रिया ड्रग चैट: सामने आए गौरव आर्या, कहा- मैं ड्रग डीलर नहीं, रिया से 3 साल से नहीं हुई बात

Spread the love



रिया ड्रग चैट के सामने आने के बाद सुशांत सिंह राजपूत का केस उलझता जा रहा है। कई तरह के सवाल उठने लगे हैं। ईडी यानी प्रवर्तन न‍िदेशालय ने इस मामले में अपनी जांच तेज कर दी है। ईडी ने गोवा के बिजनसमैन गौरव आर्या को समन भेजा गया है। गौरव आर्या वही शख्‍स हैं, जिन्‍हें कथ‍ित तौर पर ड्रग डीलर बताया जा रहा है। अब इस पूरे मामले में पहली बार गौरव आर्या खुद सामने आए हैं। उन्‍होंने टाइम्‍स नाऊ से बातचीत की है और बताया क‍ि वह रिया से बीते 3.5 साल से संपर्क में नहीं हैं।

‘मेरा नाम जबरन घसीटा जा रहा’
गौरव आर्या का कहना है कि उनका नाम इस मामले में जबरन घसीटा जा रहा है। उन्‍हें जान से मारने की धमकी भी दी जा रही है। गौरव से जब पूछा गया कि वॉट्सऐप चैट में उनका नाम है और साफ तौर पर उसमें MDMA जैसे ड्रग्‍स के बारे में पूछा जा रहा है, इस पर गौरव ने कोई सीधा-सीधा जवाब तो नहीं दिया लेकिन इतना जरूर कहा कि वह रिया से बीते साढ़े तीन साल से संपर्क में नहीं हैं और उन्‍हें इस बारे में कोई जानकारी नहीं है।

मुंबई में हुई थी रिया से मुलाकात
गौरव ने बताया कि रिया कभी गोवा में उनसे नहीं मिली। दोनों की मुलाकात सोशल गैदरिंग यानी पार्टीज के दौरान मुंबई में हुई थी। इसके बाद दोनों ने वॉट्सऐप पर कुछ चैट की थीं। हालांकि, यह बातें तीन-साढ़े तीन साल पुरानी हैं और उन्‍हें यह सब ठीक से याद भी नहीं है।

सुशांत से कभी नहीं मिले गौरव
गौरव का कहना है कि वह सुशांत से कभी नहीं मिले थे। उन्‍होंने यह भी कहा कि उनका जिस तरह का सर्कल है, वह बहुत से लोगों से मिलते रहते हैं। गौरव का कहना है कि उन्‍हें मीडिया में ड्रग पेडलर और ड्रग डीलर बताया जा रहा है, जो सरासर गलत है। वह जांच एजेंसी के साथ मामले में पूरा सहयोग करने के लिए तैयार हैं। जांच एजेंसी उनसे जो भी सवाल पूछेगी वह उसका जवाब देंगे।

‘लोग दे रहे हैं जान से मारने की धमकी’
गौरव आर्या का कहना है कि जब से मामले में उनका नाम घसीटा गया है, तब से उन्‍हें फोन पर जान से मारने की धमकी दी जा रही है। लोग गंदी-गंदी गालियां लिख रहे हैं। यही कारण है कि उन्‍होंने अपना फोन नंबर भी बदलने का निर्णय किया।



Source link

Previous Article
Next Article

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *