भायखला जेल में कैदियों को योग की ट्रेनिंग देती थीं रिया चक्रवर्ती, ऐसे बीते 28 दिन

Spread the love


रिया चक्रवर्ती को जमानत पर जेल से रिहा हो गई हैं। हालांकि, ड्रग्‍स केस में उनके भाई शौविक चक्रवर्ती को जमानत नहीं मिली ओर वो 20 अक्‍टूबर तक न्‍यायिक हिरासत में हैं। बॉम्‍बे हाई कोर्ट ने रिया को जमानत दी। 8 सिंतबर को गिरफ्तारी के बाद 9 सितंबर को रिया भायखला जेल पहुंची थीं। 28 दिनों तक जेल में वह एक आम कैदी की तरह रहीं। लेकिन क्‍या आपको पता है कि जेल में रिया के दिन कैसे बीते? रिया के वकील सतीश मानश‍िंदे ने एक इंटरव्‍यू में इसका खुलासा किया है।

कैदियों को योग की ट्रेनिंग
रिया की जमानत से खुश सतीश मानश‍िंदे ने एक वेबसाइट को इंटरव्‍यू में बताया कि वह 28 दिनों के दरम्‍यान जेल में रिया से मिलने पहुंचे थे। मानश‍िंदे ने कहा कि उन्‍हें यह देखकर खुशी हुई कि रिया जेल में अवसाद की बजाय कैदियों को योग सिखाने में समय बीता रही थीं।

रिया को नहीं मिला घर का खाना
सतीश मानश‍िंदे ने कहा कि रिया जेल में खुद तो योग करती ही थीं, बाकी कैदियों को भी योग की क्‍लासेज दे रही थीं। कोरोना संक्रमण के कारण रिया को घर का खाना भी नहीं मिला। लिहाजा, उन्‍होंने एक आम कैदी की तरह ही अपने 28 दिन बिताए।

‘उम्‍मीद है तीनों एजेंसियां पीछा करना बंद करेंगी’
रिया को जमानत मिलने के बाद सतीश मानश‍िंदे ने अपने बयान में कहा था, ‘हम माननीय बंबई उच्च न्यायालय के फैसले से बेहद खुद हैं। सत्य और न्याय की जीत हुई है और अंततः तथ्यों और कानून पर जस्‍ट‍िस सारंग वी. कोटवाल की अदालत ने स्‍वीकृति दी है। रिया की गिरफ्तारी और हिरासत पूरी तरह से अनुचित और कानून से परे थी। तीन केंद्रीय एजेंसियों सीबीआई, एनसीबी और ईडी ने जिस तरह रिया का किसी चुड़ैल की तरह पीछा किया है, उसे खत्‍म होना चाहिए। हम सत्य के लिए प्रतिबद्ध हैं। सत्यमेव जयते।’

6 महीने तक महीने के पहले सोमवार को जाना होगा NCB दफ्तर
बता दें कि बॉम्‍बे हाईकोर्ट ने रिया को सशर्त जमानत दी है। उन्‍हें एक लाख रुपये के निजी मुचलके पर बेल मिली है। साथ ही उन्‍हें अपना पासपोर्ट भी एसीबी के पास जमा करने के लिए कहा गया है। रिया को अगले छह महीने तक महीने में कम से कम एक बार हर महीने के पहले सोमवार को सुबह 10:00 बजे से 11:00 बजे एनसीबी के दफ्तर में हाजिरी लगानी होगी। जबकि अगले 10 दिनों तक रिया को अपने नजदीकी पुलिस थाने में पेश होने के लिए कहा गया है।



Source link

Previous Article
Next Article

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *