी हुई थी। गिरफ्तारी के बाद उन्हें अदालत में पेश किया गया था। कोर्ट ने उन्हेें न्यायिक हिरासत में भेज दिया था। पहले उन्हें नैैनी जेल में रखा गया था। बाद में विधायक की जेल बदलते हुए चित्रकूट भेज दिया गया था।



Source link

Previous Article
Next Article

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *