भीमा-कोरेगांव केस: NIA ने आनंद तेलतुंबडे, गौतम नवलखा समेत 8 लोगों के ख‍िलाफ दायर की चार्जशीट

Spread the love


हाइलाइट्स:

  • महाराष्‍ट्र में 2018 में हुई भीमा कोरेगांव हिंसा मामले की जांच कर रही है नैशनल इंवेस्टिगेशन एजेंसी
  • राष्ट्रीय जांच एजेंसी ने शुक्रवार को आठ लोगों के खिलाफ दायर की है चार्जशीट
  • चार्जशीट में आनंद तेलतुंबडे, गौतम नवलखा, हनी बाबू, सागर गोरखे, रमेश गायक, ज्योति जगताप, स्टेन स्वामी और मिलिंद तेलतुम्बडे का नाम शाम‍िल

मुंबई
महाराष्‍ट्र में हुई भीमा कोरेगांव हिंसा मामले में शुक्रवार को राष्ट्रीय जांच एजेंसी (NIA) ने आठ लोगों के खिलाफ चार्जशीट दायर किया है। एनआईए ने चार्जशीट में आनंद तेलतुंबडे (Anand Teltumbde), गौतम नवलखा (Gautam Navlakha), हनी बाबू, सागर गोरखे, रमेश गायक (Ramesh Gaichor), ज्योति जगताप, स्टेन स्वामी और मिलिंद तेलतुम्बडे का नाम शाम‍िल किया है।

भीमा कोरेगांव से जुड़े मामले की जांच नैशनल इंवेस्टिगेशन एजेंसी (NIA) कर रही है। एनआईए की चार्जशीट में शाम‍िल गौतम नवलखा ने इसी साल अप्रैल महीने में राष्ट्रीय जांच एजेंसी (एनआईए) के सामने आत्मसमर्पण किया था। नवलखा को तब सुप्रीम कोर्ट ने आत्मसमर्पण करने का आदेश दिया था। उन्हें 2018 के भीमा कोरेगांव दंगे में कथित संलिप्तता को लेकर अवैध गतिविधि रोकथाम अधिनियम के तहत आरोपी बनाया गया है।

यह है पूरा मामला
बता दें क‍ि पुणे पुलिस ने भीमा कोरेगांव में 31 दिसंबर 2017 की हिंसक घटनाओं के बाद एक जनवरी, 2018 को गौतम नवलखा, आनंद तेल्तुम्बड़े और कई अन्य कार्यकर्ताओं के खिलाफ माओवादियों से कथित रूप से संपर्क रखने के कारण मामले दर्ज किए थे। हालांकि इन कार्यकर्ताओं ने पुलिस के इन आरोपों से इनकार किया था।

भीमा कोरेगांव मामले में गौतम नवलखा ने एनआईए के सामने किया सरेंडर

एक जनवरी 2018 को वर्ष 1818 में हुई कोरेगांव-भीमा की लड़ाई को 200 साल पूरे हुए थे। इस दिन पुणे ज़िले के भीमा-कोरेगांव नाम के गांव में दलित समुदाय के लोग पेशवा की सेना पर ईस्ट इंडिया कंपनी की सेना की जीत का जश्न मनाते हैं। इस दिन दलित संगठनों ने एक जुलूस निकाला था। इसी दौरान हिंसा भड़क गई, जिसमें एक व्यक्ति की मौत हो गई थी।



Source link

Previous Article
Next Article

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *