बॉर्डर पर बम बरसाने का अभ्यास, UNGA में जिनपिंग बोले- जंग नहीं चाहता है चीन

Spread the love


न्यूयॉर्क
चीन के राष्ट्रपति शी जिनपिंग ने संयुक्त राष्ट्र महासभा को संबोधित करते हुए शांति का राग अलापा। उन्होंने चीनी सेना के आक्रामक रवैये और युद्धाभ्यासों के विपरीत बयान देते हुए कहा कि पेइचिंग किसी भी प्रकार के युद्ध का इरादा नहीं रखता है। उन्होंने आगे कहा कि देशों के बीच मतभेद होना स्वाभाविक है, लेकिन उन्हें संवाद के माध्यम से इसे हल करना चाहिए। दूसरी तरफ लद्दाख में घुसपैठ कर बैठा चीन बातचीत में शुरू से अड़ियल रूख अपना रहा है।

जिनपिंग ने चीन का बताया शांतिप्रिय देश
उन्होंने कहा कि चीन विश्व का सबसे बड़ा विकासशील देश है जो शांतिपूर्ण, खुले, सहकारी और सामान्य विकास के लिए प्रतिबद्ध है। हम कभी भी प्रभाव के विस्तारवादिता की तलाश नहीं करेंगे। किसी भी देश के साथ शीत युद्ध या ह युद्ध लड़ने का हमारा कोई इरादा नहीं है। शी जिनपिंग ने कहा कि हम बातचीत और बातचीत के माध्यम से मतभेदों को दूर करने और दूसरों के साथ विवादों को हल करने के लिए जारी रखेंगे

कोरोना संक्रमण को फैलाने के आरोपों पर जिनपिंग का पलटवार
जिनपिंग ने अपने संबोधन के दौरान कोरोना वायरस के संक्रमण को लेकर अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप के आरोपों पर भी पलटवार किया। उन्होंने कहा कि कोरोना वायरस के मुद्दे के राजनीतिकरण या किसी देश पर कलंक लगाने के प्रयास को अस्वीकार किया जाना चाहिए। हम इस समय कोरोना वायरस से जूझ रहे हैं। इस वायरस ने पूरी दुनिया को तबाह कर दिया है।

तीसरे चरण में हमारी कोरोना वैक्सीन, सभी देशों को देंगे
जिनपिंग ने कहा कि चीन द्वारा विकसित की गई कोरोना वायरस वैक्सीन हयूमन ट्रायल के तीसरे फेज में हैं। जब उसका विकास पूरा हो जाता है और वे उपयोग के लिए उपलब्ध होंगे। उन्होंने ऐलान किया कि चीन अपने वैक्सीन को दुनिया के सभी देशों के साथ बाटेगा। उन्होंने यह भी कहा कि वैक्सीन को प्राथमिकता के आधार पर अन्य विकासशील देशों को प्रदान किया जाएगा।

लोगों के जीवन को दें प्राथमिकता, सभी को मिले इलाज
जिनपिंग ने कहा कि कोरोना वायरस का सामना करते हुए हमें लोगों के जीवन को प्राथमिकता देनी चाहिए। हमें विज्ञान आधारित और टॉरगेटेड रिस्पांस के लिए सभी संसाधन जुटाने चाहिए। किसी भी रोगी को बिना इलाज के नहीं छोड़ा जाना चाहिए। हमें विज्ञान के दिशानिर्देशों का पालन करना चाहिए और विश्व स्वास्थ्य संगठन की अग्रणी भूमिका के लिए खुले तौर पर छोड़ना चाहिए।

एंटी एपेडेमिक सप्लाई चेन स्थापित करेगा चीन
उन्होंने कहा कि चीन कोरोना वायरस के खिलाफ अंतरराष्ट्रीय लड़ाई में सक्रिय रूप से शामिल है। वैश्विक सार्वजनिक स्वास्थ्य सुरक्षा को बनाए रखने में अपने हिस्से का योगदान दे रहा है। हम अपनी महामारी नियंत्रण टेक्टिक्स, इलाज और चिकित्सीय सहायता को अन्य देशों के साथ साझा करते रहेंगे। हम एंटी एपेडेमिक सप्लाई चेन को भी स्थापित करेंगे।

जिनपिंग ने कोरोना वॉरियर्स की तारीफ की
उन्होंने कहा कि इस लड़ाई में हमने सरकारों के प्रयासों, चिकित्सा कार्यकर्ताओं के समर्पण, वैज्ञानिकों की खोज और जनता की दृढ़ता को देखा है। साहस, संकल्प और करुणा के साथ विभिन्न देशों के लोग एक साथ आए हैं। जिसने अंधेरे को घटाया है और हमने इस आपदा का सिर उठाकर सामना किया है। वायरस पराजित हो जाएगा। इस जंग में मानवता की जीत होगी



Source link

Previous Article
Next Article

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *