सुशांत सिंह राजपूत के बारे में बोले सिद्धार्थ गुप्ता- उनके आखिरी मेसेज से लगा था कि कुछ तो गड़बड़ है

Spread the love


बॉलिवुड ऐक्टर सुशांत सिंह राजपूत के निधन को 5 महीने से ऊपर हो चुके हैं लेकिन अभी तक उनके फ्रेंड्स, फैन्स और परिवार के लोग उन्हें भूले नहीं हैं और उनके बारे में अपनी यादें सोशल मीडिया पर शेयर करते रहते हैं। सुशांत के ऐसे ही एक नजदीकी दोस्त प्रड्यूसर विकास गुप्ता के छोटे भाई सिद्धार्थ गुप्ता भी थे। सिद्धार्थ लंबे समय तक सुशांत के साथ रहे थे। सिद्धार्थ भी सोशल मीडिया पर सुशांत से जुड़ी यादें साझा करते रहते हैं। हाल में सिद्धार्थ ने सुशांत से जुड़ी ऐसी बातें शेयर कीं जिनके बारे में कम ही लोग जानते हैं।

‘सुशांत इंसान नहीं एक आइडिया थे’
‘पिंकविला’ से हुई बातचीत में सिद्धार्थ ने बताया कि वह खुशनसीब थे कि सुशांत के साथ उन्होंने इतना वक्त बिताया। उन्होंने कहा, ‘मुझे लगता है कि सुशांत एक व्यक्ति नहीं बल्कि एक आइडिया हैं जो हमेशा रहेंगे। बहुत से लोग उन्हें समझ नहीं पाए लेकिन वह जो सोचते थे, जिन चीजों के बारे में सोचते थे और लोगों को जिस तरह प्यार देते थे उस पर आप शक नहीं कर सकते।।’ सिद्धार्थ ने कहा कि सुशांत के कारण ही वह अपने निगेटिव फेस से निकलने में कामयाब हो सके थे।


‘बॉलिवुड में कभी फिट नहीं हो सके सुशांत’
सुशांत सिंह राजपूत के बारे में बात करते हुए सिद्धार्थ ने आगे कहा, ‘मुझे हमेशा ऐसा लगता है कि सुशांत कभी फिट नहीं हो सके और शायद वह ऐसा चाहते भी नहीं थे। वह हमेशा कहते थे कि वह जिंदगी में कुछ बिल्कुल नया और फ्रेश करना चाहते हैं।’ सिद्धार्थ ने कहा कि सुशांत को समझना बहुत कठिन था क्योंकि जब उनकी फिल्में बहुत अच्छी चलती थीं तब भी वह कभी-कभी निराश हो जाया करते थे और इससे उलट जब उनकी फिल्में कई बार फ्लॉप भी हो जाती थीं तो वह हम लोगों के साथ बिना चिंता किए हुए पार्टी करते थे।


सुशांत के आखिरी मेसेज के बारे में सिद्धार्थ ने बताया
इस इंटरव्यू में सिद्धार्थ ने खुद के लिए सुशांत के भेजे आखिरी मेसेज के बारे में भी बात की। सिद्धार्थ ने कहा कि उन्हें अफसोस है कि उनका आखिरी वक्त में सुशांत से संपर्क टूट गया था मगर सुशांत उनसे मिलना चाहते थे। उन्होंने बताया कि सुशांत कॉमन फ्रेंड कुशल जावेरी के जरिए सिद्धार्थ की खैर-खबर रखते थे। उन्होंने कहा, ‘जब सुशांत का आखिरी मेसेज आया तो मुझे लग गया था कि कुछ तो गड़बड़ है क्योंकि सुशांत कभी ऐसे नहीं थे। इस मेसेज के जवाब में कुशल ने सुशांत को मेसेज भेजा था कि जल्द ही मिलते हैं। मैं सुशांत के पर्सनल स्पेस में नहीं आना चाहता था लेकिन उनसे मिलना चाहता था। मेरे पास सुशांत का नया नंबर भी नहीं था। हमें नहीं पता था कि सुशांत की हालत उस समय कैसी थी और हम ऐसा सोच भी नहीं सकते थे कि कुछ इतना बुरा हो जाएगा।’





Source link

Previous Article
Next Article

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *