हाथरस न्यूजः पीड़िता के तीन वीडियो आए सामने, तीनों में उसने कहा हुई ‘जबरदस्ती’, विरोध करने पर दबाया गला

Spread the love


हाइलाइट्स:

  • हाथरस कांड के बाद पीड़िता के तीन वीडियो आए थे सामने
  • थाने के बाहर, जिला अस्पताल और मेडिकल कॉलेज अलीगढ़ में बनाए गए थे तीन वीडियो
  • तीनों में पीड़िता ने कहा, उसके साथ की गई जबरदस्ती, विरोध पर दबाया गला
  • 15 दिनों तक जिंदगी और मौत के बीच झूलने के बाद दिल्ली के सफदरगंज में हुई थी पीड़िता की मौत

हाथरस
हाथरस कांड में पीड़िता ने मरने से पहले कम से कम तीन बार कहा था कि उसके साथ बलात्कार हुआ था। घटना के बाद के उसके तीन वीडियो हैं जिनमें वह ‘जबरदस्ती’ शब्द का प्रयोग कर रही है। तीनों वीडियो में वह अपने साथ हुई खौफनाख वारदात को बताती नजर आ रही है। वह बता रही है कि कैसे आरोपियों ने उसके साथ पहले भी रेप करने का प्रयास किया था।

14 सितंबर को शूट किए गए 48 सेकंड के पहले वीडियो में, वह चांपा थाने के बाहर फर्श पर लेटी हुई है, उसके शरीर में मक्खियां मंडरा रही हैं और चींटियां रेंग रही हैं। वह कह रही है, ‘उन्होंने मुझे गला घोंट दिया।’ एक आदमी पूछता है क्यों? वह झिझकती है। फिर से पूछा, वह जवाब देती है, ‘मैंने उन्हें अपने ऊपर जबरदस्ती करने नहीं दी।’ वह आदमी फिर पूछता है, ‘उन्होंने तुम्हारा गला क्यों घोंटा?’ वह दोहराती है, ‘क्योंकि मैंने विरोध किया।’ यह पूछे जाने पर कि क्या उसे कोई अन्य चोट है, वह अपनी जीभ बाहर निकालती है, जिसमें कई घाव थे।

हाथरस केस: पीड़ित परिवार ने हाई कोर्ट में कहा- बिना सहमति के हुआ अंतिम संस्कार

जिला अस्पताल में बनाया गया दूसरा वीडियो
46 सेकंड के दूसरे वीडियो को उसी दिन हाथरस के जिला अस्पताल में शूट किया गया था। पीड़िता को घटना के बाद पहले वहीं ले जाया गया था। बिस्तर पर लेटी पीड़िता से एक पत्रकार ने पूछा, उसे चोट किसने दी? वह जवाब देती है ‘संदीप’। ‘जुबान’। उसे शरीर में जहां घाव लगे थे वह बताने का प्रयास करती है। उससे फिर पूछा जाता है, क्यों? उसने जवाब दिया, ‘कोई बात नहीं।’ ‘मैं चारा लेने गई थी। उसने मुझे अंदर खींच लिया। मेरे साथ जबरदस्ती करने की कोशिश की। जब मैंने विरोध किया, तो उसने मेरा गला घोंट दिया।’ आदमी उससे पूछता है, ‘क्या कोई रंजिश चल रही है (क्या झगड़ा है)?’ वह जवाब देती है, ‘हां’

अलीगढ़ के जेएनएम कॉलेज में 22 सितंबर को दिया तीसरी बार बयान
तीसरा बयान उसने 22 सितंबर को पुलिस को दिया था। वह अलीगढ़ के जवाहरलाल नेहरू मेडिकल कॉलेज में भर्ती थी। उसके चेहरे पर ऑक्सिजन मास्क लगा था। वीडियो में लड़की फिर से वही कहती है, जो उसके साथ हुआ। वह कहती है, ‘मेरे साथ बलात्कार किया गया था। रवि और संदीप एक साथ थे… उन्होंने एक महीने पहले मेरे साथ बलात्कार करने की कोशिश की थी, लेकिन मैं भाग गई थी। लेकिन उस दिन, मेरे साथ बलात्कार किया गया। दोनों ने मेरे साथ बलात्कार किया, बाकी भाग गए जब उन्होंने मेरी मां को देखा। मुझे थोड़ा होश था।’

हैवानों से बचती बचाती 3 दिन में 200 किमी पैदल चल दिल्ली से हाथरस पहुंची 17 साल की युवती

दबाव में बयान की बात नकारी
जब उनसे पूछा गया कि क्या उन पर यह कहने के लिए दबाव डाला गया है कि उनके साथ बलात्कार हुआ है, तो वह कहती है। ‘कोई दबाव नहीं है। वह लोग ऐसे ही हैं।… उसे बख्शा नहीं जाना चाहिए, वह फिर से ऐसा कर सकता है। वह मुझे धमकी देता है, गोली से उड़ा दूंगा।’

मां ने बताई पूरी घटना
वीडियो की शुरुआत में पीड़िता की मां बताती हैं, ‘वह खेतों में पड़ी थी। उसकी सलवार उतरा था। उसकी जीभ कटी थी। वहां पांच लोग थे, मैंने सिर्फ तीन को देखा। मैं भी खेतों में थोड़ी दूर पर थी। वह मेरी नजरों से थोड़ी दूर थी।’ जब उनसे पूछा गया कि क्यां उन्होंने बेटी को खींचकर ले जाते हुए आरोपियों को देखा तो वह कहती है, ‘जब मैं उसे (बेटी को) अपने पास में नहीं देखा तो उसे ढूंढना शुरू किया। मैंने तीन लोगों को वहां से भागते देखा। उनमें से एक संदीप था जिसने मेरी बेटी का गला दबाया। वहां रवि और एक और आदमी थी।’

हाथरस का सच आखिर है क्या? कोर्ट से आरोपियों की कस्टडी मांगेगी CBI, पर यह है….

पुलिस अधिकारी बोले, सीबीआई कर रही जांच
इस मामले में पूछे जाने पर पुलिस अधिकारियों का कहा है कि अब सीबीआई केस की जांच कर रही है और अब यह उनकी जांच का हिस्सा है। उन्होंने कहा कि इस केस में हर ऐंगल की जांच हो रही है। पहली एफआईआर लिखित शिकायत के आधार पर दर्ज की गई थी। 22 सितंबर को लड़की का विस्तृत बयान आया उसके बाद रेप की धाराएं जोड़ी गईं और अन्य तीन लोगों को गिरफ्तार किया गया।



Source link

Previous Article
Next Article

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *