बीजेपी के इशारे पर हुआ शाहीन बाग प्रोटेस्‍ट, AAP विधायक सौरभ भारद्वाज का आरोप

Spread the love


हाइलाइट्स:

  • प्रेस कॉन्‍फ्रेंस कर आम आदमी पार्टी ने लगाया बीजेपी पर आरोप
  • राजनीतिक फायदा लेने के लिए बीजेपी ने कराया शाहीन बाग: AAP
  • विधायक सौरभ भारद्वाज ने कहा- दिल्‍ली पुलिस ने खुद बंद कराईं सड़कें
  • आरोप- बीजेपी ने दिल्‍ली के चुनाव को ध्‍यान में रखकर कराया प्रोटेस्‍ट

नई दिल्‍ली
शाहीन बाग प्रोटेस्‍ट का मुद्दा एक बार फिर सुर्खियों में है। दिल्‍ली में सत्‍ताधारी आम आदमी पार्टी का आरोप है कि बीजेपी ने एक रणनीति के तहत इस पूरे विरोध को अंजाम दिया। पार्टी के विधायक सौरभ भारद्वाज ने सोमवार को प्रेस कॉन्‍फ्रेंस में कहा कि ‘बीजेपी नेता इस पूरी स्क्रिप्‍ट के किरदार हैं।’ दरअसल शाहीन बाग से जुड़े कुछ लोग रविवार को भाजपा में शामिल हो गए थे। इसी के बाद, AAP ने यह आरोप लगाया है। भारद्वाज ने कहा, “कल शाहीन बाग के सभी बड़े चेहरे बीजेपी में शामिल हो गए। क्या वो भाजपा के लोग थे, क्या बीजेपी के इशारे पर शाहीन बाग किया गया?”

‘बीजेपी को हुआ चुनावी फायदा’
AAP विधायक ने कहा कि सीएए (नागरिकता संशोधन विधेयक) के विरोध में दस महिलाओं ने दिल्‍ली-नोएडा एक्‍सप्रेसवे को बंद कर दिया। उन्‍होंने बीजेपी को घेरते हुए कहा कि ‘दिल्‍ली पुलिस ने एक्‍सप्रेसवे के आसपास की सड़कों को खुद बंद कराया और जान-बूझकर प्रदर्शन कराती रही।’ भारद्वाज ने आरोप लगाया कि “शाहीन बाग से सबसे ज्‍यादा फायदा किस पार्टी को हुआ, यह सब जानते हैं। बीजेपी ने शाहीन बाग के नाम पर दिल्‍ली का चुनाव लड़ा।” AAP के अनुसार, यह बीजेपी की सोची-समझी रणनीति का हिस्‍सा था।

बीजेपी का AAP पर निशाना, कहा- कितने लोगों को नौकरी मिली, बताए सरकार

शाहीन बाग के जरिए बीजेपी ने भड़काए दंगे : AAP
प्रेस कॉन्‍फ्रेंस में भारद्वाज ने कहा कि बीजेपी के इशारे पर शाहीन बाग हुआ। उन्‍होंने बीजेपी पर नॉर्थ-ईस्‍ट दिल्‍ली में दंग कराने का आरोप भी लगाया। भारद्वाज ने कहा, “बीजेपी ने हिंदू-मुस्लिम के बीच खाई पैदा की। शाहीन बाग का हवाला देकर दिल्‍ली में दंगे कराए गए।” विधायक ने कहा कि ‘सीएए वापस भी नहीं हुआ और शाहीन बाग प्रोटेस्‍ट अपने आप खत्‍म हो गया। उन्‍होंने कहा कि दिल्‍ली के चुनाव में खुद गृह मंत्री अमित शाह और यूपी सीएम योगी आदित्‍यनाथ शाहीन बाग का जिक्र कर वोट मांग रहे थे।

बीजेपी में शामिल हुए थे ‘ऐक्टिविस्‍ट’
उलेमा काउंसिल के सचिव शहजाद अली, जो कथित तौर पर सीएए खिलाफ शाहीन बाग आंदोलन में शामिल थे, वह रविवार को बीजेपी में शामिल हो गए थे। अली ने आईएएनएस से बात करते हुए दावा किया कि वह सीएए के विरोध में अहम हिस्सा थे। हालांकि उन्होंने अपनी योजना को साझा करने से इनकार कर दिया कि वह अपने बदले हुए रुख के विरोधियों को कैसे मनाएगा। अली के साथ डॉ मेहरीन, और तबस्सुम हुसैन भी भाजपा उपाध्यक्ष श्याम जाजू की उपस्थिति में भाजपा में शामिल हुए।



Source link

Previous Article
Next Article

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *