संसद परिसर पर विपक्ष का ‘हल्ला बोल’, किसान बचाओ और लोकतंत्र बचाओ के बैनर लहराए

Spread the love


संसद का मॉनसून सत्र खत्म होने से पहले कांग्रेस समेत तमाम विपक्षी दल के सांसदों ने विरोध प्रदर्शन किया। ये नेता कृषि बिल पर वोटिंग की मांग कर रहे हैं। साथ ही इनकी मांग की सभी निलंबित आठ सांसदों का निलंबन रद्द किया जाए। सभापति ने इन सांसदों के खिलाफ कार्रवाई करते हुए इनको निलंबित किया था।

संसद परिसर पर विपक्ष का विरोध

राज्यसभा में कृषि बिल 2020 पास होने के बाद से ही विपक्ष सरकार पर हमला कर रहा है। आज जब मॉनसून सत्र खत्म हो सकता है तो विपक्ष ने संसद परिसर पर एक साथ खड़े होकर बैनर पर स्लोगन लिखकर सरकार के खिलाफ नारजगी व्यक्त की।

सभी पार्टियों के नेताओं ने लिया भाग

संसद परिसर पर हो रहे विरोध प्रदर्शन में भाग लेने के लिए सभी पार्टी के नेता शामिल हुए। इसमें कांग्रेस के वरिष्ठ नेता गुलाम नबी आजाद, एनसीपी के प्रफुल्ल पटेल और एनसीपी सांसद डेरेक ओ ब्रायन के साथ तमाम नेता मौजूद रहे।

आज हो सकता है मॉनसून सत्र का आखिरी दिन

कोरोना संकट के चलते आज संसद के मॉनसून सत्र को अनिश्चित काल के लिए स्थगित किया जा सकता है। तीन बजे लोकसभा में एक बैठक होगी जिसके बाद फैसला लिया जाएगा। उससे पहले संसद परिसर पर विपक्षी नेताओं ने सरकार के खिलाफ आवाज बुलंद की।

कृषि बिल को लेकर राज्यसभा में हुआ था हंगामा

राज्यसभा में कृषि बिल 2020 पर (Agriculture Bill 2020) चर्चा के दौरान सदन में जोरदार हंगामा हुआ था। विपक्षी पार्टियों के नेता वेल पर आकर नारेबाजी की और उप-सभापति के पास कागज के पुर्जे उछाले। इस दौरान उप-सभापति के पास मौजूद मार्शलों ने उनको रोका तो हल्की झड़प हो गई थी। झड़प के दौरान ही उपसभापति के सामने वाला माइक भी टूट गया था।

TMC सांसद डेरेक ओ ब्रायन वेल तक आ पहुंचे

tmc-

टीएमसी सांसद डेरेक ओ ब्रायन नारेबाजी करते हुए उपसभापति की वेल तक आ गए और फिर उपसभापति से बिल छीनने की कोशिश की। इस दौरान मार्शल ने बीच बचाव किया तो उपसभापति के सामने रखा माइक टूट गया। इसके बाद टीएमसी सांसद वहां से नारेबाजी करते हुए पीछे की ओर लौट गए। फिलहाल हंगामा बढ़ता देख उपसभापति ने राज्यसभा की कार्रवाई स्थगित कर दी गई।

निलंबित सांसदों का धरना, उप-सभापति की चाय

कृषि विधेयक (Farm Bills) पर रविवार को बहस के दौरान राज्यसभा (Rajya Sabha) में हंगामा करने वाले आठ विपक्षी सांसदों को निलंबित कर दिया गया। निलंबन के विरोध में सोमवार को निलंबित सांसदों ने संसद परिसर में गांधी प्रतिमा के पास रातभर प्रदर्शन किया। राज्यसभा के उप सभापति हरिवंश (Harivansh) प्रदर्शन कर रहे निलंबित सांसदों के लिए मंगलवार को सुबह चाय लेकर पहुंचे।

राज्यसभा में पास हुआ बिल

विपक्षी सांसदों के जोरदार हंगामे के बीच राज्‍यसभा ने भी कृषि विधेयकों को पारित कर दिया है। कृषि उपज व्यापार और वाणिज्य (संवर्द्धन और सरलीकरण) विधेयक-2020 तथा कृषक (सशक्तिकरण एवं संरक्षण) कीमत आश्वासन समझौता और कृषि सेवा पर करार विधेयक-2020 को मंजूरी मिली है। ध्‍वनिमत से पारित होने से पहले इन विधेयकों पर सदन में खूब हंगामा हुआ। नारेबाजी करते हुए सांसद वेल तक पहुंच गए। कोविड-19 के खतरे को भुलाते हुए धक्‍का-मुक्‍की भी हुई। विपक्ष ने इसे ‘काला दिन’ बताया है। तृणमूल कांग्रेस के सांसद डेरेक ओ’ब्रायन ने कहा कि यह ‘लोकतंत्र की हत्‍या’ है।



Source link

Previous Article
Next Article

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *