सामने आया पाकिस्तान का दोहरा रवैया, 21 आतंकियों को दे रहा है VIP ट्रीटमेंट

Spread the love


इस्लामाबाद
पाकिस्तान ने अपने दोहरे रवैये को साबित करते हुए आतंकियों को अपनी जमीन पर शरण देना और VIP ट्रीटमेंट देना जारी रखा है। फाइनैंशल ऐक्शन टास्क फोर्स (FATF) की तलवार पाकिस्तान के ऊपर लटक रही है। सूत्रों के मुताबिक पाकिस्तान की सरकार 21 खतरनाक आतंकियों को VIP सिक्यॉरिटी दे रही है। इनमें वे आतंकी भी शामिल हैं जिनके खिलाफ पिछले महीने प्रतिबंध लागू किए गए थे।

दिया जा रहा VIP ट्रीटमेंट
न्यूज एजेंसी ANI के मुताबिक पाकिस्तान ने अंडरवर्ल्ड डॉन दाऊद इब्राहिम, बब्बर खालसा इंटरनैशनल के चीफ वाधवा सिंह, इंडियन मुजाहिदीन रियाज भटकल, मिर्जा शादाब बेग और आतिफ हसन सिद्दीबपा को VIP ट्रीटमेंट दिया जा रहा है। इनमें से कई ऐसे आतंकी हैं जिन्हें भारत ने मोस्ट-वॉन्टेड घोषित कर रखा है जबकि पाकिस्तान ने उन्हें शरण दे रखी है। पाकिस्तान ने दावा किया है कि उसने आतंकी संगठनों के खिलाफ कार्रवाई की है। हालांकि, उसने यह विस्तृत जानकारी नहीं दी है कि उसने क्या कदम उठाए हैं।

लगाए थे कई प्रतिबंध
एक्सपर्ट्स का कहना है कि पिछले कुछ हफ्तों में पाकिस्तान ने ऐसा दिखाने की कोशिश की है कि वह FATF की ग्रे लिस्ट से बाहर रहने के लिए कदम उठाए हैं। पिछले महीने पाकिस्तान ने संयुक्त राष्ट्र सिक्यॉरिटी काउंसल (UNSC) 88 आतंकी सरगनाओं और आतंकी संगठनों के सदस्यों के खिलाफ प्रतिबंध लगाए थे। इस लिस्ट में हाफिज सईद, मसूद अजहर और जकिउर रहमान लकवी और दाऊद इब्राहिम भी शामिल थे।


आतंकी फंडिंग का आरोप
पाकिस्तान को 2018 में FATF की ग्रे लिस्ट में डाल दिया गया था और सरकार को फरवरी में चेतावनी दी थी कि जून 2020 तक ऐक्शन पॉइंट्स पूरे किए जाएं। जून में ये डेडलाइन सितंबर के लिए आगे बढ़ा दी गई थी। इस लिस्ट के मुताबिक पाकिस्तान ने अपने देश में आतंकी संगठनों की फंडिंग खत्म करने के लिए जरूरी कदम नहीं उठाए हैं। अमेरिका के स्टेट डिपार्टमेंट की रिपोर्ट में भी यह दावा किया गया था कि पाकिस्तान की धरती पर पनप रहे आतंकी संगठनों ने भारत में हुए आतंकी हमलों को अंजाम दिया था।

पाकिस्तान ने सीज़फायर का किया उल्लंघन, बालाकोट, मेंढर में की गोलाबारी

फाइल फोटो

फाइल फोटो



Source link

Previous Article
Next Article

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *