सुशांत के घर पर थी कब्र, वजह जानकर दंग रह गए थे ‘सोन चिड़िया’ को- स्टार राम नरेश

Spread the love


सुशांत सिंह राजपूत की मौत के बाद उनसे जुड़ी ऐसी बातें सामने आ रही हैं कि जो लोग उनके फैन नहीं थे, वो भी हो गए हैं। सुशांत की लाइफ से जुड़ी छोटी-छोटी चीजें उनके चाहनेवालों को इमोशनल कर रही हैं। उनके साथ ‘सोन चिड़िया’ में काम कर चुके ऐक्टर राम नरेश दिवाकर ने एक ऐसा खुलासा किया है, जिसे जानकर आपके मन में सुशांत के लिए इज्जत और बढ़ जाएगी। साथ ही यह सबके लिए बड़ी सीख भी है।

वजह जानकर बढ़ जाएगी सुशांत के लिए इज्जत

‘सोन चिड़िया’ में सुशांत के साथ काम कर चुके राम नरेश ने सुशांत की मौत को 2 महीने पूरे हो जाने पर एक पोस्ट किया था। इसमें उन्होंने सुशांत की ग्रेव बॉक्स (ताबूत) वाली बात बताई थी। कहा था कि उन्होंने ऐसा करते किसी को नहीं देखा। इस बात से वह बहुत टच हुए। उन्होंने उम्मीद की कि सुशांत के किस्से सुनकर सभी कुछ अच्छा सीखेंगे।

घर पर था कब्र जैसा बक्सा

राम नरेश ने बताया कि बड़े स्टार्स अपने अवॉर्ड रखने के लिए गैलरी बनाते हैं, एक खास जगह होती है लेकिन सुशांत के घर ऐसा कुछ नहीं था। जब वह उनके घर गए तो देखा सुशांत के पास ताबूत जैसा (कब्र के आकार का बक्सा) था। सुशांत इस कब्रनुमा बॉक्स में अपने अवॉर्ड रखते थे।

सुशांत की बात सुनकर सोच में पड़ गए थे राम नरेश

राम नरेश ने हैरान होकर पूछा कि घर पर कब्र क्यों है। इस पर सुशांत ने जो जवाब दिया उससे वह दंग रह गए। सुशांत ने बताया, यह कब्र इसलिए है कि शोहरत कभी मेरे सिर पर न चढ़े। वह अपने अवॉर्ड्स, अचीवमेंट् सब उसी कब्रनुमा बॉक्स में डालते जाते थे। राम नरेश बताते हैं कि वह इस चीज से बहुत प्रभावित हुए और सोच में पड़ गए कि ये कैसा इंसान है।

दुनिया है सुशांत के साथ

राम नरेश ने बताया कि इससे सीखा कि अच्छे कर्म ही साथ जाते हैं। ये अवॉर्ड वगैरह सब टेम्पररी है। ये बात सामने है कि दुनियाभर के लोग सुशांत के साथ खड़े हैं। वर्ना मरते तो बहुत लोग हैं दुनिया में।

लूडो के शौकीन थे सुशांत

राम नरेश ने सुशांत का एक और किस्सा बताया। वह बताते हैं, एक बार सुशांत ने सुबह-सुबह फोन करके बुलाया कि आधा घंटा है जल्दी आओ। वह जब घर पहुंचे तो सुशांत से पूछा कि क्या बात है जो सुबह-सुबह बुलाया। इस पर सुशांत बोले कि कुछ नहीं लूडो खेलेंगे। इस पर राम नरेश हैरान रह गए कि लूडो खेलने के लिए कोई ऐसे बुलाता है क्या। इस पर सुशांत बोले लाइफ है मजे करो, ज्यादा लोड नहीं लेना है।

नहीं था जरा भी ईगो

राम नरेश ने एक और साथी अंकित त्रिपाठी की बात बताई जिन्होंने फिल्म के दौरान डायरेक्शन में काम किया था। अंकित ने बताया कि उनके पास एक हूडी था जिसमें नासा लिखा था। सुशांत ने उनसे वो हूडी मांग लिया और कहा कि मुझे गिफ्ट कर दो। राम नरेश बोलते हैं कि वह एक स्टार आदमी किसी के साथ भी खा लेता था, कुछ भी मांग लेता था। कोई ईगो या स्टारडम नहीं था उसके अंदर। वह बोलते हैं कि सुशांत के जो लोग फैन नहीं भी थे वो भी आज उनके फैन हैं।

सुशांत के किस्से राम नरेश की जुबानी





Source link

Previous Article
Next Article

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *