भारत के साथ दशकों पुरानी अटूट दोस्‍ती ने वैश्विक कहावत को गलत साबित किया: रूस

Spread the love


हाइलाइट्स:

  • रूस ने भारत के दशकों पुरानी अटूट दोस्‍ती की जमकर प्रशंसा की है
  • रूस ने कहा कि इस दोस्‍ती ने वैश्विक कहावत को भी खारिज कर दिया है
  • दोनों देशों के बीच यह दोस्‍ती एक विशिष्‍ट उदाहरण पेश करती है

मास्‍को
रूस ने भारत के दशकों पुरानी अटूट दोस्‍ती की जमकर प्रशंसा की है। रूसी विदेश मंत्रालय ने कहा कि ऐसा कहा जाता है कि किसी भी देश का कोई स्‍थायी मित्र या शत्रु नहीं होता है, अगर कोई चीज महत्‍वपूर्ण है तो वह है हित। रूस और भारत की दोस्‍ती इस मान्‍यता को खारिज करती है। दोनों देशों के बीच यह दशकों पुरानी दोस्‍ती एक विशिष्‍ट उदाहरण पेश करती है जो समानता पर आधारित है।

रूसी विदेश मंत्रालय की प्रवक्‍ता ने मारिया जखरोवा ने कहा कि 3 अक्‍टूबर का दिन भारत और रूस के संबंधों में एक महत्‍वपूर्ण घटना है। 20 साल पहले तीन अक्‍टूबर के दिन ही भारत-रूस रणनीतिक भागीदारी पर हस्‍ताक्षर हुए थे। दुनिया में सबसे पहले हुए भागीदारी में से एक भारत-रूस पार्टनरशिप आधुनिक कूटनीति के शब्दकोश का हिस्‍सा बन गया है।

आधुनिक हथियारों की खेप देने में भारत की मदद कर रहा
बता दें कि रूस कोरोना वायरस वैक्‍सीन से लेकर आधुनिक हथियारों की खेप देने में भारत की मदद कर रहा है। कोरोना वायरस से निपटने के लिए भारत जहां पर Sputnik V को खरीदने के प्रयास कर रहा है, वहीं चीन संकट को देखते हुए रूस से सुखोई-30 एमकेआई और मिग-29 जैसे फाइटर जेट भी खरीद रहा है। रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह की पिछले दिनों मास्‍को यात्रा के दौरान भारत और रूस ने अत्याधुनिक एके-203 रायफल भारत में बनाने के लिये एक बड़े समझौते को अंतिम रूप दे दिया था।

एके-203 रायफल, एके-47 रायफल का नवीनतम और सर्वाधिक उन्नत प्रारूप है। यह ‘इंडियन स्मॉल ऑर्म्स सिस्टम’ (इनसास) 5.56 गुणा 45 मिमी रायफल की जगह लेगा। रूस की सरकारी समाचार एजेंसी स्पुतनिक के मुताबिक भारतीय थल सेना को लगभग 7,70,000 एके-203 रायफलों की जरूरत है, जिनमें से एक लाख का आयात किया जाएगा और शेष का निर्माण भारत में किया जाएगा।

मास्‍को ने भरोसा दिया, पाकिस्‍तान को हथियार नहीं देगा

रूस के दौरे पर गए रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह को मास्‍को ने भरोसा दिया था कि वह पाकिस्‍तान को हथियार नहीं देगा। इससे पहले रूस ने पाकिस्‍तान को आधा दर्जन हेलिकॉप्‍टर दिए थे जिसका भारत ने व‍िरोध किया था। इसके बाद रूस ने इन हेलिकॉप्‍टर्स की सप्‍लाइ को रोक दिया था। रूस भारत को सबसे ज्‍यादा हथियारों की आपूर्ति करने वाला देश है। इसमें परमाणु ऊर्जा से चलने वाली सबमरीन शामिल है।



Source link

Previous Article
Next Article

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *