‘भारत फिर सर्जिकल स्‍ट्राइक करेगा’, खौफ से पाकिस्‍तान में हाई अलर्ट, सेना बोली- ऐसा कोई प्‍लान नहीं

Spread the love


हाइलाइट्स:

  • पहले सीमा पर संघर्ष विराम तोड़ा, अब प्रॉपेगेंडा फैला रहा पाकिस्‍तान
  • सर्जिकल स्‍ट्राइक की आशंका बताकर पाकिस्‍तानी सेना हाई अलर्ट पर
  • एलओसी पर सेना की जवाबी गोलीबारी में दो पाकिस्‍तानी सैनिक ढेर
  • भारतीय सेना ने रिपोर्ट्स का किया खंडन, कहा- ऐसी कोई योजना नहीं

नई दिल्‍ली/इस्‍लामाबाद
पाकिस्‍तानी मीडिया में इस बात की चर्चा जोरों पर है कि भारत फिर से सर्जिकल स्‍ट्राइक कर सकता है। सोशल मीडिया में पाकिस्‍तानी हैंडल्‍स लगातार ऐसी आशंका जाहिर कर रहे हैं। पाकिस्‍तानी अखबार ‘डॉन’ के अनुसार, पाकिस्‍तानी सेना को हाई अलर्ट पर रखा गया है। अखबार ने सूत्रों के हवाले से लिखा कि भारतीय सेना नियंत्रण रेखा पार करके कार्रवाई की योजना बना रही है। यह चर्चा ऐसे वक्‍त में शुरू हुई जब पाकिस्‍तान की ओर से सीमा पर संघर्ष विराम का उल्‍लंघन किया गया। हालांकि सेना ने इन रिपोर्ट्स को सिरे से खारिज किया है और कहा कि ऐसी कोई योजना नहीं है।

पाकिस्‍तानी सेना ने यह दावा ऐसे वक्‍त में किया, जब बुधवार रात उसकी तरफ से संघर्ष विराम का उल्‍लंघन किया गया। पुंछ जिले में भारतीय सेना ने जवाबी कार्रवाई की जिसमें दो पाकिस्‍तानी सेना के दो जवान मारे गए। ‘डॉन ने अपनी प्रॉपेगेंडा रिपोर्ट में कहा है कि भारत ऐसी कार्रवाई कई मुद्दों से दुनिया का ध्‍यान भटकाने के लिए कर सकता है। पाकिस्‍तानी अखबार ने अल्‍पसंख्‍यकों पर अत्‍याचार, किसान आंदोलन, कश्‍मीर मुद्दा जैसे वही घिसे-पुटे मुद्दे गिनाकर अपनी रिपोर्ट को बल दिया है, मगह सेना ने इसे पूरी तरह बेबुनियाद करार दिया है।

‘कश्‍मीर में जिहाद के लिए 100 सीरियाई हत्‍यारों को ट्रेनिंग देने में जुटे तुर्की-पाक’

एलओसी को लेकर होने वाली है ISI की कॉन्‍फ्रेंस
पाकिस्‍तान की खुफिया एजेंसी आईएसआई भारत के खिलाफ प्रॉपेगेंडा फैलाने में कोई कसर नहीं छोड़ती। 11 दिसंबर को इस्‍लामाबाद में उसकी एक कॉन्‍फ्रेंस होने वाली है जिसमें एलओसी के स्‍टेटस पर चर्चा होगी। इस कॉन्‍फ्रेंस में भारत के खिलाफ आतंकी साजिश और घुसपैठ की योजनाएं बनेंगी। भारत के खौफ में पाकिस्‍तानी सेना हाई अलर्ट पर पहली बार नहीं है। 2016 में जब से भारत ने पहली बार एलओसी पार कर सर्जिकल स्‍ट्राइक की थी, उसके बाद से अक्‍सर ऐसे ‘फर्जी’ अलर्ट दिए जाते रहे हैं।

‘ध्‍यान भटकाने की है पाकिस्‍तान की ये कोशिश’
डिफेंस एक्‍सपर्ट्स इसे पाकिस्‍तान की एक और कोशिश बता रहे हैं, अपने यहां जारी घरेलू मसलों से ध्‍यान हटाने की। इमरान खान सरकार पर विपक्ष का भारी दबाव है। भारतीय सेना प्रमुख जनरल एमएम नरवणे सऊदी अरब और यूएई की ‘ऐतिहासिक’ यात्रा पर हैं। इससे पाकिस्‍तान की सिट्टी-पिट्टी गुम है। इन दोनों देशों को पाकिस्‍तान अपना ‘भाई’ बताता आया है। अब भारत के साथ उनकी नजदीकियों से पाकिस्‍तान के अरमानों पर पानी फिरता नजर आ रहा है।

पुलवामा मुठभेड़ में तीन आतंकवादी ढेर
पुलवामा जिले में सुरक्षा बलों और आंतकवादियों के बीच बुधवार को हुई मुठभेड़ में तीन अज्ञात आतंकवादी मारे गए थे। आतंकवादियों की मौजूदगी की खुफिया जानकारी मिलने के बाद सुरक्षा बलों ने आज तड़के पुलवामा जिले के टिकन इलाके में घेराबंदी कर तलाश अभियान शुरू किया था। आतंकवादियों के सुरक्षा बलों पर गोलीबारी करने से अभियान मुठभेड़ में तब्दील हो गया। अधिकारी ने बताया कि मुठभेड़ में पहले दो आतंकवादी मारे गए और एक असैन्य नागरिक घायल हो गया था। उन्होंने बताया कि थोड़ी देर बार मुठभेड़ में एक और आतंकवादी मारा गया।



Source link

Previous Article
Next Article

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *