सुशांत की बहनों के खिलाफ रिया की FIR जांच भी सीबीआई के पास: मुंबई पुलिस कमिश्नर

Spread the love


मुंबई पुलिस कमिश्नर परम बीर सिंह ने बताया कि सुशांत सिंह राजपूत के परिवार के खिलाफ दर्ज रिया चक्रवर्ती की एफआईआर इस वक्त सीबीआई की जांच चल रही है। मुंबई मिरर से हुई बातचीत में कमिश्नर परम बीर सिंह ने कहा है कि यह केस सीबीआई को सौंपने के दौरान सुप्रीम कोर्ट ने मामले की अन्य जांच मुंबई पुलिस को भी सौंपी दी थी।

उन्होंने कहा, ‘सुशांत की बहन और डॉक्टर के खिलाफ रिया चक्रवर्ती ने एफईआर दर्ज करवाया था, जिसमें फर्जी मेडिकल प्रिस्क्रिप्शन पर ऐक्टर को दवा देने की बात कही गई थी। इसकी जांच भी सीबीआई के पास है।’

AIIMS की रिपोर्ट पर बोले राउत, ‘सबने सुशांत को बदनाम किया’

बता दें कि रिया ने 7 सितम्बर को सुशांत की बहन प्रियंका सिंह, मीतू सिंह और राम मनोहर लोहिया हॉस्पिटल के डॉक्टर तरुण कुमार व अन्य के खिलाफ एफआईआर दर्ज करवाई थी। रिया ने आरोप लगाया कि प्रियंका सिंह ने डॉक्‍टर की फर्जी पर्ची बनवाई और अवैध दवा की खरीदारी के लिए पर्ची सुशांत को दी।

रिया चक्रवर्ती ने अपनी शिकायत ने पहली बार सुशांत की बहन प्रियंका पर उन्हें ड्रग्स देने का आरोप लगाया था। रिया की तरफ से दी गई शिकायत में फर्जी प्रिस्क्रिप्शन लिखने वाले डॉक्टर को भी दोषी ठहराया गया था। शिकायत में कहा गया था कि डॉक्टर तरुण कुमार ने प्रियंका के कहने पर बिना सुशांत की जांच किए उन्हें डिप्रेशन की दवाएं दी थीं जो कई तरह से कानून का उल्लंघन है। रिया की शिकायत में कहा गया है कि प्रिस्क्रिप्शन लिखने वाले डॉक्टर तरुण कुमार पेशे से कार्डियॉलजिस्ट हैं, ऐसे में वह मानसिक रोगों से संबंधित डिप्रेशन की दवाओं का प्रिस्क्रिप्शन कैसे लिख सकते हैं।

शिवसेना बोली- चरित्रहीन थे सुशांत, कंगना और पांडेय पर भी निकाली भड़ास

मुंबई पुलिस ने इस मामले में आईपीसी की 420 (चीटिंग), 464 (फर्जी डॉक्यूमेंट बनाने का आरोप), 465 (जालसाजी के लिए सजा), 466, 306 (खुदकुशी के लिए मजबूर) जैसी कानून की कई धाराओं के तहत मामला दर्ज किया है। सुप्रीम कोर्ट के आदेश के बाद पुलिस ने यह केस सीबीआई को सौंप दिया था।

बता दें कि सुशांत के परिवार की तरफ से दर्ज एफआईआर के बाद परम बीर सिंह ने कहा था कि केस की शुरुआती जांच में ऐक्टर के परिवार वालों ने किसी पर शक नहीं जताया था। उन्होंने यह भी कहा था, ‘परिवार वाले स्टेटमेंट में किसी का नाम नहीं लेना चाह रहे थे। हमारे ऑफिसर्स के लगातार कॉल करने के बावजूद परिवार वाले अपना बयान दर्ज करवाने के लिए दोबारा नहीं आए।’

सुशांत मामले में एम्स की रिपोर्ट के बाद बोले अधीर रंजन, रिया को करें जल्द रिहा

इस वक्त एम्स के फॉरेंसिक पैनल के यूटर्न वाला ऑडियो सुर्खियों में है। इस केस में एक ऑडियो टेप के लीक होने के बाद से जांच को लेकर एक बार फिर से हंगामा मच गया है। इस ऑडियो टेप में एम्स के पैनल के हेड डॉक्टर सुधीर गुप्ता ने यह दावा किया था कि सुशांत ने आत्महत्या नहीं की थी बल्कि उनकी हत्या हुई थी। सुशांत की बहन श्वेता ने सोशल मीडिया पर इस तरह के यूटर्न पर सवाल खड़ा किया है।

सुशांत की फैमिली के वकील विकास सिंह पहले ही कह चुके हैं कि वह एम्स के पैनल की रिपोर्ट से खुश संतुष्ट नहीं हैं। उन्होंने कहा कि वह सीबीआई चीफ से नई फरेंसिक टीम के गठन की बात करेंगे। विकास सिंह ने कहा है कि आखिर कैसे एक एक्सपर्ट फरेंसिक टीम बिना किसी बॉडी की जांच के अपनी निर्णायक राय दे सकती है जबकि कूपर हॉस्पिटल की पोस्टमॉर्टम रिपोर्ट पर पहले ही शक जताया जा चुका है जिसमें मौत का समय भी नहीं बताया गया है।



Source link

Previous Article
Next Article

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *